BREAKING NEWS

आगामी दिल्ली विधानसभा चुनावों को एक और 'स्वतंत्रता संग्राम' मानें : केजरीवाल ◾अयोध्या मामला : मध्यस्थता समिति ने न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी ◾राहुल गांधी ने कहा- भूख सूचकांक में भारत का लुढ़कना मोदी सरकार की घोर विफलता◾श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जानी जाएगी जम्मू-कश्मीर की चेनानी-नासरी सुरंग : नितिन गडकरी ◾वोट की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल : वेंकैया नायडू ◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- 5 साल में घुसपैठियों को देश से बाहर करेंगे◾देवेन्द्र और नरेन्द्र महाराष्ट्र में विकास के दोहरा इंजन हैं : PM मोदी◾TOP 20 NEWS 16 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई पूरी, SC ने फैसला रखा सुरक्षित ◾PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति आती है नजर ◾अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका का केंद्र पर तंज, कहा-विश्व बैंक के बाद IMF ने भी दिखाया सरकार को आईना◾साक्षी महाराज बोले- 6 दिसंबर से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण◾महाराष्ट्र रैली में PM मोदी ने कहा-राष्ट्र निर्माण का आधार हैं सावरकर के संस्कार◾कपिल सिब्बल का PM पर तंज, बोले- मोदी जी, राजनीति पर कम और बच्चों पर ज्यादा ध्यान दीजिए◾आईएनएक्स मीडिया मामला: तिहाड़ जेल में पूछताछ के बाद ED ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार◾अयोध्या विवाद : CJI गोगोई ने मामले की सुनवाई को आज शाम 5 बजे पूरी करने का दिया निर्देश◾होमगार्ड मामले में मायावती का यूपी सरकार पर वार, बेरोजगारी बढ़ाने का लगाया आरोप◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए 3 आतंकवादी◾होमगार्ड मामले पर प्रियंका का सवाल- योगी सरकार पर कौन सा फितूर है सवार ◾आईएनएक्स मीडिया: चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ED टीम, कार्ति और नलिनी भी मौजूद◾

अन्य राज्य

झारखंड : रघुवर दस ने कहा जल संचयन जरूरी है

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पानी के महत्व का उल्लेख करते हुये आज कहा कि जल का संचयन बेहद जरूरी है। श्री दास ने यहां जलशक्ति अभियान के तहत टीसीबी योजना का निर्माण एवं श्रमदान कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा कि पानी जीवन के लिए जरूरी है। इसकी जरूरत आज सभी कार्य के लिए है। 


सभी को पानी चाहिये लेकिन इसके संचयन के लिए बहुत कम लोग पहल करते हैं। इसका प्रबंधन नहीं होता है, जिससे बरसात का जल व्यर्थ बह जाता है। जल के संचयन की दिशा में सरकार ने पहल करते हुए राज्य में जिला और पंचायत स्तर पर श्रमदान कार्यक्रम का आयोजन कर जल संचयन कार्यक्रम का शुभारंभ कर रही है। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्मी में गांव और शहर में पानी की समस्या से लोग जूझते हैं। यदि बरसात के पानी का संचयन कर लिया जाये तो भूगर्भ जल स्तर में वृद्धि होगी। ऐसा करने से धीरे धीरे जल संकट से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ग्राम विकास समिति को पांच लाख रुपये दे रही है। ग्रामीण योजना बनाकर वर्षा जल को रोकने के लिए निर्माण कार्य कर सकते हैं। इस कार्य में किसी अधिकारी का हस्तक्षेप नहीं होगा। इसमें आपका गांव आपकी योजना की तर्ज पर कार्य होगा।


दास ने कहा कि गांव में खेती की जमीन पर मेढ़ की चौड़ई अधिक देखी जाती। इस पर काष्ठ पेड़ लगाकर आमदनी का जरिया बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जन वन योजना के माध्यम से सरकार इस कार्य के लिए 80 प्रतिशत अनुदान प्रदान कर रही है। लोगों को इस योजना का लाभ लेना चाहिए। 

इस मौके पर मुख्य सचिव डी। के। तिवारी ने कहा कि राज्य में होने वाली बारिश का मात्र छह प्रतिशत जल का संचयन हो पाता है जबकि 94 प्रतिशत जल बह कर कहीं और चला जाता है। 

इस बात की गंभीरता पर सभी को विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि सभी लोग छोटे कार्य से पहल करें तो जल संचयन कर जल की जरूरत को पूरा किया जा सकता है। 

कार्यक्रम में विधायक जीतू चरण राम, अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ। सुनील कुमार वर्णवाल, प्रधान सचिव ग्रामीण विकास विभाग अविनाश कुमार, प्रधान सचिव राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के। के। सोन, रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे, वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता और बड़ संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।