BREAKING NEWS

रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ PMLA मामला : प्रवासी कारोबारी थम्पी की हिरासत 4 दिनों के लिए बढ़ी ◾3-4 दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा : बी एस येदियुरप्पा◾CAA के बाद देश से वापस लौटने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है : BSF◾TOP 20 NEWS 24 January : आज की 20 सबसे बड़ी ◾विजयवर्गीय के पोहे वाले बयान पर जावड़ेकर बोले- मैं भी पोहा खाता हूं ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- चुनाव काम के आधार पर लड़ा जाएगा, न कि जाति या धर्म के आधार पर◾कांग्रेस, आप ने वोट बैंक की राजनीति की, भाजपा जो कहती है, वह करती है : नड्डा ◾प्रधानमंत्री मोदी बोले- भारत सिर्फ 130 करोड़ लोगों का घर ही नहीं बल्कि एक जीवंत परंपरा है◾भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-0 से आगे ◾कोरोना वायरस : मुंबई में मिले दो संदिग्ध मरीज, कस्तूरबा अस्पताल में बनाया गया विशेष वार्ड◾महाराष्ट्र : राकांपा नेता नवाब मलिक बोले- मोदी सरकार ने पवार के दिल्ली स्थित आवास से सुरक्षा हटाई◾योग गुरु बाबा रामदेव बोले-महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करे सरकार◾जेएनयू छात्रों को दिल्ली HC ने दी राहत, कहा- पुरानी फीस पर ही होगा छात्रों का रजिस्ट्रेशन◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : कपिल मिश्रा के विवादित बयान पर सिसोदिया का पलटवार, कहा- जीतेगा तो भारत ही◾CM केजरीवाल ने शाह के बयान पर साधा निशाना, बोले- सिर्फ वाईफाई नहीं, बैटरी चार्जिग भी फ्री है◾पाकिस्तान वाले ट्वीट पर कपिल मिश्रा को EC का नोटिस, बोले-सच बोलना इस देश में अपराध नहीं◾BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने खान-पान का तरीका देख मजदूरों को बताया बांग्लादेशी◾ उत्तर प्रदेश में CAA के खिलाफ अनोखा विरोध, कब्रिस्तान पहुंच कर पूर्वजों की कब्र पर रोने लगे कांग्रेसी नेता◾विधानसभा चुनाव : आज दिल्ली में 3 सार्वजनिक रैलियों को संबोधित करेंगे अमित शाह ◾चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हुई, 830 मामलों की पुष्टि ◾

महाराष्ट्र में BJP की कोर समिति की सदस्य नहीं, बावजूद पार्टी नहीं छोड़ूंगी : पंकजा मुंडे

महाराष्ट्र की बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने गुरुवार को कहा कि वह अब पार्टी की प्रदेश कोर समिति की सदस्य नहीं हैं लेकिन वह संगठन नहीं छोड़ेंगी। दिवंगत पिता गोपीनाथ मुंडे की जंयती पर बीड में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए पंकजा ने कहा कि बीजेपी उनके पार्टी में रहने को लेकर फैसला करने के लिए स्वतंत्र है। 

उल्लेखनीय है कि पंकजा पिछले पांच साल से अपने पिता की जयंती पर रैली आयोजित करती रहीं हैं लेकिन इस साल राजनीतिक परिस्थितियों की वजह से लोगों में इसको लेकर कौतुहल था। कयास लगाए जा रहे थे कि वह 21 अक्टूबर को चुनाव में मिली आश्चर्यजनक हार के बाद बीजेपी छोड़ सकती हैं। इन कयासों को तब बल मिला जब उन्होंने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि राजनीतिक पृष्टभूमि में बदलाव के बाद भविष्य की राह और लोगों की सेवा को लेकर विचार करने की जरूरत है। 

केंद्र सरकार ने पूर्वोत्तर में कश्मीर जैसी स्थिति दोहराई : कांग्रेस

पंकजा मंगलवार को राज्य बीजेपी कोर समिति की बैठक में भी शामिल नहीं हुई और गुरुवार को उन्होंने घोषणा की कि वह अब कोर समिति की सदस्य नहीं हैं। अपने भाषण में पंकजा ने हालिया विधानसभा चुनाव में पर्ली सीट से अपने रिश्ते के भाई और राकांपा नेता धनंजय मुंडे से मिली हार का उल्लेख करते हुए कहा कि कुछ बीजेपी नेता (परोक्ष रूप से देवेंद्र फडणवीस के लिए) इस सीट से उनकी जीत नहीं चाहते थे। 

पंकजा ने कहा कि वह जनवरी में पूरे महाराष्ट्र में ‘‘ मशाल रैली’’ निकालेंगी। गोपीनाथ गड में रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ मैं अगले साल जनवरी से पूरे महाराष्ट्र में मशाल रैली की शुरुआत करने जा रही हूं। मैं अपने काम की शुरुआत 26 जनवरी को मुंबई स्थित गोपीनाथ मुंडे प्रतिष्ठान से करूंगी।’’ पंकजा ने कहा, ‘‘ मैं मराठवाड़ा क्षेत्र की समस्याओं के प्रति सरकार का ध्यान आकर्षित कराने के लिए 27 जनवरी को औरंगाबाद में सांकेतिक अनशन करूंगी।’’