BREAKING NEWS

74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से सातवीं बार पीएम मोदी का संबोधन, जानें बड़ी बातें◾कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम के साथ आयोजित हुआ स्वतंत्रता दिवस समारोह◾लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री का आत्मनिर्भर भारत, लोकल के लिये वोकल का संकल्प लेने का आह्वान ◾74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने ‘नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’ शुरू करने की घोषणा की ◾स्वाधीनता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने ‘राष्ट्रीय इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना’ की घोषणा की ◾74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का नया नारा - मेक इन इंडिया के साथ मेक फार वर्ल्ड ◾लाल किले की प्राचीर से बोले पीएम : संप्रभुता पर आंख उठाने वालों को देश, सेना ने उन्हीं की भाषा में जवाब दिया◾130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से कोरोना वायरस को हराएगा भारत: पीएम मोदी ◾स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सरकार के होंगे 7 खास मेहमान◾चीन को भारत की खरी खरी कहा- सीमा पर बने हालात से तय होगा रिश्तों का भविष्य◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 12 हजार से अधिक नए मामले की पुस्टि, 364 लोगों की मौत ◾देश में अशांति पैदा करने वालों को माकूल जवाब देंगे : राष्ट्रपति ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों की तारीफ की◾कांग्रेस ने सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नई रोशनी लेकर आया है◾चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे◾विधानसभा कार्यवाही के बाद बोले पायलट-पहले मैं सरकार का हिस्सा था, लेकिन अब नहीं◾गृहमंत्री अमित शाह ने कोरोना को दी मात, कोविड टेस्ट रिपोर्ट आई निगेटिव ◾गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मध्यप्रदेश : भाजपा ने चुनाव समिति को भेजी अपने उम्मीदवारों के नामों की सूची

मध्यप्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों पर 26 मार्च को होने वाले चुनाव के लिए दो उम्मीदवारों का चयन करने के लक्ष्य से प्रदेश भाजपा ने पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति को अपने राष्ट्रीय महासचिवों राम माधव एवं कैलाश विजयवर्गीय सहित 20 से 22 दावेदार उम्मीदवारों की सूची भेजी है। 

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने सोमवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस पैनल में पार्टी के मध्यप्रदेश से दो राज्यसभा सदस्यों प्रभात झा एवं सत्यनारायण जटिया के नाम भी शामिल हैं। प्रभात झा एवं सत्यनारायण जटिया (दोनों भाजपा) एवं कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह का राज्यसभा का कार्यकाल इस साल अप्रैल में पूरा होने वाला है। इसी कारण इन तीन सीटों पर चुनाव हो रहे हैं। 

दिल्ली हिंसा : कांग्रेस ने की न्यायिक जांच की मांग, कहा-विवादित बयान देने वाले BJP नेताओं पर दर्ज हो FIR

उन्होंने कहा, ‘‘अब पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति को इस पर अंतिम फैसला करना है कि किन दो प्रत्याशियों को मध्यप्रदेश की राज्यसभा सीटों से उतारा जाये। इस समिति को यह अधिकार भी है कि वह हमारी भेजी गयी सूची के अतिरिक्त किसी अन्य नेता को भी चुनाव मैदान में उतार सकता है।’’ 

2018 में प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली जीत के कारण इन तीन सीटों में से दो पर कांग्रेस कब्जा कर सकती है, जबकि एक भाजपा के खाते में जाने की उम्मीद है। भाजपा नेता ने बताया कि जिन तीन सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं, उनमें से मध्यप्रदेश विधानसभा में भाजपा के विधायकों की संख्या को देखते हुए एक सीट निश्चित तौर पर भाजपा के खाते में आयेगी।

इलाहाबाद HC ने लखनऊ में दंगाइयों की होर्डिंग हटाए जाने का दिया आदेश

उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा, हम एक और सीट के लिए जोर आजमा रहे हैं।’’ मध्यप्रदेश विधानसभा में 230 सीटें हैं, जिनमें से वर्तमान में दो खाली हैं। इस प्रकार वर्तमान में प्रदेश में कुल 228 विधायक हैं, जिनमें से 114 कांग्रेस, 107 भाजपा, चार निर्दलीय, दो बहुजन समाज पार्टी एवं एक समाजवादी पार्टी का विधायक शामिल हैं। 

कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार को इन चारों निर्दलीय विधायकों के साथ-साथ बसपा और सपा का समर्थन है। विधायक राज्यसभा चुनाव में मतदान कर प्रदेश से संसद के उच्च सदन के सदस्य का चुनाव करते हैं। 

Yes Bank मामले में CBI ने राणा से जुड़े कई स्थानों पर की छापेमारी

मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के आरोपों के बाद राज्य में चल रही सियासी घटनाक्रम के कुछ ही दिनों बाद यह चुनाव हो रहे हैं। मालूम हो कि मंगलवार को मध्यप्रदेश के 10 विधायक गायब हो गये थे, जिनमें दो बसपा, एक सपा, एक निर्दलीय एवं बाकी कांग्रेस के विधायक थे। 

इसके बाद दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया था कि भाजपा नेता इन विधायकों को हरियाणा के एक होटल में ले गये हैं और कमलनाथ की सरकार को गिराने के लिए उन्हें करोड़ों रूपये का आफर दे रहे हैं। 

हालांकि, भाजपा ने इस आरोप को खारिज कर दिया और दावा किया कि 26 मार्च को मध्यप्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों के लिए होने वाले चुनाव के मद्देनजर यह कांग्रेस के विभिन्न गुटों के बीच चल रही अंदरूनी लड़ाई का नतीजा है। इसके बाद प्रदेश की सत्तारूढ़ कांग्रेस इन 10 विधायकों में से आठ विधायकों को वापस लाने में अब तक सफल हो चुकी है।