BREAKING NEWS

टीके लेने वाले यात्रियों के लिए ब्रिटेन ने नियमों में छूट दी, भारत-ब्रिटेन मार्ग पर भी कुछ छूट◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 71 साल के हुए ; देश-विदेश के नेताओं ने दीं शुभकामनाएँ◾कोविड टीकाकरण में बना विश्व रिकॉर्ड, एक दिन में लगे सवा दो करोड़ से ज्यादा टीके◾उप्र में पांच साल में बेरोजगारी दर 17 प्रतिशत से घटकर चार-पांच प्रतिशत रह गई : योगी◾जीएसटी काउंसिल बैठक: कई दवाईयां GST मुक्त, पेट्रोल-डीजल पर लिया ये फैसला◾बिना समझौते के बनी तालिबान सरकार, दुनिया सोच-समझकर फैसला ले : PM मोदी◾बंटवारे के समय बरती जाती सावधानियां तो करतापुर साहिब पाकिस्तान में नहीं भारत में होता: राजनाथ सिंह ◾शोएब ने न्यूजीलैंड पर खेल की हत्या करने का लगाया आरोप, बाबर आजम बोले- श्रृंखला रद्द होने से निराश हूं◾प्रियंका की यूपी सरकार से मांग, कहा- मूसलाधार बारिश से नुकसान झेलने वाले किसानों को मिले मुआवजा◾नितिन गडकरी हर महीने यूट्यूब से चार लाख रुपये कमा रहे, बताया कैसे मिल रहा फायदा◾दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 33 नए मामले सामने आए, 56 लोग ठीक हुए और 1 की मौत◾स्मृति ईरानी का कांग्रेस पर तंज, कहा- उन्होंने कभी अमेठी का भला नहीं किया ◾अब्बास नकवी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- UP में अपराधियों की हिरासत” बनाम “अपराध की हिफाज़त” बड़ा मुद्दा◾न्यूजीलैंड ने की पाकिस्तान की फजीहत, मैच से ठीक पहले कीवी टीम ने रद्द किया दौरा◾बिहार चुनाव में EVM और DM ने की बेईमानी, UP में रहना होगा सावधान : अखिलेश यादव◾PM मोदी के जन्मदिन को लेकर कांग्रेस का तंज- कौन सी उपलब्धि का मनाया जाए जश्न ◾PM मोदी के जन्मदिन पर मेगा वैक्सीनेशन अभियान, दोपहर तक लगी 1 करोड़ से ज्यादा डोज ◾सचिन वाजे का खुलासा- तबादले के आदेश रुकवाने के लिए देशमुख और अनिल परब को मिले 40 करोड़ रुपए ◾अगले लोकसभा चुनाव से पहले भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा राम मंदिर, दिसंबर 2023 से होंगे दर्शन◾SCO समिट में बोले PM मोदी- दुनिया के लिए कट्टरता एक बड़ी चुनौती, अफगानिस्तान है इसका उदाहरण◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

TMC नेताओं पर हुई CBI कार्रवाई के बाद ममता ने शुरू किया धरना, कहा- ये गिरफ्तारियां राजनीति से प्रेरित और अवैध

नारद स्टिंग मामले में पश्चिम बंगाल के दो वरिष्ठ मंत्रियों एवं अन्य की गिरफ्तारी के विरोध में तृणमूल कांग्रेस के समर्थक सोमवार को यहां सीबीआई कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में एकत्रित हो गए। तृणमूल कांग्रेस के समर्थक यहां झंडे लहरा रहे थे और सीबीआई तथा केंद्र की भाजपा नीत राजग सरकार के खिलाफ नारे लगा रहे थे। यहां पर बड़ी संख्या में सीआरपीएफ के जवान तैनात हैं तथा परिसर में अवरोधक लगाए गए हैं। कोलकाता पुलिस के जवान भी बड़ी संख्या में यहां मौजूद हैं।

ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस के अपने चार नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में सीबीआई के कोलकाता कार्यालय में धरना शुरू कर दिया है। बनर्जी 'निजाम पैलेस' की 15वीं मंजिल पर पहुंचीं, जहां सीबीआई का भ्रष्टाचार निरोधक प्रकोष्ठ का कार्यालय है। उनके प्रवक्ता, वकील अनिंद्यो राउत ने प्रतीक्षारत मीडियाकर्मियों से कहा, "दीदी (बनर्जी) इस सीबीआई कार्यालय को तब तक नहीं छोड़ेंगी जब तक कि उनकी पार्टी के सहयोगी रिहा नहीं हो जाते या उन्हें भी गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता।"

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने सीबीआई अधिकारियों को बताया कि उन्होंने चार नेताओं को बिना किसी अनिवार्य सूचना के गिरफ्तार कर लिया है, जिनमें दो मौजूदा और दो पूर्व मंत्री शामिल हैं। राउत ने ममता बनर्जी के हवाले से कहा, "ये गिरफ्तारियां राजनीति से प्रेरित और अवैध हैं। सुवेंदु अधिकारी और मुकुल रॉय को छोड़ दिया गया है, हालांकि उन पर समान आरोप हैं।"

सीबीआई कार्यालय की रखवाली कर रहे केंद्रीय बल मीडियाकर्मियों को कार्यालय के अंदर नहीं जाने दे रहे थे - इसलिए सीएम बनर्जी से बात करना संभव नहीं था। लेकिन उन्होंने राउत को पत्रकारों को 'उनका दृष्टिकोण' बताने के लिए भेजा।सीबीआई ने सोमवार को समानांतर छापेमारी शुरू की और नारद स्टिंग मामले में अपनी जांच में टीएमसी मंत्रियों फिरहाद हकीम और सुब्रत मुखर्जी और विधायक मदन मित्रा को हिरासत में लिया। कुछ ही घंटों में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीबीआई कार्यालय पहुंच गईं।

टीएमसी नेताओं के साथ, कोलकाता के पूर्व मेयर सोवन चटर्जी को भी मामले में सीबीआई ने गिरफ्तार किया गया। नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में टीएमसी नेताओं को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कार्यालय ले जाया गया। कुछ दिन पहले बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सीबीआई को इन टीएमसी नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति दी थी।

धनखड़ ने तृणमूल कांग्रेस को धमकी दी थी और कहा था कि उन्हें अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। तृणमूल सांसद और वकील कल्याण बनर्जी ने बताया कि पार्टी नेताओं ने इन मामलों में हमेशा सीबीआई का सहयोग किया है।

"अब सीबीआई का कहना है कि उन्होंने चारों को गिरफ्तार कर लिया है क्योंकि वे उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर रहे हैं। अगर वे चार्जशीट दाखिल कर रहे हैं, तो इसका मतलब है कि जांच खत्म हो गई है। तो उन्हें हिरासत में लेने की आवश्यकता क्यों है और गिरफ्तारी का अनिवार्य नोटिस कहां है। यह पूरी तरह से अवैध और राजनीति से प्रेरित है, हम अदालत का रुख करेंगे।"

बंगाल विस अध्यक्ष का दावा- नारद मामले में बंगाल के मंत्रियों और अन्य की गिरफ्तारी गैरकानूनी