BREAKING NEWS

सरदार सरोवर का गेट खोलने की मांग को लेकर मेधा पाटकर मंगलवार को निकालेंगी रैली ◾PM मोदी अपने जन्मदिन के मौके पर नर्मदा बांध का करेंगे दौरा ◾नितिन गडकरी बोले- सिर्फ आरक्षण से किसी समुदाय का विकास सुनिश्चित नहीं हो सकता ◾TOP 20 NEWS 16 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर बोले- जल्द ही पूरी दुनिया में उपलब्ध होगा दूरदर्शन इंडिया◾योगी सरकार को इलाहाबाद HC से झटका, 17 OBC जातियों को SC में शामिल करने पर रोक◾शरद पवार का ऐलान- महाराष्ट्र में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी NCP और कांग्रेस◾हिंदी को लेकर अमित शाह के बयान पर बोले कमल हासन - कोई 'शाह' नहीं तोड़ सकता, 1950 का वादा◾CJI रंजन गोगोई बोले-जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट◾गंगवार के बयान पर प्रियंका का वार, कहा-मंत्री जी, 5 साल में कितने उत्तर भारतीयों को दी हैं नौकरियां◾SC ने गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की दी अनुमति, कोई राजनीतिक रैली न करने का दिया आदेश◾हिंद महासागर में दिखा चीनी युद्धपोत जियान-32, अलर्ट पर भारतीय नौसेना◾कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के लिए हरसंभव प्रयास करें केंद्र : सुप्रीम कोर्ट◾SC ने फारूक अब्दुल्ला को पेश करने संबंधी याचिका पर केंद्र को जारी किया नोटिस ◾जन्मदिन पर चिदंबरम को बेटे कार्ति का पत्र, लिखा-कोई 56 इंच वाला आपको रोक नहीं सकता◾Howdy Modi कार्यक्रम में शामिल होने के ट्रंप के फैसले की PM ने की प्रशंसा, ट्वीट कर कही यह बात◾अयोध्या विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्वाणी अखाड़े ने सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता पैनल को लिखा पत्र◾पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तिहाड़ जेल में मनाएंगे अपना 74वां जन्मदिन◾‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होंगे ट्रम्प, भारतीय-अमेरिकी लोगों को एक साथ करेंगे संबोधित◾पुंछ: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, तीन जवान घायल◾

अन्य राज्य

सबरीमला पर सरकार के रूख में कोई बदलाव नहीं : पिनराई विजयन

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बृहस्पतिवार को कहा कि सबरीमला पर माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ सरकार के रूख में कोई बदलाव नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा ने नये कानून के नाम पर श्रद्धालुओं को ‘‘धोखा’’ दिया है। 

विजयन ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सबरीमला पर राज्य सरकार के रूख में कोई बदलाव नहीं आया है। हमारा रूख उच्चतम न्यायालय के आदेश का क्रियान्वयन करने का था। यदि न्यायालय कोई और आदेश देता है तो हम उसके मुताबिक काम करेंगे।’’ 

गौरतलब है कि शीर्ष न्यायालय ने पिछले साल 28 सितंबर को सभी उम्र की महिलाओं को सबरीमला स्थित भगवान अयप्पा मंदिर में पूजा अर्चना करने की इजाजत दे दी थी। एलडीएफ सरकार ने जब अदालत के फैसले को लागू करने की घोषणा की थी तब समूचे राज्य में भाजपा और दक्षिणपंथी संगठनों ने प्रदर्शन किये थे। 

विजयन ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘किसी को यह सोचने की जरूरत नहीं है कि राज्य में लोकसभा चुनाव के नतीजे निर्धारित करने के जो कारण रहे थे, वही पाला विधानसभा सीट उपचुनाव के परिणाम को भी प्रभावित करेंगे। भाजपा ने हमेशा ही सबरीमला का इस्तेमाल किया। यह हमें प्रभावित नहीं करने जा रहा।’’ 

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में राज्य की कुल 20 सीटों में विपक्षी कांग्रेस नीत यूडीएफ ने 19 सीटों पर जीत दर्ज की थी जबकि एलडीएफ महज एक सीट जीत पाई थी। 

विजयन ने कहा कि भाजपा ने अपने झूठे वादों में यकीन करने वाले लोगों को धोखा दिया है। दरअसल, भाजपा ने दावा किया था कि केंद्र सरकार (सबरीमला पर शीर्ष न्यायालय के फैसले को नाकाम करने के लिए) एक नया कानून लाएगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कहां हैं वे लोग, जिन्होंने दावा किया था कि वे सबरीमला से जुड़े विषय पर एक नया कानून लाएंगे ? अब वे (भाजपा) कह रहे हैं कि यह संभव नहीं है। क्या उन्होंने उन लोगों को धोखा दिया, जिन्होंने उन पर भरोसा किया था।’’ 

उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी श्रद्धालुओं के साथ है। उन्होंने कहा कि कुछ पार्टियां देश का संविधान फिर से लिखना चाहती है। लेकिन अभी एक निर्वाचित सरकार संविधान के मुताबिक ही काम करेगी। वहीं,विजयन के बयानों पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए भाजपा ने कहा कि यह वाम दल के वैचारिक दिवालियेपन को प्रदर्शित करता है। 

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि माकपा और राज्य सरकार सबरीमला पर अपने दोहरे मानदंड से लोगों को ठग रही है।