लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को बीते कुछ महीनों से धमकी भरे कॉल आ रहे हैं। खड़गे ने बेंगलुरू से करीब 600 किलोमीटर दूर कलबुर्गी में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मैं इस मामले को लोकसभा अध्यक्ष और गृह मंत्री राजनाथ सिंह के संज्ञान में लाया हूं।’’ खड़गे ने 4 जनवरी को दिल्ली के तुगलक रोड़ थाने में शिकायत देकर कहा की तीन जनवरी को उनके निवास के लेंड लाइन नंबर पर किसी अंजान शख्स ने फोन कर धमकी देते हुए कहा कि तुम दलितों के पक्ष में बहुत बोलते हो, जिसका तुम्हें खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

उन्होंने दिल्ली के तुगलक थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। खड़गे ने कहा, ‘लोग सोचते हैं कि वे मुझे शांत कर देंगे या मुझे मेरा काम करने से रोक देंगे। उनको यह पता होना चाहिए कि शायद उसी वक्त मेरी मौत हो जाती जब मैं 6 साल का था और मेरी घर में आग लग गई थी और मेरे माता- पिता एवं दूसरे रिश्तेदारों की मौत हो गई थी। अब मैं 76 साल का हूं और इसलिए इन 70 वर्षों को अतिरिक्त मानता हूं।’ खड़गे का यह खुलासा कर्नाटक की राजनीति में चर्चा का विषय बना हुआ है। 23 फरवरी को ये केस दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को ट्रासंफर किया गया है। फ़िलहाल स्पेशल सेल मामले की जांच कर रही है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।