BREAKING NEWS

सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र, आगे की रणनीति को लेकर किसानों की बैठक जारी ◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾छत्तीसगढ़ में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRFP का अधिकारी शहीद, सात जवान घायल ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोले- J&K के लोग मतपत्र की राजनीति में विश्वास करते हैं, गोली की राजनीति में नहीं◾आज का राशिफल ( 29 नवंबर 2020 )◾किसान आंदोलन से देश की राजधानी में फलों, सब्जियों की आपूर्ति पर असर◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे में वैक्सीन निर्माण की प्रगति का लिया जायजा◾सरकार ने कहा, किसानों से किसी भी समय बातचीत के लिए तैयार ◾भारत, श्रीलंका और मालदीव समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए ◾राज्यसभा उप चुनाव के लिये उम्मीदवार पर फैसला करने के लिये भाजपा स्वतंत्र : चिराग◾उत्तर भारत में सर्दी बढ़ी, दक्षिणी राज्यों में एक दिसंबर से भारी बारिश की आशंका ◾किसानों को अमित शाह का संदेश- हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

युवाओं के साथ ही बढ़ रहा वोट का पलायन

देहरादून : उत्तराखंड में 11 अप्रैल को प्रथम चरण में लोकसभा चुनाव में 61.50 प्रतिशत वोट हुआ। पर्वतीय प्रदेश के दूरस्थ भागों से डाटा इकट्ठा करने के बाद शुक्रवार देर रात यहां चुनाव आयोग द्वारा जारी अंतिम आंकडों के अनुसार, उत्तराखंड में इस बार 78.56 लाख मतदाताओं में से 61.50 फीसदी ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वर्ष 2014 में पिछले आम चुनाव में दर्ज किये गये 62.15 फीसदी मतदान के मुकाबले इस बार मतदान में थोड़ी गिरावट दर्ज की गयी है।

मतदान समाप्त होने के बाद गुरुवार को जारी एक पूर्व रिपोर्ट में आयोग द्वारा बताया गया अस्थाई वोट आंकड़ा 57.85 प्रतिशत था। मतदाता सूची में कुल 78.56 लाख मतदाता पंजीकृत थे। लेकिन चिंताजनक बात यह है कि राज्य में युवाओं के साथ ही वोट का पलायन भी बढ़ रहा है।

उत्तराखंड में यदि वर्ष 2009 से 2019 के मतदान प्रतिशत को अगर देखा जाए तो इसमें औसत रूप से गिरावट दर्ज की जा रही है। इस बार हरिद्वार सीट पर सर्वाधिक 68.92 फीसदी मतदान दर्ज किया गया जबकि नैनीताल सीट 68.69 फीसदी मतदान के साथ दूसरे स्थान पर रही । टिहरी सीट पर 58.30 प्रतिशत, पौडी में 51.82 प्रतिशत और अल्मोडा (सुरक्षित) सीट पर लोग मतदान के लिये बाहर निकले।

पलायन रुकने से बढ़ेगा वोट प्रतिशत : डॉ. राजेश समाज शास्त्री डॉ. राजेश कुमार बताते हैं कि उत्तराखंड में बढ़ती बेरोजगारी के चलते पर्वतीय जिलों में वोट का प्रतिशत लगातार गिर रहा है। राज्य में वोट का प्रतिशत गिरने के पीछे पलायन पूरी तरह से जिम्मेदार है। डॉ. राजेश बताते हैं कि उत्तराखंड राज्य बनने के 19 साल बाद भी सुदूरवर्ती गांवों में अबतक विकास नहीं पहुंच पाया है।

गांवों में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी जैसी आवश्यक सुविधाएं नहीं पहुंच पाने और बेरोजगारी के कारण पलायन लगातार बढ़ रहा है। यही कारण है कि राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में मैदान के मुकाबले काफी कम मतदान होता है। गांवों को स्वावलंबी बनाकर ही पलायन को रोका जा सकता है। गांवों से पलायन रुकने पर ही मतदान भी बढ़ेगा।