मध्य प्रदेश के होशंगाबाद से एक बेहद ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक सरकारी डॉक्टर ने अपने ड्राइवर की हत्या कर दी। हत्या के बाद डॉक्टर ने शव के 500 से ज्यादा टुकड़े किए और उन्हें ड्रम में डालकर एसिड से गला दिया। जानकारी के मुताबिक ड्राइवर की पत्नी से डॉक्टर के अवैध संबंध थे।

इस बात को लेकर ड्राइवर डॉक्टर को ब्लैकमेल कर रहा था। बता दें कि इटारसी के सरकारी अस्पताल में हड्डी रोग विशेषज्ञ के तौर पर आरोपी डॉ. सुनील मंत्री (55) पदस्थ है। उसने ड्राइवर वीरेंद्र पचौरी उर्फ वीरू (30) को चार दिन पहले ही नौकरी पर रखा था। 4 फरवरी को वीरू काम पर आया तो उसके दांत में दर्द था।

डॉक्टर ने इलाज के बहाने उसे बेहोशी का इंजेक्शन लगाया और आरी से गर्दन काटकर अलग कर दी। इसके बाद धड़ को बाथरूम में ले जाकर छोटे-छोटे टुकड़े किए और एसिड भरे ड्रम में डालता रहा। होशंगाबाद जिले के पुलिस अधीक्षक अरविन्द सक्सेना ने बताया, ‘डॉक्टर सुनील मंत्री ने अपने ड्राइवर वीरेन्द्र पचौरी की सोमवार रात हत्या कर दी।

house of the accused doctor

‘उन्होंने कहा कि मंगलवार दोपहर सुनील के घर में संदेहास्पद गतिविधि होने की सूचना मिलने पर पुलिस उसके घर गई और फर्श पर खून के धब्बे पाये। पुलिस को देख कर आरोपी घबरा गया और पूछताछ में उसने हत्या करना कबूल लिया। सक्सेना ने बताया कि हत्या के बाद सबूत मिटाने के लिए उसने लाश के छोटे-छोटे टुकड़े किए और फिर उन्हें एसिड में डाल कर नष्ट कर रहा था। लाश के टुकड़ों के साथ पुलिस ने उसे पकड़ा।