BREAKING NEWS

Today's Corona Update : नए मरीजों की संख्या से ज्यादा रिकवरी रेट, एक्टिव केस में भी दर्ज हुई गिरावट◾World Corona Update : नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण का कहर, वैश्विक स्तर पर 36.18 करोड़ हुआ आंकड़ा ◾पंजाब चुनाव : राहुल प्रचार अभियान का फूंकने बिगुल, 117 उम्मीदवारों संग स्वर्ण मंदिर में टेकेंगे मत्था ◾UP विधानसभा चुनाव : प्रचार के लिए आज मैदान में उतरेंगे BJP के दिग्गज, घर-घर देंगे दस्तक◾उत्तराखंड : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय थाम सकते हैं BJP का दामन◾UP चुनाव : CM योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को बिजनौर में करेंगे जनसंपर्क◾उप्र चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीसरी सूची में 89 और उम्मीदवार घोषित किए, महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट◾गृह मंत्री अमित शाह ने की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट नेताओं के साथ बैठक, ये है भाजपा का प्लान ◾उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले : ‘अपनी संपत्ति’ को नष्ट न करें, शिकायतों का करेंगे समाधान ◾गोवा चुनाव 2022: BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, जानें किसे कहा से मिला टिकट◾बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव◾गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में वायुसेना की झांकी का हिस्सा बनीं देश की पहली महिला राफेल विमान पायलट◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में होवित्जर तोप से लेकर वॉरफेयर की दिखी झलक, राजपथ बना शक्तिपथ◾गणतंत्र दिवस समारोह: PM मोदी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुरी स्टोल में आए नजर, दिया ये संकेत◾यूपी: रायबरेली में जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 लोगों की हालत नाजुक◾RPN सिंह के भाजपा में शामिल होने पर शशि थरूर का कटाक्ष, बोले- छोड़कर जा रहे हैं घर अपना, उधर भी सब अपने हैं◾दिल्ली में ठंड का कहर जारी, फिलहाल बारिश होने के आसार नहीं: आईएमडी◾RRB-NTPC Exam: परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने भर्ती परीक्षा पर लगाई रोक, जांच के लिए बनाई समिति◾

कहना मुश्किल है कि कोरोना की तीसरी वेव कब तक दस्तक देगी, संभावित खतरे से निपटने की तैयारी जारी: मांडविया

देश में भयावह कोरोना वायरस महामारी का आतंक भले ही कम हो रहा है, लेकिन अभी भी इसका प्रकोप टला नहीं है। ऐसे में देश के लोगों को संभलकर रहने की सख्त जरूरत है, तो वहीं दूसरी तरफ इस महामारी को मात देने के लिए देश में टीकाकरण की रफ्तार को तेज किया जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने आज कहा कि यह पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि देश में कोरोना की तीसरी लहर कब तक आएगी।
अपने गृह राज्य गुजरात के दौरे पर आए मांडविया ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से कहा कि कोरोना की तीसरी लहर कब आएगी यह कहना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि पर ऐसी किसी भी सम्भावित स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयारी की गयी है। सरकार इसके लिए अस्पतालों में पर्याप्त बेड और दवाओं आदि की आपूर्ति सुनिश्चित करेगी।
मांडविया ने गुजरात में कोरोना टीकाकरण की गति पर संतोष जताया और कहा कि आज कल प्रति दिन क़रीब पांच लाख डोत्र दिए जा रहे हैं। कुल टीकाकरण का आंकड़ चार करोड़ के पार पहुंच गया है। ज्ञातव्य है कि मांडविया सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जन आशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम के सिलसिले में कल गुजरात आए थे।

इसके साथ, दूसरी तरफ, भारत में कोरोना वायरस महामारी के दैनिक मामले भले ही 30 हज़ार से ज्यादा दर्ज हो रहे हो, लेकिन राहत की बात यह है कि देश में एक्टिव केस की संख्या 150 दिनों में सबसे कम दर्ज हुई है। पिछले 24 घंटो में कोरोना वायरस के 36 हज़ार 571 नए मामले सामने आये हैं, वहीं एक्टिव केस की संख्या 3,23,58,829 पर पहुंच गयी जो 150 दिनों में सबसे कम है। इसके साथ ही रिकवरी रेट में भी इजाफा हुआ है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, 540 और लोगों के जान जाने से मृतकों की संख्या 4,33,589 पर पहुंच गयी। एक्टिव केस में कमी दर्ज होने के बाद इलाजरत मरीजों की संख्या 3,63,605 हो गयी जो 150 दिनों में सबसे कम है तथा संक्रमण के कुल मामलों का 1.12 प्रतिशत है जो मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है।

आंकड़ों के मुताबिक, 24 घंटों में कोविड-19 का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में 524 की कमी आयी है। कोविड-19 का पता लगाने के लिए गुरुवार को 18,86,271 सैंपल्स की जांच की गयी और इसी के साथ ही अब तक जांच किए गए सैंपल्स की संख्या 50,26,99,702 पर पहुंच गई है।

संक्रमण की दैनिक दर 1.94 प्रतिशत दर्ज की गयी। पिछले 25 दिनों में यह तीन प्रतिशत से कम है। साप्ताहिक संक्रमण दर 1.93 प्रतिशत दर्ज की गयी। पिछले 56 दिनों से यह तीन प्रतिशत से कम है। इस बीमारी से उबरने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 3,15,61,635 हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है।