BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस विशेष : तिरंगे और सिद्धू मूसेवाला की तस्वीर वाली पतंगों की बाजार में मचाई धूम◾जम्मू कश्मीर में आतंकियों की नापाक हरकत, प्रवासी मजदूर की गोली मारकर हत्या ◾देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में नहीं आ रही है कमी, आज फिर 16 हजार से ज्यादा मामलों ने बढ़ाई चिंता◾तृणमूल कांग्रेस का भ्रष्टाचार पर बड़ा बयान, कहा- केंद्रीय एजेंसियां ​​निष्पक्ष नहीं, लेकिन.... ◾आज का राशिफल (12 अगस्त 2022)◾मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾

2017 बीएमसी के चुनाव परिणाम को लेकर केसरकर ने उद्धव शिवसेना पर कसा तंज

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 2017 के मुंबई निकाय चुनाव के बाद शिवसेना को बिना शर्त समर्थन की पेशकश की थी, जबकि उसकी सीटों की संख्या उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी की जीती कुल सीटों से सिर्फ चार कम थी। यह दावा शिवसेना के एक विधायक ने शनिवार को किया।

केसरकर का उद्धव पर कटाक्ष 

एकनाथ शिंदे गुट के प्रवक्ता दीपक केसरकर ने यह भी कहा कि भाजपा ने उस समय यह मांग नहीं की थी कि मुंबई के मेयर या डिप्टी मेयर का पद उसे बारी-बारी से दिया जाए। केसरकर की टिप्पणी को ठाकरे पर परोक्ष रूप से कटाक्ष के रूप में देखा जा रहा है, जिन्होंने आरोप लगाया था कि भाजपा ने महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बारी-बारी बनाने के अपने 2019 के वादे को नहीं निभाया और 2019 के विधानसभा चुनाव के बाद पुराने सहयोगी के साथ संबंध तोड़ लिये।

227 सदस्यीय बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के 2017 के चुनाव को उस समय महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ दोनों पार्टियों ने अलग-अलग लड़ा था। केसरकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘भाजपा ने 2017 के बीएमसी चुनावों के बाद शिवसेना को बिना शर्त समर्थन दिया था, हालांकि भाजपा ने शिवसेना से केवल चार सीटें कम जीती थीं।’’

अगर मैं गलत हुआ तो राजनीति से सन्यांस ले लूंगा 

उन्होंने मांग की कि उद्धव ठाकरे स्पष्ट करें कि उन्होंने पिछले साल दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद भाजपा के साथ हाथ मिलाने पर सहमति जताई थी या नहीं। केसरकर ने एक दिन पहले खुलासा किया था कि ठाकरे पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी के साथ बातचीत के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पद छोड़ने की योजना बना रहे थे। उन्होंने शनिवार को कहा, ‘‘अगर मैं गलत साबित हुआ तो मैं सार्वजनिक जीवन से संन्यास ले लूंगा।’’ केसरकर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उन्होंने केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता नारायण राणे के खिलाफ प्रधानमंत्री मोदी से कोई शिकायत नहीं की है।

एकनाथ शिंदे व उद्धव ठाकरे के बीच तनाव कम करने कोशिश की 

केसरकर ने शुक्रवार को कहा कि सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में भाजपा नेता राणे द्वारा उद्धव ठाकरे के बेटे एवं तत्कालीन कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे का नाम घसीटकर उनकी छवि ‘‘खराब’’ करने के प्रयासों से शिवसेना के कई नेता ‘‘दुखी’’ थे।केसरकर ने यह भी कहा कि उन्होंने एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच तनावपूर्ण संबंधों को सामान्य करने की कोशिश की थी, लेकिन उसका कोई लाभ नहीं हुआ। शिवसेना में बगावत का झंडा बुलंद करने के दस दिन बाद शिंदे ने 30 जून को भाजपा के समर्थन से मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।