BREAKING NEWS

मनीष सिसोदिया ने अपने साथ "दुर्व्यवहार" करने का लगाया आरोप, कोर्ट ने CCTV फुटेज सुरक्षित रखने के दिए निर्देश◾तालिबान के शीर्ष नेता के साथ कतर के प्रधानमंत्री ने की गुप्त बैठक◾दो हजार रुपये के नोट बदलने के मामले में Supreem Court ने किया सुनवाई से इनकार, कहा- जरूरी मामला नहीं◾कर्नाटक में कांग्रेस की जीत में सुनील कानुगोलू ने निभाया खास रोल, अब बने मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के मुख्य सलाहकार◾Free Electricity in Rajasthan: राजस्थान में हर महीने 100 यूनिट तक सब को बिजली फ्री ◾महिला ने किया बैग में बम होने का दावा, मुंबई एयरपोर्ट पर मची अफरा-तफरी◾BSP चीफ मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- गहलोत सरकार द्वारा की गई घोषणा चुनावी छलावा ◾राजधानी दिल्ली में 36 साल बाद सबसे ठंडा मई का महीना ◾नौकरी के बदले जमीन मामला: कोर्ट से CBI को चार्जशीट दाखिल करने के लिए मिला समय, 12 जुलाई को होगी अगली सुनवाई◾Manipur Violence: हिंसा को लेकर अमित शाह ने कहा- 'अब सब कंट्रोल में, किसी को छोड़ेंगे नहीं'◾अब तालिबान से दोस्ती पड़ रही महंगी, पाकिस्तान में आतंकी हमलों में हुई बढ़ोतरी: रिपोर्ट◾राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा के लिए पीएम मोदी को किया जाएगा आमंत्रित ◾Wrestler Protest: मुजफ्फरनगर में पहलवानों के समर्थन में आज होगी महापंचायत, बृजभूषण सिंह की गिरफ्तारी की मांग तेज ◾शाहबाद डेयरी मर्डर मामले में साहिल की पुलिस हिरासत दो दिन और बढ़ी ◾Vivekananda Reddy murder case: सांसद अविनाश रेड्डी को मिली बड़ी राहत, तेलंगाना HC ने दी अग्रिम जमानत ◾संसद सदस्यता जाने पर US में राहुल गांधी ने कहा- 'मैं पहला ऐसा व्यक्ति, जिसे मानहानि मामले में इतनी बड़ी सजा मिली'◾दमोह हिजाब विवाद पर शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा- "मामले में दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी"◾Sakshi Murder Case: साहिल के बारे में जानते थे साक्षी के पिता, कहा था- 'अभी छोटी हो पढ़ाई पर ध्यान दो'◾कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ केजरीवाल को समर्थन देने से किया इनकार◾Uttar Pradesh: CM योगी ने अवैध झुग्गियों में रहने वाले लोगों का सर्वेक्षण करने का दिया आदेश ◾

हनुमान चालीसा: नवनीत और रवि राणा को सेशंस कोर्ट से मिली बड़ी राहत! इन शर्तों के साथ दी गई जमानत

हनुमान चालीसा विवाद में लोकसभा सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को बड़ी राहत मिल गई है, दरअसल मुंबई की एक सेशंस कोर्ट ने राणा दंपत्ति को शर्तों के साथ बेल दे दी गई है। बता दें कि राणा दंपत्ति को 50 हजार रूपए प्रति व्यक्ति का सिक्योरिटी बॉन्ड देना होगा, साथ ही कोर्ट ने उन्हें इस तरह के मामलों में दोबारा ना फंसने और सबूतों से किसी भी तरह की छेड़छाड़ ना करने और इस मामले पर किसी भी तरह की प्रेस कॉन्फ्रेंस ना करने की सख्त हिदायत दी है। बताते चलें की कोर्ट की किसी भी शर्त का उल्लंघन करने पर दोनों नेताओं की जमानत को रद्द किया जा सकता है, ऐसा माना जा रहा है कि नवनीत और रवि राणा आज शाम तक जेल से रिहा हो सकते हैं।  

नवनीत राणा को जेजे अस्पताल में किया गया था भर्ती 

बता दें कि लोकसभा सांसद नवनीत राणा को स्पोंडिलोसिस के इलाज के लिए आज सुबह ही भायखला जेल से मुंबई के जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अमरावती की सांसद और उनके विधायक पति रवि राणा को पिछले महीने मुंबई पुलिस ने बांद्रा में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निजी आवास 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की सार्वजनिक घोषणा के बाद गिरफ्तार किया था। हालांकि राणा दंपति ने सीएम उद्धव के आवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की अपनी योजना को छोड़ दिया था, लेकिन मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ देशद्रोह और दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की थी। 

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ मामला  

मुंबई की बांद्रा अदालत ने राणा दंपति को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा था। राणा दंपत्ति पर आईपीसी की धारा 153 (ए) (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना और सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिकूल कार्य करना) और धारा 135 के तहत मामला दर्ज किया गया था। मुंबई पुलिस अधिनियम (पुलिस के निषेधाज्ञा का उल्लंघन) द्वारा दंपति को खार पुलिस स्टेशन ले जाया गया, जहां उनके खिलाफ पहली प्राथमिकी दर्ज की गई थी। बाद में पुलिस ने उनके खिलाफ मामले में आईपीसी की धारा 124-ए (देशद्रोह) भी जोड़ा गया था।