BREAKING NEWS

कम्युनिस्ट विचारधारा में कन्हैया की नहीं थी कोई आस्था, पार्टी के प्रति नहीं थे ईमानदार : CPI महासचिव◾ पंजाब में लगी इस्तीफों की झड़ी, योगिंदर ढींगरा ने भी महासचिव पद छोड़ा◾कोलकाता ने दिल्ली कैपिटल्स को 3 विकेट से हराया, KKR की प्ले ऑफ में पहुंचने की उम्मीदें जिंदा◾कोरोना सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती, केंद्र ने कोविड-19 नियंत्रण संबंधित दिशा-निर्देशों को 31 अक्टूबर तक बढ़ाया◾ क्या BJP में शामिल होंगे कैप्टन ? दिल्ली आने की बताई यह खास वजह ◾UP चुनाव में एक साथ लड़ेंगे BJP-JDU! गठबंधन बनाने के लिए आरसीपी सिंह को मिली जिम्मेदारी◾कांग्रेस में शामिल हुए कन्हैया कुमार, कहा- आज देश को बचाना जरूरी, सत्ता के लिए परंपरा भूली BJP ◾सिद्धू के इस्तीफे से कांग्रेस में हड़कंप, कई नेता बोले- पार्टी की राजनीति के लिए घातक है फैसला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे पर बोले CM चन्नी-मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं◾अमेरिका ने फिर की इमरान खान की बेइज्जती, मिन्नतों के बाद भी बाइडन नहीं दे रहे मिलने का मौका ◾उरी में भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, पकड़ा गया पाकिस्तान का 19 साल का जिंदा आतंकी ◾पंजाब कांग्रेस में फिर घमासान : सिद्धू ने अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, BJP ने ली चुटकी ◾पंजाब: CM चन्नी ने किया विभागों का वितरण, जानें किसे मिला कौनसा मंत्रालय◾पंजाब के पूर्व CM अमरिंदर सिंह आज पहुंच रहे हैं दिल्ली, अमित शाह और नड्डा से करेंगे मुलाकात◾योगी के नए मंत्रिमंडल में 67% मंत्री सवर्ण और पिछड़े समाज से सिर्फ़ 29% : ओवैसी◾क्या कांग्रेस में यूथ लीडरों की एंट्री होगी मास्टरस्ट्रोक, पार्टी मुख्यालय पर लगे कन्हैया और जिग्नेश के पोस्टर◾कन्हैया के पार्टी जॉइनिंग पर मनीष तिवारी का कटाक्ष- अब शायद फिर से पलटे जाएं ‘कम्युनिस्ट्स इन कांग्रेस’ के पन्ने ◾PM मोदी ने विशेष लक्षणों वाली फसलों की 35 किस्मों का किया लोकार्पण , कुपोषण पर होगा प्रहार ◾जम्मू-कश्मीर : उरी सेक्टर में पकड़ा गया पाकिस्तानी घुसपैठिया, एक आतंकवादी ढेर ◾बिहार: केंद्र से झल्लाई JDU, कहा - हमलोग थक चुके हैं, अब नहीं करेंगे विशेष राज्य का दर्जा देंगे की मांग◾

Cyclone यास के दौरान ओडिशा और बंगाल में ऑक्सजीन प्लांट्स को संचालित रखना हमारी प्राथमिकता : NDRF

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने अपने बचाव दलों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल में लगे देश के बड़े चिकित्सकीय ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र चक्रवात ‘यास’ के दौरान भी ‘‘चलते रहें और काम करते रहें।’’ यह जानकारी सोमवार को एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी।

एनडीआरएफ के महानिदेशक एस. एन. प्रधान ने बताया कि बल ने राहत एवं बचाव अभियान के लिए कुल 149 टीम काम पर लगाई हैं, जिसमें से 99 को जमीन पर तैनात किया गया है जबकि शेष 50 देश के विभिन्न हवाई अड्डों पर तैनात रहेंगी, ताकि जरूरत पड़ने पर त्वरित वायु परिवहन की सुविधा दी जा सके।

प्रधान ने कहा कि जिन राज्यों के ‘काफी तीव्र चक्रवाती तूफान’ से प्रभावित होने की आशंका है, उनसे कहा गया है कि हर व्यक्ति को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जाए और ‘‘इसमें कोताही नहीं बरती जाए।’’ चक्रवात ताउते के दौरान पश्चिम तट पर समुद्र के अंदर हुई दुर्घटना को देखते हुए यह परामर्श जारी किया गया है। ताउते के कारण मुंबई के समुद्री तट पर एक बजरे में कार्यरत अभी तक 70 कर्मियों के मारे जाने की सूचना है।

चक्रवात यास उत्तर ओडिशा- पश्चिम बंगाल के तटों के बीच पारादीप और सागर प्रायद्वीप से 26 मई की दोपहर को गुजर सकता है। इस दौरान 155 से 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। प्रधान ने कहा, ‘‘ओडिशा और पश्चिम बंगाल दोनों दक्षिणी, उत्तरी और मध्य ग्रिड के लिए चिकित्सकीय ऑक्सीजन के बड़े आपूर्तिकर्ता हैं। (चिकित्कीय ऑक्सीजन की जरूरत कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए पड़ती है।)’’

उन्होंने कहा, ‘‘उदाहरण के लिए अंगुल (ओडिशा) से ऑक्सीजन रेलगाड़ी और सड़क मार्ग से मध्य, दक्षिण और उत्तर भारत के कई हिस्सों में पहुंचाई जाती है। इसी तरह कोलकाता और हल्दिया (पश्चिम बंगाल) से उत्पादित ऑक्सीजन उत्तर, पूर्वी और देश के पूर्वोत्तर राज्यों में भेजी जाती है।’’ उन्होंने कहा कि इन सभी संयंत्रों को ‘‘चालू हालत में रखना है’’। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कोविड-19 देखभाल केंद्रों को भी हर संभावित क्षति से बचाना है और रोगियों को जल्द से जल्द सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाना है।

तेज होकर चक्रवाती तूफान में तब्दील हुआ 'यास', जल्द ओडिशा-बंगाल के तटों से गुजरने की संभावना