BREAKING NEWS

आज का राशिफल (05 अक्टूबर 2022)◾महंगाई की मार से मिडिल क्लास पस्त! कैसे मनेगी इस बार दिवाली◾प्रशांत किशोर का दावा - नीतीश ने फिर साथ काम करने के लिए बुलाया था, मैंने कर दिया मना◾रूस वर्तमान या भविष्य के यूक्रेनी राष्ट्रपति के साथ बातचीत के लिए तैयार◾साइबर अपराध के खिलाफ CBI का 'ऑपरेशन चक्र' : 18 राज्यों में 105 स्थानों पर छापेमारी◾संसदीय समिति में फेरबदल के चलते कांग्रेस को लगा तगड़ा झटका! ◾दशहरा रैली से होगा फैसला, असली Shiv Sena किसकी ?◾BJP ने बिजली सब्सिडी योजना में भ्रष्टाचार का लगाया आरोप ◾SA vs IND T20 Match : दक्षिण अफ्रीका ने 49 रनों से जीता मैच , 2-1 से सीरीज भारत के नाम◾शिवसेना के दोनों खेमों की दशहरा रैली में भारी भीड़ एकत्र होने का अनुमान , शिंदे और उद्धव गुट ने कसी कमर◾J&K : शोपियां में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़◾जयराम रमेश का तंज, कहा- BJP और TRS एक ही सिक्के के दो पहलू ◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दशहरा की पूर्व संध्या पर देशवासियों को दीं शुभकामनाएं ◾राकेश टिकैत ने यूपी सरकार पर उठाए सवाल, बोले- ट्रैक्टर ट्राली के उपयोग पर पाबंदी, किसान आंदोलन को कमजोर करने की युक्ति◾VHP की मांग, दिल्ली सरकार दशहरा के दौरान हरित पटाखों से हटाए प्रतिबंध ◾Ukraine crisis : पीएम मोदी ने जेलेंस्की से की बात, कहा- यूक्रेन संकट का ‘सैन्य समाधान’ नहीं हो सकता◾Maharashtra: शिवेसना के खेमों की दशहरा रैली के लिए सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम, कई सड़कें यातायात के लिए बंद ◾J&K: अमित शाह की जनसभा के मद्देनजर बुधवार को स्थगित रहेगी बारामूला-बडगाम ट्रेन सेवा◾AAP ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा - मुफ्त बिजली योजना की जांच आप के ‘विजय रथ’ को रोकने का प्रयास◾मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले- जल्दी आ सकता है इस साल राजस्थान का बजट◾

गुजरात के व्यापारियों के लिए की केजरीवाल ने बड़ी घोषणा, कहा- डर का माहौल खत्म करेंगे...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुजरात चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। इस दौरान रविवार को वो गुजरात दौरे पर हैं। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि यदि उनकी पार्टी गुजरात में सत्ता में आती है तो राज्य के आदिवासी क्षेत्रों में संविधान की पांचवीं अनुसूची और पंचायत उपबंध (अनुसूचित क्षेत्रों तक विस्तार) अधिनियम को लागू किया जाएगा।

दरअसल, सत्र के अंत में गुजरात में चुनाव होने हैं और विभिन्न पार्टियां राज्य में अपना-अपना दावा खेल रही हैं। भाजपा मोदी के नाम पर चुनाव लड़ेगी तो वहीं आप का गुजरात में विस्तार करने के लिए केजरीवाल दमखम से प्रयास कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों से खास बातचीत में गुजरात के आदिवासियों को बड़े तौहफे दिए हैं।

आदिवासी सलाहकार समिति का नेतृत्व करेंगे आदिवासीः केजरीवाल 

केजरीवाल ने यह भी गारंटी दी है कि गुजरात की आदिवासी सलाहकार समिति का नेतृत्व मुख्यमंत्री के बजाय समुदाय के एक व्यक्ति द्वारा किया जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने गुजरात के अपने दौरे के दूसरे दिन वड़ोदरा में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही।

केजरीवाल ने गुजरात के व्यापारियों के लिए की घोषणा 

  • डर का माहौल खत्म करेंगे आप चाहें जिस भी दल के हो। 
  • व्यापारियों को इज्जत देंगे, देश में ऐसा माहोल बना दिया है कि व्यापारी चोर होते हैं। 
  • रेड राज को बंद करेंगे, दिल्ली में भी हमने ऐसा किया। अधिकारियों कहने के बाद भरोसा किया। बिना रेड के 30 हजार करोड़ से 75 हजार करोड़ राजस्व हो गया। दिल्ली में डोर स्टेप डिलीवरी शुरू कर भ्रष्टाचार खत्म किया। 1076 पर फोन करने से घर बैठे सारे काम होते हैं। पंजाब में शुरू करेंगे फिर गुजरात में। 
  • वैट एमनेस्टी स्कीम लाई जाएगी, सारे मुकदमे खत्म होंगे। 
  • व्यापारियों की भागीदारी के लिए एक बॉडी बनेगी, आप लोगों की सलाह सरकार मानेगी। 

अन्य पार्टियां चुनावों के समय व्यापारियों को करती हैं यादः केजरीवाल 

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पार्टियां सिर्फ चुनाव के समय व्यापारियों को देखती हैं। क्योंकि चंदा लेना पड़ता है। लेकिन मैं आपके बीच चंदा लेने नहीं आया हूं। मैं गुजरात के विकास में भागीदार बनने आया हूं। अगर गुजरात में हमारी सरकार बनती है तो आप कहेंगे और हम करेंगे, क्योंकि आप समस्या जानते हैं। कार्यालय में बैठे बाबुओं को नहीं। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कहा जाता था कि व्यापारी बीजेपी का वोट बैंक है। लेकिन हमारी सरकार ने किसी को परेशान नहीं किया। आपने यहां जो कहा, मैंने सुना, लेकिन क्या बीजेपी के लोग कभी बैठकर आपकी बात सुनते हैं?

हमें अपनी हिंदी भाषा पर गर्व होना चाहिएः केजरीवाल 

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर गुजरात में हमारी सरकार बनती है तो सीएजी ट्रिब्यूनल बनेगा। एक व्यापारी भाई ने अंग्रेजी में होने की बात कही। हम अभी भी अंग्रेजी ले जा रहे हैं। आजादी के समय हमने कुछ गलत किया था। अब उस गलती को बदलने की जरूरत है। केजरीवाल ने कहा कि अभी मुझे एक दूतावास में बुलाया गया था। मैं अंग्रेजी जानता हूं, लेकिन फिर भी मैंने हिंदी में बोलना चुना, क्योंकि हमें अपनी हिंदी भाषा पर गर्व होना चाहिए।