BREAKING NEWS

ईरान में कोरोना संकट के बीच फंसे 275 भारतीयो को दिल्ली लाया गया ◾कोरोना वायरस से अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 121,000 के पार हुई, अबतक 2000 अधिक से लोगों की मौत ◾कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾

महाराष्ट्र : भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस बोले- शिवसेना चव्हाण के बयान पर स्पष्टीकरण दें

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को कहा कि शिवसेना को कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण के उस बयान पर स्पष्टीकरण देना चाहिए कि उसने 2014 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस और राकांपा के साथ गठबंधन में सरकार बनाने का प्रस्ताव रखा था। 

विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा कि चव्हाण का बयान बेहद चौंकाने वाला है और इससे उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी का ‘‘असली चेहरा’’ उजागर हुआ है। शिवसेना ने नवंबर में कांग्रेस और राकांपा के साथ मिलकर राज्य में सरकार बनाई। 

उम्मीद है कि नड्डा के नेतृत्व में BJP निरंतर सशक्त और अधिक व्यापक होगी : अमित शाह 

फडणवीस ने दिल्ली में मीडिया से कहा, ‘‘चव्हाण ने जो कहा वह बहुत ही आश्चर्यजनक है। उनके इस बयान को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। इस खुलासे से शिवसेना का असली चेहरा सामने आया है।’’ फडणवीस ने कहा, ‘‘शिवसेना को चव्हाण के बयान पर स्पष्टीकरण देना चाहिए।’’ 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में करीब दो महीने पहले शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने वाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने खुलासा किया है कि 2014 के विधानसभा चुनाव के बाद भी उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने भाजपा को रोकने के लिए मिलकर सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया था जिससे कांग्रेस ने तत्काल इनकार कर दिया था। 

निर्भया गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की याचिका, अब फांसी तय

चव्हाण ने रविवार को कहा कि शिवसेना के साथ हाथ मिलाने को लेकर इस बार भी पार्टी आलाकमान और अध्यक्ष सोनिया गांधी शुरू में तैयार नहीं थीं, लेकिन गहन विचार-विमर्श के बाद आगे बढ़ने और सरकार में शामिल होने का निर्णय लिया गया। 

चव्हाण ने कहा, ''यही स्थिति पांच साल पहले भी आई थी उस समय भी शिवसेना और राकांपा की तरफ से यह प्रस्ताव मेरे पास आया था कि हम तीनों मिलकर सरकार बनाते हैं और भाजपा को रोकते हैं।'' उन्होंने कहा, '' मैंने उस प्रस्ताव को तुरंत खारिज कर दिया था। मैंने कहा था कि हार-जीत राजनीति में सामान्य बात है। हम पहले भी हारे हैं और विपक्ष में बैठे हैं।''