BREAKING NEWS

KXIP vs SRH ( IPL 2022) : पंजाब किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 5 विकेट से हराया◾PM मोदी टोक्यो में क्वाड इनिशिएटिव, द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा करने के लिए उत्सुक◾WHO चीफ ने कोविड महामारी को लेकर दिया बड़ा बयान◾राजभर ने अखिलेश पर कसा तंज , कहा - यादव जी को लग गई है एयर कंडीशनर की हवा ◾ केंद्र के बाद इन राज्य सरकारों ने भी पेट्रोल-डीजल पर घटाया VAT , जानें क्या हैं नई कीमतें◾ होशियारपुर में 300 फीट गहरे बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, कुत्ते से कर रहा था बचाव◾ श्रीलंका के लिए संकट मोचन बना भारत, जरूरी राहत सामग्री लेकर कोलंबो पहुंचा जहाज◾ SA टी20 सीरीज और इंग्लैंड के साथ एक टेस्ट के लिए भारतीय टीम हैं तैयार, यहां देखें किसे-किसे मिला मौका◾ SRH vs PBKS: हैदराबाद ने पंजाब के खिलाफ टॉस जीतकर चुनी बल्लेबाजी, यहां देखें Playing XI◾ बंगाल में BJP को लगा बड़ा झटका, सांसद अर्जुन सिंह ने थामा टीएमसी का हाथ◾'न उगली जाए, न निगली जाए' की स्थिति में विपक्ष! ज्ञानवापी विवाद में सपा, बसपा और कांग्रेस ने क्यों साधी चुप्पी?◾ आज से नौकरशाहों के हाथों में दिल्ली MCD की डोर, स्पेशल अफसर अश्वनी कुमार और कमिश्नर ज्ञानेश भारती ने संभाला चार्ज◾2024 की तैयारी में राजनीतिक समीकरण साध रहे KCR... CM केजरीवाल से की मुलाकात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा ◾दिल्ली: कुतुब मीनार परिसर में खुदाई को लेकर नहीं लिया गया कोई फैसला, केंद्रीय संस्कृति मंत्री ने कही यह बात ◾ इटालियन चश्मा उतारें तो पता चलेगा विकास....,राहुल गांधी पर अमित शाह ने कसा तंज◾ज्ञानवापी से लेकर ईदगाह मस्जिद तक... जानें क्यों कटघरे में खड़ा है पूजा स्थल अधिनियम 1991? पढ़े खबर ◾भारत में जनता के हित में लिए जाते हैं फैसले, बाहरी दबावों को किया जाता है दरकिनार : इमरान खान ◾ क्वाड के लिए जापान रवाना हुए पीएम मोदी, बैठक के बारे में बताया क्या-क्या होगा खास◾Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मामले ने लिया दिलचस्प मोड़... विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत ने किया यह बड़ा दावा! ◾यूपी : विधानसभा सत्र से एक दिन पहले SP के विधायक दल की हुई बैठक, शामिल नहीं हुए आजम और शिवपाल ◾

महाराष्ट्र : NIA अदालत ने ISIS से जुड़ने वाले अपराधियों की अर्जी स्वीकार की, जानिए क्या है मामला

महाराष्ट्र राज्य की एक विशेष अदालत ने एनआईए (राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण) द्वारा गिरफ्तार दो व्यक्तियों के अपराध स्वीकार करने की अर्जी को मंजूर कर लिया है। दोनो व्यक्ति वर्ष 2015 में आतंकी संगठन आईएसआईएस में शामिल हुए थे। अदालत ने दोनों आरोपियों को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत दोषी पाया। विशेष एनआईए न्यायाधीश ए. टी. वानखेड़े ने बुधवार को कहा कि, वह दोषी पाए गए व्यक्तियों की सजा पर सात जनवरी को सुनवाई करेंगे। मोहसिन सय्यद (32) और रिजवान अहमद (25) ने पिछले महीने अपराध स्वीकार करने की अर्जी दायर की थी। अदालत ने बुधवार को आरोपियों को उन पर लगे आरोप समझाए और दोषी पाए जाने पर सजा के बारे में बताया। 

यूएपीए के तहत ठहराए गए दोषी 

आतंकवादी संगठन में शामिल होने के आरोप में दोनों व्यक्तियों पर यूएपीए और भारतीय दंड संहिता के प्रावधानों के तहत दोषी पाए जाने पर कम से कम तीन साल कारावास और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा हो सकती है। आरोपियों ने अदालत में कहा कि, उन्हें इसकी जानकारी थी और उन्होंने स्वेच्छा से अपराध स्वीकार किया है। इसके बाद कोर्ट ने उनकी अर्जी मंजूर कर ली और यूएपीए तथा भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत दोषी ठहराया। अभियोजन पक्ष के अनुसार, मुंबई के मलवानी के चार व्यक्ति घर छोड़कर आईएसआईएस में शामिल होने गए थे। 

वर्ष 2016 से जेल में बंद है आरोपी 

एनआईए का दावा है कि, सय्यद और अहमद ने मलवानी से मुस्लिम युवकों को ‘फिदायीन’ लड़ाके बनने और आतंकी संगठन में शमिल होने के लिए प्रेरित किया। दोनों आरोपियों ने गत माह दाखिल अर्जी में दावा किया था कि वे दुष्प्रचार वाले वीडियो से प्रभावित हुए थे लेकिन अब उन्हें अपनी गलती का एहसास हो गया है। दोनों आरोपी 2016 से जेल में बंद हैं।