BREAKING NEWS

Maharashtra News: कोश्यारी, CM एकनाथ शिंदे समेत कई नेताओं ने डॉ आंबेडकर की पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि ◾महापरिनिर्वाण दिवस पर PM मोदी और राष्ट्रपति मुर्मू ने संविधान निर्माता बीआर आंबेडकर को दी श्रद्धांजलि ◾ बाबरी विध्वंस की बरसी आज, हिंदू संगठनों के कार्यक्रम पर लगी रोक◾मथुरा : श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर हनुमान चालीसा के पाठ का आह्वान, प्रशासन ने बढ़ाई सुरक्षा◾सुखजिंदर रंधावा बने राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी, अजय माकन का इस्तीफा स्वीकार◾संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर केंद्र सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कल से शुरू होगा सत्र◾गुजरात के खेड़ा में मुस्लिम वोटर्स ने मतदान का ही बहिष्कार कर डाला◾आज का राशिफल (06 दिसंबर 2022)◾संसदीय पैनल ने RBI गवर्नर के लिए की 6 वर्ष के कार्यकाल की सिफारिश, जाने क्या कहती है रिपोर्ट ◾UP : हिन्दू महासभा ने की शाही ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा ◾दुनिया में एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरा है भारत : प्रधानमंत्री मोदी ◾PFI पोस्टर मामला : CM बोम्मई बोले- दोषियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई, भ्रम पैदा करना सही नहीं ◾गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में हुआ 58 प्रतिशत से अधिक मतदान, अधिकारियों ने दी जानकारी ◾J&K : उमर अब्दुल्ला बोले - लोगों को अंधेरे में नहीं रख रही नेकां, मेरा दिल कहता है बहाल होगा अनुच्छेद 370 ◾सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- पंजाब में शराब, ड्रग्स पर रोक न लगने से खत्म हो जाएंगे युवा◾Himachal Pradesh: किसका होगा हिमाचल! Exit Polls के मुताबिक- पहाड़ों में फिर खिलेगा 'कमल' ◾सुप्रीम कोर्ट की सलाह: दुनिया बदल गई, CBI को भी बदलना चाहिए, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली हाई कोर्ट ने राघव बहल के खिलाफ धनशोधन की जांच पर रोक लगाने से किया इनकार ◾बिहार की सियासत में कांग्रेस की बढ़ी दिलचस्पी, अखिलेश प्रसाद सिंह राज्य इकाई के अध्यक्ष नियुक्त◾European Union: एयरलाइन यात्रियों के लिए खुशखबरी, जल्द अपने फोन में 5जी सर्विस का उठा पाएंगे लाभ ◾

हैदराबाद काण्ड के हत्यारों को तत्काल फांसी नहीं दे सकते : तेलंगाना के मंत्री

हैदराबाद : तेलंगाना के मंत्री के टी रामा राव ने गुरुवार को कहा कि वह उन लोगों की भावनाओं को समझते हैं जो महिला पशु चिकित्सक की जघन्य हत्या के चार आरोपियों को तत्काल दंड देने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार में रहते हुए वह (राव) ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि तंत्र इस तरह से काम नहीं करता। 

उन्होंने मुंबई में हुए आतंकी हमले का हवाला देते हुए कहा कि उस मामले में भी मौत की सजा देने में समय लगा था। उन्होंने यहाँ एक आयोजन में कहा कि वह भी भारत के अन्य लोगों की तरह चाहते हैं कि चारों आरोपियों को मौत की सजा मिले लेकिन दुर्भाग्य से सरकार में रहते हुए वे ऐसा नहीं कर सकते। 

उन्होंने कहा कि वे आरोपियों को जनता के सामने फांसी देने या गोली मारने को नहीं कह सकते क्योंकि व्यवस्था और तंत्र इस प्रकार काम नहीं करता। राव ने कहा कि कानूनी तौर पर ऐसा करने के लिए बहुत सी बाधाओं को पार करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली के निर्भया कांड में दोषियों को मिली मौत की सजा पर अमल होना अभी बाकी है।