पटना  : राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार माननीय उच्चतम न्यायालय ने बिहार सरकार पर टिप्पणी की है ऐसी स्थिति में नीतीश कुमार को चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए उच्चतम न्यायालय ने बिहार सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया और नीतीश कुमार अपने को पाक साफ दिखलाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन बृजेश ठाकुर और नीतीश कुमार के संबंध जगजाहिर नीतीश कुमार जब मुख्यमंत्री थे तो 2013 में बृजेश ठाकुर के संस्था को 9 जगहों पर बालिका गृह चलाने का आदेश मिला जितने भी बालिका गृह चलाने का आदेश मिला वह सब नीतीश कुमार के शासन में ही हुआ सभी शेल्टर होम को बृजेश ठाकुर को देने का काम नीतीश कुमार ने किया इस बात की जांच होनी चाहिए कि किस परिस्थिति में सारे के सारे शेल्टर होम को चलाने का जिम्मा बृजेश ठाकुर को मिला श्री शिवानंद तिवारीने कहा की बृजेश ठाकुर का जो अखबार चलता था उसमें सरकारी विज्ञापन करोड़ों में मिलते थे तो यह भी जांच होनी चाहिए की नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनने के बाद सरकारी विज्ञापन मिलता था या उससे पहले श्री तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार में अगर थोड़ा सा भी लाज लिहाज होगा तो वह अभिलंब इस्तीफा दे ।

श्री शिवानंद तिवारीने कहा की संजय झा का संबंध नीतीश कुमार से क्या है यह सभी लोग जानते हैं यह जगजाहिर है संजय झा की पत्नी प्रज्ञा भारतीय को 2017 में परिहार संगठन को बालिका गृह चलाने का जिम्मा मिला उसके बाद से नीतीश कुमार जब भी मधुबनी जाते थे तो सर्किट हाउस में ना ठहरकर संजय झा के द्वारा आलीशान रूम में ठहरते थे संजय झा के अगल-बगल के लोग पूछूं करते हैं। संवाददाता सम्मेलन में अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रामबली चंद्रवंशी, चितरंजन गगन भाई अरुण कुमार, उपेंद्र चंद्रवंशी एवं सरदार रंजीत सिंह भी उपस्थित हुए।