BREAKING NEWS

शोपियां सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकवादियों को मार गिराया, एक ने किया आत्मसमर्पण◾आज का राशिफल ( 06 मई 2021)◾चार देशों से 11 ऑक्सीजन कंटेनर, 350 ऑक्सीजन सिलेंडर ला रही है वायुसेना ◾भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने दिया विवादित बयान, ममता बनर्जी को बताया ताड़का ◾जयशंकर डिजिटल तरीके से जी7 की बैठक में शामिल, कहा कोविड के खिलाफ जंग में भूमिका निभाएगा भारत ◾महाराष्ट्र में संक्रमण से 920 मरीजों की मौत, 57640 नए केस ◾संक्रमण के मामलों में आ रही है गिरावट पर बोले चिदंबरम- कोरोना की जांच की संख्या हुई कम◾कोरोना संकट : भारतीय नौसेना ने विदेशों से ऑक्सीजन और चिकित्सा आपूर्ति लाने के लिए नौ युद्धपोत तैनात किए◾कोरोना के मामलों में गिरावट के बावजूद लापरवाही न करें, हम तीसरी लहर के लिये कर रहे है तैयारी : CM ठाकरे◾तमिलनाडु : राज्यपाल पुरोहित ने डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन को मुख्यमंत्री के रूप में किया नियुक्त◾दिल्ली में कब तक जारी रहे लॉकडाउन, CM केजरीवाल बोले - जनता खुद देख रही है कि मुसीबत कितनी बड़ी है◾गृह मंत्रालय ने ममता सरकार से हिंसा पर मांगी रिपोर्ट, कहा - नहीं भेजने पर गंभीरता से लिया जाएगा एक्शन ◾बंगाल में एक लाख लोगों ने हिंसा के डर से छोड़ा घर, खून से सने है ममता बनर्जी के हाथ : जे पी नड्डा ◾कोविड-19 : उत्तर प्रदेश में 24 घंटों में संक्रमण के 31,165 नए मामले सामने आए, 357 संक्रमितो की मौत ◾कोविड-19 मरीजों का अब होगा एंटीबॉडी कॉकटेल से इलाज, भारत में इस्तेमाल के लिए मिली मंजूरी◾SC ने मुंबई के ऑक्सीजन प्रबंधन की तारीफ करते हुए केंद्र और दिल्ली सरकार से कहा - BMC से लें सीख ◾कोरोना संकटकाल में कोई भी गरीब बिना राशन के नहीं रहेगा : CM शिवराज◾केरल में कोरोना के 41 हजार से अधिक नए मामले की पुष्टि, संक्रमण से 58 की मौत◾सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार की चेतावनी, देश में कोरोना की तीसरी लहर भी आएगी ◾भारत और चीन के संबंध मुश्किल दौर से गुजर रहे है : विदेशमंत्री एस जयशंकर◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मप्र सरकार की किसानों को बड़ी सौगात, किसानों को हर साल 4 हजार रुपये की अतिरिक्त सम्मान निधि देगी

मध्यप्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना की तरह राज्य के किसानों को हर साल चार हजार रुपये की अतिरिक्त सम्मान निधि देने का फैसला लिया है, इस तरह किसानों के खाते में अब हर साल 10 हजार रुपये पहुंचेंगे।

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक से पहले मंत्री परिषद के सभी सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में प्रदेश के 77 लाख किसानों को प्रतिवर्ष तीन किस्तों में दो-दो हजार रुपये, कुल छह हजार रुपये प्रति किसान दिए जाते हैं।

अब मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के हित में बड़ा फैसला करते हुए उन्हें राज्य सरकार की ओर से प्रतिवर्ष दो किस्तों में दो-दो हजार रुपये यानी कुल चार हजार रुपये की सम्मान राशि देने का फैसला किया है। केंद्र व राज्य सरकार की इन योजनाओं की कुल राशि अब 10 हजार रुपये हो जाएगी। मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्रदेश के सभी किसानों को लाभ होगा। विशेषकर छोटे किसानों के लिए यह योजना वरदान साबित होगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के 77 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिल रहा है। मध्यप्रदेश सरकार किसानों का सर्वे कर प्रदेश के प्रत्येक किसान को मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देगी। प्रदेश में खातेदार किसानों की अनुमानित संख्या एक करोड़ है। 

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत के किसानों को सम्मान निधि की पहली किस्त के वितरण की शुरुआत पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन पर दी जाएगी। उस दिन किसानों के खातों में मुख्यमंत्री स्वयं भोपाल से तथा मंत्रीगण व अन्य जनप्रतिनिधि अन्य जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में राशि अंतरित करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों को सरकार पूरा सुरक्षा चक्र प्रदान कर रही है। मध्यप्रदेश सरकार एक के बाद एक किसानों के हित में फैसले ले रही है। पहले किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसल ऋण उपलब्ध कराने की योजना शुरू की गई। फिर उनके खातों में गत वर्षो की फसल बीमा राशि डाली गई। 

मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की प्रक्रिया के विषय में बताया कि लाभान्वित किए जाने वाले किसानों की जानकारी किसान सम्मान निधि पोर्टल पर दर्ज रहेगी। क्षेत्र के पटवारी जानकारी का सत्यापन करेंगे। किसानों को सिर्फ एक बार क्षेत्र के पटवारी को भौतिक रूप से आवेदन देना होगा।