BREAKING NEWS

सीएम योगी का ऐलान - शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को सरकारी नौकरी और एक करोड़ रुपये का मुआवजा ◾चीन से सीमा विवाद पर भारत के समर्थन में आया जापान, कहा- LAC की यथास्थिति बदलने के एकतरफा प्रयास का करेंगे विरोध◾पीएम मोदी ने गलवान घाटी झड़प में घायल सैनिकों से कहा- ‘आपने करारा जवाब दिया’◾लद्दाख में अतिक्रमण को लेकर राहुल ने ट्वीट किया वीडियो, कहा-कोई तो बोल रहा है झूठ◾लेह से चीन को PM मोदी का सख्त सन्देश, बोले- इतिहास गवाह है कि विस्तारवादी ताकतों को हमेशा मिली हार◾PM मोदी के लेह दौरे से तिलमिलाया ड्रैगन, कहा-कोई पक्ष हालात न बिगाड़े ◾चीन और पाकिस्तान से बिजली उपकरणों का आयात नहीं करेगा भारत ◾PM मोदी के लेह दौरे पर सियासत शुरू, मनीष तिवारी बोले- जब इंदिरा गई थीं तो पाक के दो टुकड़े किए थे◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 8 लाख के पार, सवा पांच लाख के करीब लोगों की मौत◾कानपुर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को CM योगी ने दी श्रद्धांजलि, कहा-व्यर्थ नहीं जाएगा यह बलिदान ◾चीन के साथ तनाव के बीच PM मोदी का औचक लेह दौरा, अग्रिम पोस्ट पर जवानों से की मुलाकात◾देश में एक दिन में 20 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा सवा छह लाख के पार◾15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन COVAXIN, 7 जुलाई से शुरू होगा ह्यूमन ट्रायल◾जम्मू-कश्मीर : श्रीनगर में मुठभेड़ में CRPF का एक जवान शहीद, एक आतंकवादी भी ढेर◾कानपुर में अपराधियों को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मी शहीद◾मुंबई : बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन◾Covid 19 : अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 27 लाख के पार, सवा एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾महाराष्ट्र में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, एक दिन में 6,330 नए मामलों के साथ राज्य में मौत का आंकड़ा 8,178◾गूगल प्ले स्टोर, एपल ऐप स्टोर से हटी भारत सरकार द्वारा बैन चीन की 59 ऐप, कंपनियों ने रोया दुखड़ा ◾दिल्ली में कोरोना के 2,373 नए मरीज आये सामने , कुल मामले बढ़कर 92,000 के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मध्यप्रदेश सरकार ने अतिवृष्टि एवं बाढ़ राहत को लेकर केन्द्र पर लगाया भेदभाव करने का आरोप

मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अतिवृष्टि एवं बाढ़ राहत में भेदभाव का आरोप केन्द्र सरकार पर लगाते हुए कहा कि भाजपा-नीत सरकार ने इसी प्रयोजन के लिये कर्नाटक और बिहार को सहायता राशि प्रदान की है लेकिन मध्यप्रदेश को कुछ भी नहीं मिला जबकि केन्द्रीय दल दो बार राज्य का दौरा कर नुकसान का आकलन कर चुका है और राज्य सरकार भी कई बार आग्रह कर चुकी है।

मंत्री परिषद की बैठक के बाद प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने गुरुवार शाम संवाददाताओं को बताया, ‘‘ मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अक्टूबर की शुरुआत में ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर उन्हें प्रदेश में अति-वृष्टि और बाढ़ से हुए नुकसान की पूरी जानकारी दी और इसे गंभीर आपदा की श्रेaणी में रखने की माँग की थी।’’

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात कर उन्हें शीघ्र राहत राशि जारी करने का अनुरोध किया था। मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव ने भी इस संबंध में केन्द्रीय गृह सचिव से मुलाकात की थी। केन्द्र का दल दो बार प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर चुका है। केन्द्र सरकार की आईएमसीटी प्रदेश के 21 जिलों में दौरा कर अति-वृष्टि से हुई तबाही देख चुकी है। इसके बावजूद अभी तक भारत सरकार ने मध्यप्रदेश को कोई सहायता राशि प्रदान नहीं की है। 

उन्होंने कहा कि दूसरी ओर केन्द्र सरकार ने कर्नाटक और बिहार को इसी प्रयोजन के लिये सहायता राशि दी है।

शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने अति वृष्टि और बाढ़ प्रभावितों के प्रति मानवीय संवेदनाओं का परिचय देते हुए केन्द्र सरकार की सहायता का इंतजार किये बिना अपने सीमित संसाधनों से त्वरित कार्यवाही की। प्रभावित परिवारों की हर संभव मदद कर रही है। राज्य सरकार ने अब तक प्रभावित परिवारों को लगभग 200 करोड़ रुपये सहायता राशि दी है। इसमें फसलों के नुकसान की भरपाई के लिए दी गई राशि शामिल नहीं है।

उन्होंने बताया कि अति-वृष्टि से सबसे अधिक प्रभावित मंदसौर, आगर और नीमच जिलों में फसल क्षति के लिये भी राज्य सरकार ने राशि का वितरण प्रारंभ कर दिया है। इन जिलों में अभी तक फसल राहत मद में 270 करोड़ रुपये की सहायता दी जा चुकी है। सरकार ने सभी जिलों में सर्वे का काम पूरा कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में अति-वृष्टि से लगभग 55 लाख किसानों की 60 लाख हेक्टेयर फसल खराब हो गई है। साथ ही प्रदेश की 11,000 किलोमीटर सड़कें भी खराब हुई हैं। लगभग सवा लाख मकानों को भी नुकसान पहुँचा है। भारी बारिश के दौरान राज्य सरकार ने सभी एजेंसियों की मदद से लगभग 75,000 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया।

उन्होंने बताया कि इस प्राकृतिक आपदा में लोगों को जल्दी राहत दिलाने के लिये प्रदेश सरकार ने भारत सरकार को एनडीआरएफ से 6,621.28 करोड़ रुपये की सहायता के लिये एक अक्टूबर को ही अनुरोध किया था।