BREAKING NEWS

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सुबह 4 बजे से शुरू हो जाएगी दिल्ली मेट्रो ◾लोकसभा में आज पेश होगा तीन तलाक पर रोक लगाने वाला विधेयक ◾PM पहुंचे रांची , प्रधानमंत्री मोदी आज 40 हजार लोगों के साथ करेंगे योग◾राहुल अध्यक्ष रहेंगे या नहीं, असमंजस बरकरार◾दाभोलकर हत्याकांड : अदालत ने पुणलेकर को 23 जून तक CBI हिरासत में भेजा◾आदिवासियों के कानून पर टिप्पणी मामले में राहुल का जवाब - भाषण के प्रवाह में बहकर दिया गया था बयान ◾TDP के सांसदों के BJP में शामिल होने पर नायडू ने कहा - पार्टी के लिए संकट नई बात नहीं ◾बंगाल कांग्रेस में खुलकर सामने आई कलह, कई नेताओं ने विरोध मार्च में नहीं लिया हिस्सा◾राज्यसभा में TDP टूटी, दो तिहाई सांसद BJP में शामिल◾सुनिश्चित करेंगे कि महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री हमारी पार्टी से हो : शिवसेना ◾हिमाचल प्रदेश : कुल्लू के बंजार में दर्दनाक बस हादसे में 20 की मौत, 35 घायल ◾राम मंदिर पर अध्यादेश लायी सरकार तो देंगे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती : बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी ◾Top 20 News - 20 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾सभी दल राज्यसभा की सुचारु कार्यवाही सुनिश्चित करें : वेंकैया नायडू ◾राज्यसभा में तेदेपा टूट की कगार पर, नया गुट बना कर चार सदस्य कर सकते हैं भाजपा का समर्थन ◾कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव के सवाल पर बोलीं सोनिया गांधी- 'नो कमेंट'◾राहुल की नजर मोबाइल पर होने का आरोप लगाना भाजपा को शोभा नहीं देता : कांग्रेस ◾अगले कांग्रेस अध्यक्ष के सवाल पर बोले राहुल गांधी - मैं नहीं, पार्टी तय करेगी मेरा उत्तराधिकारी◾बाबुल सुप्रियो ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- मोबाइल फोन पर मशगूल थे अभिभाषण में रुचि नहीं◾पश्चिम बंगाल : भाटपारा में दो गुटों के बीच हिंसा में एक की मौत, तीन घायल ◾

अन्य राज्य

अलौकिक सुखों को प्रदान करता है पारद शिवलिंग पूजन : बाबा भागलपुर

भागलपुर : पारद शम्भू बीज है। यानी पारद की उत्पत्ति देवाधिदेव महादेव के वीर्य से हुई मानी गई है। इस संबंध में राष्ट्रीय सम्मान से अलंकृत व अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ज्योतिष योग शोध केन्द्र, बिहार के संस्थापक दैवज्ञ पं. आर. के. चौधरी बाबा.भागलपुर, भविष्यवेत्ता एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ ने शास्त्रोंक्त मतानुसार बतलाया कि पारद शिव लिंग को साक्षात शिव माना गया हैए इसलिए पारद शिव लिंग का पूजन करना सर्वाधिक महत्वपूर्ण है।

शुद्ध पारद संस्कार द्वारा बंधन करके बनाया जाता है। वह स्वयं सिद्ध है। वाणभट्ट के मतानुसार, जो पारद शिव लिंग का भक्ति सहित पूजन करता है उसे तीनों लोक में स्थित शिव लिंगो के पूजन का फल प्राप्त होता है। पारद शिव लिंग का दर्शन करने से उत्कृष्ट फलों की प्राप्ति होती है। इसके दर्शन से सैकड़ों अश्वमेघ यज्ञों के बराबर पुण्य अर्जित होता है तथा करोड़ों गोदान करने एवं हजारों स्वर्ण मुद्रा के दान करने के बराबर फल मिलता है।

जिस घर में पारद शिव लिंग का नियमित पूजन होता है वहां सभी प्रकार के लौकिक और पारलौकिक सुखों की प्राप्ति होती है। किसी भी प्रकार की कमी उस घर में नहीं होती क्योंकि वहां रिद्धि-सिद्धि और मां महालक्ष्मी का वास होता है। साक्षात भगवान शिव वहां बिराजते हैं। इसलिए समस्त दोष व विपदा समाप्त हो जाते हैं। अगर नियमित रूप से प्रत्येक सोमवार को पारद शिव लिंग पर अभिषेक किया जाय तो बुरी से बुरी शक्तियों का भी प्रभाव नष्ट हो जाता है। इसलिए जीवन में पारद शिव लिंग का पूजन सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं।