BREAKING NEWS

MCD नतीजों को लेकर बोले केजरीवाल- दिल्ली का फैसला देश के लिए सकारात्मक राजनीति करने का संदेश◾Indonesia: इंडोनेशिया में पुलिस थाने के बाहर विस्फोट में एक अधिकारी की मौत, 11 घायल ◾यूपी के गाजीपुर में हैवानियत! प्रेमी जोड़े को गांव के प्रधान ने दी क्रूर सजा, जमकर की पिटाई , फिर चटवाया धूक◾पाकिस्तान से निकले तालिबान ने कर दी, 17 पाकिस्तानी सैनिकों का सिर कलम ◾हिमाचल विश्वविद्यालय में मचा बवाल, लेफ्ट-राइट फिर आमने-सामने, पुलिस ने डाला डेरा ◾केजरीवाल ने MCD में फेरी झाड़ू, CM बोले- दिल्ली को बदलने के लिए PM मोदी के आशीर्वाद की जरूरत ◾Bihar News: एक मुस्लिम और दूसरा हिन्दू बेटा, मां के अंतिम संस्कार को लेकर भाई के बीच हुआ विवाद ◾खुद को पैगम्बर बताने वाले बेटमैन की 20 नाबालिग पत्नियां, बेटी के साथ भी की शादी◾पंजाब: पॉपुलर गायक बब्बू मान से मानसा में पूछताछ हो रही, मारने की मिली थी धमकी, जानें पूरा मामला ◾MCD Election Result: क्या गुजरात-हिमाचल में भी पलटेगी बाजी? दिल्ली में Exit Polls क्यों हुए फेल◾MCD Results: दिल्ली में बड़ा चेहरा न होने से फंसी भाजपा, केजरीवाल के इलाके में किसने मारी बाजी, यहां देखे ◾Kanpur News: BJP नेता को घसीटकर MCD के दफ्तर से बाहर फेंका, जानें पूरा मामला◾राजधानी में 'मेयर' भी केजरीवाल का! जश्न में जुटी 'AAP' पार्टी ने दी BJP को चुनौती- अब बनाकर दिखाओ◾लगेगा ट्रैफिक जाम की समस्या पर लगाम, दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर बनेगी 6 लेन वाली टनल, जानें इसके फायदे ◾MCD ELECTION 2022 : आप ने दर्ज की जीत, भाजपा प्रवक्ता ने CM केजरीवाल के दावे को याद दिलाया ◾Delhi MCD Results: राजधानी में नही चला 'मोदी मंत्र', केजरीवाल की 'झाड़ू' ने 'कमल' को किया साफ◾केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का विवादित बयान, कहा-‘नीतीश कुमार नपुंसकता के शिकार हो गए हैं…’◾ कांग्रेस ने 'BSP' बन किया खेल खराब, पहले से ज्यादा वोट पाकर भी AAP से क्यों पिछड़ी BJP◾MCD में भाजपा शासन का अंत, AAP ने लहराया परचम, CM केजरीवाल का रिएक्शन- अब नए युग की शुरूआत◾ दोस्तों ने युवती को उठाकर तीसरी मंज़िल से नीचे फेंका, PRANK VIDEO VIRAL◾

Karnataka News : पानी के संकट का सामना कर रहे कर्नाटक में जल के बेजा इस्तेमाल पर जुर्माना लगाने का प्रस्ताव

कर्नाटक में पानी की समस्या से जूझ रहे राज्यों में से एक है और वहां का करीब 61 प्रतिशत इलाका सूखा प्रभावित क्षेत्र में आता है। राज्य की जल नीति 2022 में आगाह किया गया है कि आने वाले वक्त में बारिश में कमी आएगी और सूखा प्रभावित क्षेत्र बढ़ेंगे, जो गंभीर चिंता का विषय है।कर्नाटक पिछले दो दशक में 15 वर्षों से अधिक समय तक सूखे से ग्रस्त रहा है। ऐसे में भविष्य में राज्य के लिए हालात और चुनौतीपूर्ण होने की आशंका है, क्योंकि विभिन्न परियोजनाओं के लिए पानी की मांग बढ़ेगी और भूजल का स्तर पहले से ही घट रहा है।

पानी के बेजा इस्तेमाल पर जुर्माना लगाना

जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि चुनौती से निपटने के लिए जल नीति में कई पहलों का जिक्र किया गया है, जिनमें पानी के बेजा इस्तेमाल पर जुर्माना लगाना और भूजल निकालने पर रोक आदि शामिल हैं। इन प्रस्तावों का मकसद जल संसाधन प्रबंधन को मजबूत करना और राज्य के सीमित जल संसाधन का सर्वक्षेष्ठ इस्तेमाल सुनिश्चित करना है।

 जलवायु परिवर्तन अध्ययनों ने संकेत दिया 

राज्य मंत्रिमंडल ने हाल ही में इस नीति को मंजूरी दी है। नीति में कहा गया है, ‘‘कर्नाटक के जलवायु परिवर्तन अध्ययनों ने संकेत दिया है कि राज्य में लंबे समय तक गर्मी रहने और वर्षा बेहद कम होने के आसार हैं। ऐसे में सूखा प्रभावित क्षेत्र बढ़ेगा।’’इसमें कहा गया है, ‘‘खरीफ के मौसम में उत्तर के अधिकतर जिलों में सूखे की घटनाओं में 10 से 80 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है। वहीं, कुछ जिलों में सूखे की घटनाएं लगभग दोगुनी हो सकती हैं। भारी वर्षा के कारण प्रत्येक वर्ष बाढ़ आना सामान्य बात होती जा रही है....।’’

प्रदूषण बढ़ना चिंता का मुख्य विषय 

विभाग ने नीति में कहा, ‘‘राज्य में सिंचाई के लिए भूजल अहम स्रोत है। राज्य में 56 प्रतिशत क्षेत्र में भूजल से सिंचाई होती है। ऐसे में भूजल स्तर का गिरना और इसमें प्रदूषण बढ़ना चिंता का मुख्य विषय है।’’नीति के अनुसार, राज्य सरकार शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू इस्तेमाल के लिए उपयुक्त गुणवत्तापूर्ण पानी की प्रतिदिन 24 घंटे आपूर्ति के लिए पेयजल आपूर्ति कार्यक्रम चलाएगी।