BREAKING NEWS

तीन कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन का एक साल पूरा होने पर दिल्ली की सीमाओं पर हजारों किसान हुए एकत्र◾अचानक से राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के AIIMS में भर्ती◾संविधान के लिए समर्पित सरकार, विकास में भेद नहीं करती और ये हमने करके दिखाया: PM मोदी ◾संसद सत्र के पहले दिन कांग्रेस ने बुलाई विपक्षी नेताओं की बैठक, सरकार को घेरने की होगी तैयारी ◾ प्रयागराज हत्याकांडः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात ◾केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय का बड़ा इलान, देश में 15 दिसंबर से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिर से होगीं शुरू◾छह दिसंबर को भारत आयेंगे रूसी राष्ट्रपति पुतिन, पीएम मोदी के साथ करेंगे शिखर बैठक◾दिल्ली सरकार का सिख समुदाय को तोहफा, CM तीर्थयात्रा योजना में करतारपुर साहिब को किया शामिल ◾मध्य प्रदेश: मुरैना के नजदीक उधमपुर-दुर्ग एक्सप्रेस ट्रेन में लगी भयानक आग, चार कोच धू-धू कर जले◾दक्षिण अफ्रीका से निकले कोरोना के नए वैरियंट से दहशत में आयी दुनिया, कड़ी पाबंदियां लगनी शुरू ◾अखिलेश ने योगी की चुटकी ली, कहा-बाबा को लैपटॉप चलाना नहीं आता इसलिए टैबलेट दे रहे हैं ◾26/11 आतंकी हमले की बरसी पर बोले राहुल - शहीदों के बलिदान को जानो, साहस को पहचानो◾महाराष्ट्र में मार्च तक बनेगी BJP की सरकार! केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के दावे से मचा बवाल ◾संविधान दिवस: कांग्रेस का मोदी सरकार पर प्रहार, कहा- आयोजन में नहीं किया शामिल, दर्शक बनना स्वीकार नहीं ◾पूर्व ACP का दावा - परमबीर सिंह के पास था आतंकी कसाब का फोन, पेश करने के बजाय किया नष्ट◾संविधान दिवस पर विपक्ष ने किया सेंट्रल हॉल कार्यक्रम का बहिष्कार, जानिए राजनितिक दलों ने क्या बताई वजह ◾जबरन वसूली मामला : जांच के सिलसिले में ठाणे पुलिस के समक्ष पेश हुए परमबीर सिंह ◾PM मोदी ने परिवारवाद पर कसा तंज, कहा- लोकतांत्रिक चरित्र खो चुकी पार्टियां नहीं कर सकती लोकतंत्र की रक्षा ◾बसपा प्रमुख मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों पर साधा निशाना, कहा कोई नहीं कर रहा है संविधान का पालन ◾किसान आंदोलन की वर्षगांठ पर हमलावर हुई प्रियंका, कहा- BJP के अहंकार के लिए जाना जाएगा ये सत्याग्रह ◾

लगातार जारी है प्रकृति का कहर, गृह मंत्री अमित शाह आज करेंगे उत्तराखंड में प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा

उत्तराखंड में प्रकृति बरपा रही कहर, लगातार हो रही भारी बारिश और भूसंख्लन जैसी घटनाओं के कारण जन-जीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो चुका है। वहीं कई इलाके ऐसे भी हैं जहां बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं, राज्य में अब तक 52 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उत्तराखंड दौरे पर हैं। वो बुधवार को देर रात ही यहां पहुंचे थे और आज वह बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे, इसके बाद एक बैठक भी करेंगे और फिर दोपहर में ही दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

उत्तराखंड का हवाई दौरा करेंगे गृह मंत्री अमित शाह 

जानकारी के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सुबह 9 बजकर 45 मिनट से 11:30 बजे तक सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हेलीकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करेंगे। इसके बाद 11 बजकर 45 मिनट से 12 बजकर 45 मिनट तक जॉलीग्रांट एयरपोर्ट स्थित गेस्ट हाउस में एक बैठक में हिस्सा लेंगे, इसके बाद दोपहर 1 बजे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। बता दें कि बीते 17 और 18 अक्टूबर को आई मूसलाधार बारिश ने उत्तराखंड के कई जिलों में तबाही मचा दी। 

उत्तराखंड का सबसे प्रभावित क्षेत्र बना हुआ है नैनीताल 

प्रभावित इलाकों में अब युद्धस्तर पर बचाव और राहत कार्य चलाया जा रहा है। सेना के तीन हेलीकॉप्टर भी इस मिशन में जुटे हुए हैं। साथ ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ग्राउण्ड जीरो पर उतर कर बचाव और राहत कार्य की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र उत्तराखंड का सबसे बड़ा पर्यटन केंद्र 'नैनीताल' है। अकेले नैनीताल में 28 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग अभी भी लापता हैं। 

तूफान के बाद 52 व्यक्तियों के शव हुए बरामद, कई लोग अब भी लापता 

बरसात के कारण 46 घर ध्वस्त हो गए। बारिश, भूस्खलन और तूफान के बाद जहां 52 व्यक्तियों के शव बरामद किए जा चुके हैं वही 5 व्यक्ति अभी भी लापता हैं। उत्तराखंड के कई अन्य स्थानों पर पर्यटकों के भी फंसे होने की सूचना है। पर्यटकों को सुरक्षित निकालने के लिए जिला अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

मार्ग खुलने पर तीर्थयात्रियों के लिए फिर शुरू हो जाएगी 4 धाम यात्रा 

वहीं, मौसम साफ होते ही चारधाम यात्रा को शुरू कर दिया गया है, मार्ग खुलने पर तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ धाम भेजा जायेगा। जिला प्रशासन द्वारा कार्य जारी है। फिलहाल बारिश रूक गयी है। बुधवार को मुख्यमंत्री प्रभावित क्षेत्रों के लिए निकले लेकिन हल्द्वानी में उनका हेलीकॉप्टर टेक ऑफ नहीं हो पाया। इसके बाद मुख्यमंत्री सड़क मार्ग से निकले। रुद्रपुर, काशीपुर, हल्द्वानी व आसपास के तमाम क्षेत्रों का उन्होंने सघन भ्रमण किया। उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक अभी तक अकेले नैनीताल जिले में बारिश एवं तूफान से 28 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है।