BREAKING NEWS

देश के शीर्ष पुलिस अधिकारियों का वार्षिक सम्मेलन आरंभ : महत्वपूर्ण मुद्दों पर होगी चर्चा ◾PM मोदी और शाह ने आंतरिक स्थिति की समीक्षा की◾Cyclone Burevi : 'निवार' के हफ्तेभर के अंदर चक्रवात बुरेवी मचाने आ रहा तबाही, PM मोदी ने पूरी मदद का दिलाया भरोसा दिलाया◾उप्र : बरेली में लव जिहाद के आरोप में पहली गिरफ्तारी, चार दिन पहले दर्ज हुआ था केस ◾केजरीवाल का खुलासा - स्टेडियमों को जेल बनाने के लिए डाला गया दबाव पर मैंने अपने जमीर की सुनी◾प्रदर्शनकारी किसानों ने केंद्र सरकार से कहा: कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाएं ◾ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिये मस्जिदों में लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर रोक लगाए केन्द्र : शिवसेना◾किसान आंदोलन को लेकर केजरीवाल का निशाना - क्या ईडी के दबाव में हैं पंजाब के CM 'कैप्टन अमरिंदर' ◾कैनबरा वनडे : आखिरी मैच जीत भारत ने बचाई लाज, आस्ट्रेलिया को 13 रनों से दी शिकस्त◾एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक को मिली जमानत, सुशांत केस में ड्रग्स लेन-देन का आरोप◾फिल्म उद्योग को मुंबई से बाहर ले जाने का कोई इरादा नहीं, ये खुली प्रतिस्पर्धा है : योगी आदित्यनाथ ◾राहुल ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार ‘बातचीत का ढकोसला’ बंद करे ◾किसान आंदोलन : राजस्थान में कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध की सुदबुदाहट, सीमा पर जुटने लगे किसान◾ सब्जियों के दामों पर दिखा किसान आंदोलन का असर, बाजारों में रेट बढ़ने के आसार ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾योगी के मुंबई दौरे पर घमासान, मोहसिन रजा बोले - अंडरवर्ल्ड के जरिए बॉलीवुड को धमकाया जा रहा है ◾टकराव के बीच भी इंसानियत की मिसाल, प्रदर्शनकारियों के साथ - साथ पुलिसकर्मियों के लिए भी लंगर सेवा ◾ब्रिटेन ने फाइजर-बायोएनटेक की कोविड वैक्सीन को दी मंजूरी, अगले हफ्ते से शुरू होगा टीकाकरण◾किसान आंदोलन : आगे की रणनीति पर चल रही संगठनों की बैठक, गृह मंत्री के घर पर हाई लेवल मीटिंग ◾किसान आंदोलन को लेकर राहुल का केंद्र पर वार- यह ‘झूठ और सूट-बूट की सरकार’ है◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कमल नाथ का तीखा तंज - भाजपा ने सिंधिया को 'दूल्हा' तो बना दिया, 'दामाद' नहीं बनने देगी

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि ज्येातिरादित्य सिंधिया को भाजपा ने दूल्हा तो बना दिया मगर दामाद नहीं बनने देगी। 

राज्य में हो रहे विधानसभा के उप-चुनाव में बड़ा मलेहरा और अशोकनगर में कांग्रेस उम्मीदवारों के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे कमल नाथ ने बुधवार को सिंधिया के 'टाइगर अभी जिंदा है' के बयान पर तंज कसते हुए कहा 'टाइगर जिंदा है नहीं, अब तो टाइगर शमिंर्दा है'। उन्होंने आगे कहा कि, भाजपा ने सिंधिया को दूल्हा तो बना लिया लेकिन दामाद कभी नहीं बनने देगी। 

शिवराज सिंह चौहान पर हमला करते हुए कमल नाथ ने कहा, आज शिवराज सिंह चौहान अपने 15 साल का और वर्तमान सात माह का हिसाब नहीं दे रहे हैं। रोज झूठ बोल रहे हैं, मुझे लगा था सत्ता से जाने के बाद वे सुधर जाएंगे लेकिन अब तो झूठ बोलने के साथ-साथ उन्होंने एक्टिंग भी शुरू कर दी है। कभी घुटनों के बल बैठ जाएंगे, कभी कहेंगे कि मैं तो झोला लेकर जा रहा हूं। इनकी कलाकारी का कोई मुकाबला नहीं कर सकता है। 

कमल नाथ ने आगे कहा कि शिवराज सिंह चौहान कलाकारी में शाहरुख और सलमान खान को भी पीछे छोड़ देंगे। इन्हें तो झोला टांगकर मुंबई चले जाना चाहिए, कम से कम कलाकारी में तो मध्य प्रदेश का नाम रोशन करेंगे। भाजपा पर सौदेबाजी की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कमल नाथ ने कहा भाजपा ने प्रदेश को देश भर में बिकाऊ राजनीति से कलंकित किया। इनका बस चले तो ये पंचायत का चुनाव भी नहीं कराएं, नगर निगम का चुनाव भी नहीं कराएं, ये तो बोली से ही पार्षद और सरपंच चुन लें। 

मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार बीजेपी में शामिल

भाजपा के शासन काल का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि, 15 वर्ष की सरकार के बाद इन्होंने हमें कैसा प्रदेश सौंपा, जो किसानों की आत्महत्याओं में, महिलाओं पर अत्याचार में, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार में नंबर वन था। कौन सी चुनौतियां हमारे सामने नहीं थी? शिवराज सिंह चौहान से पूछना चाहता हूं कि बताये बुंदेलखंड पैकेज का क्या हुआ? वे जान लें हमारी सरकार आ रही है, हम व्यापम, ई टेंडर की तरह बुंदेलखंड पैकेज की पाई-पाई का भी हिसाब लेंगे। 

अपनी सरकार के सवा साल का हिसाब देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, शिवराज सरकार में प्रदेश में निवेश नहीं आता था क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था। प्रदेश की पहचान माफिया, मिलावटखोरों और भ्रष्टाचार से थी। मैंने किसानों का कर्ज माफ कर, माफियाओं और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चलाकर, 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली देकर, गौशाला बनाकर, कन्या विवाह की राशि बढ़ा कर, किसानों को आधी दर में बिजली देकर, पिछड़े वर्ग को 27 प्रतिषत आरक्षण देकर, क्या कोई पाप-गलती-गुनाह किया? '

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "हां मेने एक गलती जरूर की कि मैंने सौदेबाजी नहीं की, मैं तो मुख्यमंत्री था सौदेबाजी कर सकता था, लेकिन प्रदेश का नाम कलंकित नहीं करना चाहता था, प्रदेश की पहचान बिकाऊ राजनीति के रूप में नहीं बनाना चाहता था। "