BREAKING NEWS

मूडीज ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाया, आसमान छू रही महंगाई पर जताई चिंता◾ Tamil Nadu: चेन्नई पहुंचे PM मोदी ,हुआ जोरदार स्वागत, रोड शो में उमड़ी हजारों की भीड़◾तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने एच डी देवेगौड़ा से की मुलाकात, जानें- किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾J&K News: सुंजवां हमले में शामिल एक आतंकवादी को NIA ने किया गिरफ्तार, जैश ए मोहम्मद से जुड़े थे तार◾Monkeypox Virus: कनाडा में मंकीपॉक्स ने दी दस्तक! यहां देखें- कितने मामले सामने आए◾यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाने के बाद फेंके थे पत्थर, लेकिन अब पुलिस के सामने पकड़े कान◾सुप्रीम कोर्ट ने वेश्यावृत्ति को माना प्रोफेशन, पुलिस को दी हिदायत... जारी हुए सख्त निर्देश, जानें क्या कहा ◾ गवर्नर की जगह अब CM होंगी स्टेट यूनिवर्सिटी की चांसलर, ममता बनर्जी कैबिनेट की बैठक में हुआ फैसला◾नवजोत सिंह सिद्धू का पटियाला जेल में बज गया बैंड, मिला क्लर्क का काम, जानें कितना होगा वेतन ◾ Gyanvapi Masjid: यहां जानें 2 घंटे चली वाराणसी जिला कोर्ट की बहस में क्या हुआ, अब सोमवार तक टली सुनवाई◾पाकिस्तान को 'मॉडर्न देश' बनाना चाहते हैं जरदारी! भारत और अन्य देशों से जारी संघर्षों पर कही यह बात ◾Bharat Biotech की कोवैक्सीन को जर्मनी ने दी मंजूरी, टूरिस्ट को मिली बड़ी राहत◾ US और चीन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने दिया ये बयान, जानें मोदी सरकार को क्या दी नसीहत◾UP बजट 2022 : मायावती ने बताया घिसा-पिटा, अखिलेश बोले- कुछ बढ़ा नहीं, सब कुछ घटा है◾Navneet Rana News: सांसद नवनीत राणा ने दर्ज करवाई FIR, फोन पर मिल रही थी जान से मारने की धमकी ◾पूर्व मंत्री ने पूछा, क्या पाठ्यपुस्तकों में जिन्ना का पाठ किया जाए शामिल? हेडगेवार को लेकर कही यह बात ◾BJP के 8 वर्ष पुरे होने पर सुरजेवाला ने बोला हमला, कहा- अहंकारी सत्ता में डायन महंगाई बन गई है घर जमाई◾ तेलंगाना के हैदराबाद में पीएम मोदी की हुंकार ,बोले- युवाओं से मौके छीन लेता है परिवारवाद....◾केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही BJP, शिवसेना बोली- परब के खिलाफ ED की छापेमारी....◾सरकार ने वाहनों के थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के दामों में किया इजाफा, जानिए कब से लागू होंगे नए रेट ◾

मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में उत्पन्न हुआ कोयला संकट : नवाब मालिक

भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कोयला भंडार होने बावजूद भी देश में बिजली संकट गहराने लगा है। माना जा रहा है कि देश के कई पावर प्‍लांट्स में लगभव चार दिन का ही कोयले का स्‍टाक शेष है। कोयला संकट को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार पर हमलावर है। वहीं महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने कोयले पर आए संकट के लिए केंद्र सरकार की नीतियों को जिम्मेदार बताया है।

एनसीपी नेता ने मंगलवार को बोलते हुए कहा, मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में कोयले का संकट उत्पन्न हो गया। कई राज्यों में बिजली का संकट है, कटौती की जा रही है। जिस देश में सरप्लस बिजली बनाने की क्षमता है, आज कोयला न होने से संकट पैदा हुआ है। इसकी पूरी ज़िम्मेदारी मोदी सरकार की है।

देश में कोयले संकट के बीच प्रधानमंत्री मोदी करेंगे मीटिंग, अमित शाह ने कल की थी समीक्षा बैठक

देश में इस समय कई बिजली कंपनियों के सामने कोयले के स्टॉक का संकट खड़ा हो गया है। देश के कई राज्यों में  बिजली संकट की स्थिति पैदा होने की बात सामने आ रही है। राज्य सरकारों ने बिजली संकट की बात है तो वहीं केंद्र ने बिजली के किसी भी तरह के संकट से इनकार किया है। भारत में ही नहीं मंडरा रहा है बल्कि चीन, यूरोप और अमेरिका में भी बिजली संकट बना हुआ है।

चार दिन से कम भंडार वाले बिजली प्लांट्स की संख्या बढ़कर हुई 70 

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोयले के चार दिन से कम भंडार वाले बिजली प्लांट्स की संख्या रविवार को बढ़कर 70 हो गई, जो एक सप्ताह पहले तीन अक्टूबर को 64 थी। ताजा आंकड़ों के मुताबिक कुल 1,65,000 मेगावाट से अधिक स्थापित क्षमता वाले कुल 135 संयंत्रों में 70 संयंत्रों में 10 अक्टूबर 2021 को चार दिन से भी कम का कोयला बचा था। केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) इन 135 संयंत्रों की निगरानी करता है। 

आंकड़ों से यह भी पता चला कि सात दिनों से कम ईंधन वाले गैर-पिट हेड संयंत्रों (कोयला खानों से दूर स्थित बिजली संयंत्रों) की संख्या भी रविवार को बढ़कर 26 हो गई, जो एक सप्ताह पहले तीन अक्टूबर को 25 थी। सीईए की बिजली संयंत्रों के लिए कोयला भंडार पर ताजा रिपोर्ट से यह भी पता चला है कि समीक्षाधीन अवधि में सात दिनों से भी कम कोयला भंडार वाले बिजली संयंत्रों की संख्या बढ़कर 115 हो गई, जो इससे पिछले सप्ताह 107 थी।