BREAKING NEWS

PM मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच फोन पर हुई बात, ट्रंप ने मोदी को G-7 सम्मेलन में शामिल होने का दिया न्योता◾चक्रवात निसर्ग : राहुल गांधी बोले- महाराष्ट्र और गुजरात के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,287 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 72 हजार के पार ◾वित्त मंत्रालय में कोरोना वायरस ने दी दस्तक, मंत्रालय के 4 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव ◾कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच, सरकार ने कहा- भारत महामारी से लड़ाई के मामले में अन्य देशों से बेहतर स्थिति में ◾जेसिका लाल हत्याकांड : उपराज्यपाल की अनुमति पर समय से पहले रिहा हुआ आरोपी मनु शर्मा ◾बाढ़ से घिरे असम के 3 जिलों में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत, कई अन्य हुए घायल◾दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी का हुआ पत्ता साफ, आदेश गुप्ता को सौंपा गया कार्यभार◾दिल्ली हिंसा मामले में ताहिर हुसैन समेत 15 के खिलाफ दायर हुई चार्जशीट◾Covid-19 : अब घर बैठे मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड की जानकारी, CM केजरीवाल ने लॉन्च किया ऐप◾कारोबारियों से बोले PM मोदी-देश को आत्मनिर्भर बनाने का लें संकल्प, सरकार आपके साथ खड़ी है◾ ‘बीएए3’ रेटिंग को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अभी तो स्थिति ज्यादा खराब होगी ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर तंज, कहा- 6 साल का बदलाव, मूडीज का डाउनग्रेड अब कहां गए मोदी जी?◾महाराष्ट्र और गुजरात में 'निसर्ग' चक्रवात का खतरा, राज्यों में जारी किया गया अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से 5598 लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 लाख के करीब ◾Covid-19 : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों की संख्या 62 लाख के पार पहुंची ◾डॉक्टर ने की जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पुष्टि, कहा- गर्दन पर दबाव बनाने के कारण रुकी दिल की गति◾अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, मरीजों की आंकड़ा 18 लाख के पार हुआ ◾भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

झारखंड चुनाव में कसौटी पर होगी JDU-भाजपा दोस्ती!

जनता दल (युनाइटेड) बिहार में भले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मदद से सरकार चला रहा हो, मगर दोनों दलों की दोस्ती झारखंड में इसी साल होने वाले चुनाव में कसौटी पर होगी। जद (यू) अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर यह संकेत दे चुका है कि झारखंड विधानसभा चुनाव के रण में वह भाजपा के साथ नहीं, बल्कि सामने होगा। ऐसा नहीं कि बिहार में भाजपा और जद (यू) की दोस्ती सहज है। यहां भी कई मुद्दों पर भाजपा और जद (यू) के नेता आमने-सामने आते रहे हैं। 

झारखंड विधानसभा चुनाव में हालांकि जद (यू) के नेता जिस तरह से भाजपा सरकार को लेकर आक्रामक हैं, उससे यह तय है कि इस दोस्ती की डगर आसान नहीं है। झारखंड विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे जद (यू) के नेता कभी भाजपा की रघुवर सरकार को भ्रष्ट कह रहे हैं, तो कभी शराबबंदी को लेकर भाजपा सरकार की घेराबंदी कर रहे हैं। वैसे, सबसे दिलचस्प बात है कि भाजपा अब तक जद (यू) के खिलाफ आक्रामक नहीं हुई है। परंतु जद (यू) के तेवर भाजपा के नेताओं को कितने दिन ऐसे रोक पाते हैं, यह देखने वाली बात होगी। 

भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर कहते हैं कि जद (यू) झारखंड में भाजपा से अलग हैं। वह क्या बोल रही है और क्या कर रही है, यह उसका मामला है। उन्होंने कहा कि बिहार में जद (यू) भले ही भाजपा के साथ है, इसका मतलब यह नहीं कि उसके साथ हर राज्य में गठबंधन हो। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि अभी चुनाव में देर है, जो भी दल भाजपा के साथ गठबंधन करना चाहेंगे, वह भाजपा नेतृत्व तय करेगा। 

इधर, जद (यू) के नेता झारखंड में अपनी पहचान बनाने को लेकर बेताब हैं। झारखंड में कई स्थानों पर कार्यकर्ता सम्मेलन कर कार्यकर्ताओं में जोशभर चुकी जद (यू) के महासचिव आर.सी.पी. सिंह कहते हैं कि झारखंड में सबसे अधिक दिन तक भाजपा की सरकार रही है। झारखंड में बिजली, पानी, सड़क, रोजगार जैसी मूलभूत सुविधाएं चौपट हैं। यहां की जनता विकल्प की तलाश में है और हम उनके लिए विकल्प के रूप में यहां आए हैं। 

जद (यू) को झारखंड में नई धार देने को लेकर भाजपा पर आक्रामक जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने आईएएनएस से तल्ख अंदाज में कहा कि जद (यू) भाजपा पर निर्भर नहीं है। उन्होंने नीतीश कुमार और रघुवर दास की तुलना करते हुए कहा कि नीतीश जहां बिहार में शराबबंदी कर लोगों को शराबमुक्त बनाने पर जोर दे रहे हैं, वहीं झारखंड की सरकार जगह-जगह शराब की दुकान खुलवाने पर आमादा है। 

उन्होंने कहा कि झारखंड में विकास के नाम पर लूट मची हुई है, भ्रष्टाचार की गंगा बह रही है। वैसे, जद (यू) के सूत्रों का कहना है कि इस विधानसभा चुनाव में उसे भले ही एक भी सीट न मिले, लेकिन भविष्य के चुनावों की राह यहां से खुल जाएगी। सूत्रों का दावा है कि जद (यू) झारखंड चुनाव में झारखंड विकास मोर्चा, वामपंथी दलों और भाजपा-विरोधी छोटे दलों से समझौता कर सकती है। भाजपा के नेता जद (यू) के ऐसे बयानों से असहज जरूर हैं।

भाजपा के एक नेता का कहना है, "अभी चुनाव में देर है। वक्त का इंतजार कीजिए, जद (यू) की कितनी क्षमता है, सामने आ जाएगी।" राजनीति के जानकार भी स्पष्ट कहते हैं कि जद (यू) की झारखंड में ऐसी हैसियत नहीं कि उनके बयानों को भाजपा तरजीह दे। झारखंड की राजनीति पर गहरी नजर रखने वाले और झारखंड के वरिष्ठ पत्रकार विजय पाठक ने कहा कि जद (यू) झारखंड में नीतीश कुमार के नाम पर अपनी जमीन तैयार कर रहा है।

झारखंड में जद (यू) की स्थिति ऐसी नहीं है कि भाजपा को नुकसान पहुंचा सके, इस कारण भाजपा के नेता जद (यू) के नेता के बयानों को भी तरजीह नहीं दे रहे। हालांकि पाठक भी मानते हैं कि दोनों दलों की बिहार में 'दोस्ती' है, लेकिन झारखंड में नहीं है। ऐसे में आगे क्या होगा, यह आने वाला समय बताएगा।