BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾बलोच, सिंधी और पख्तून समूहों को PM मोदी और डोनाल्ड ट्रंप से मदद की आस◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने ऊर्जा कंपनियों के 17 सीईओ से की वार्ता, अमेरिका से LNG पर करार◾VIDEO : ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से मिले PM मोदी, बोले- जो आपने कष्ट झेला वो कम नहीं है◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने पेश की स्वच्छता की मिसाल, गिरा हुआ फूल खुद उठा कर सबको चौंकाया, देखें VIDEO◾भारतीय अमेरिकी समुदाय ने कहा- PM नरेंद्र मोदी की यात्रा ह्यूस्टन के लिए बड़ी बात◾अयोध्या के विवादित ढांचा को ढहाए जाने के मामले में कल्याण सिह को समन जारी◾‘Howdy Modi’ के लिए ह्यूस्टन तैयार, 50 हजार टिकट बिके ◾‘Howdy Modi’ कार्यक्रम के लिए PM मोदी पहुंचे ह्यूस्टन◾प्रधानमंत्री का ह्यूस्टन दौरा : भारत, अमेरिका ऊर्जा सहयोग बढ़ाएंगे ◾क्या किसी प्रधानमंत्री को ऐसे बोलना चाहिए : पाक को लेकर मोदी के बयान पर पवार ने पूछा◾कश्मीर पर भारत की निंदा करने के लिये पाकिस्तान सबसे ‘अयोग्य’ : थरूर◾राजीव कुमार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज ◾AAP ने अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने में देरी पर ‘धोखा दिवस’ मनाया ◾ शिवसेना, भाजपा को महाराष्ट्र चुनावों में 220 से ज्यादा सीटें जीतने का भरोसा◾आधारहीन है रिहाई के लिए मीरवाइज द्वारा बॉन्ड पर दस्तखत करने की रिपोर्ट : हुर्रियत ◾TOP 20 NEWS 21 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

अन्य राज्य

लव जिहाद : SC ने कहा- 27 नवंबर तक कोर्ट के सामने हादिया को पेश करें पिता

सुप्रीम कोर्ट ने केरल में हिन्दू लड़की और मुस्लिम लड़के के निकाह मामले में अभूतपूर्व आदेश सुनाते हुए अखिला अशोकन उर्फ हादिया को 27 नवम्बर को अदालत में पेश करने को कहा है।  प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने मुस्लिम युवक शफीन जहां की याचिका की सुनवाई के दौरान लड़की के पिता एवं मामले के प्रतिवादी के. एम. अशोकन को आदेश दिया कि वह 27 नवम्बर को अगली सुनवाई के दौरान युवती अखिला अशोकन उर्फ हादिया (धर्म परिवर्तन के बाद) को पेश करें। वहीं इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लड़की की सहमति प्राथमिक है क्योंकि वह बालिग है।

आपको बता दें कि केरल में साल 2016 में एक हिंदू लड़की ने अपने माता-पिता की रजामंदी के बगैर ही एक मुस्लिम लड़के से प्रेम विवाह किया। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में पिता की याचिका पर मामले की जांच एनआईए को सौंप दी थी। केरल हाईकोर्ट ने इस निकाह को रद्द कर दिया था।

क्या है पूरा मामला? 

केरल की अखिला अशोकन ने दिसंबर में एक मुस्लिम शख्स शफीन से निकाह कर लिया था, लेकिन इसके लिए अखिला ने अपना धर्म परिवर्तन किया और अपना नाम हादिया रख लिया। इसके बाद ही मामले ने तूल पकड़ा। केरल हाईकोर्ट ने 25 मई को हिंदू महिला अखिला अशोकन की शादी को रद्द कर दिया था। इन सबके बीच लड़की के परिवार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी जिसमें कहा गया है कि उनकी बेटी का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया है।

याचिका में कहा गया है कि उनकी बेटी का धर्म जबरन बदलवाया और अफगानिस्तान में उसे आईएस में शामिल करने के लिए ऐसा किया गया है। याचिकाकर्ता बिंदू संपथ ने कहा कि उनकी बेटी लव जिहाद के जाल में फंस गई है। उन्होंने कहा कि लड़की अभी कॉलेज में पढ़ रही थी और वह आईएस के शिकंज में फंस गई। वहीं इस मामले की एनआईए ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट में कहा था कि कुछ शादियां जबरन धर्म परिवर्तन कराकर कराई गई थीं। हालांकि एनआईए ने कहा कि वह अखिला उर्फ हादिया से पूछताछ नहीं कर सकी है।