BREAKING NEWS

केजरीवाल ने LG से बात की, शांति बहाल करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का किया अनुरोध◾ग्रेटर नोएडा में बिरयानी विक्रेता की पिटाई, सभी आरोपी गिरफ्तार ◾नागरिकता कानून का विरोध : दिल्ली में आगजनी, हिंसा : पुलिसकर्मी जख्मी, बसों में आग लगाई◾केजरीवाल ने नागरिकता अधिनियम पर शांति की अपील की ◾TOP 20 NEWS 15 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾गुवाहाटी में पुलिस गोलीबारी में घायल हुए 2 और लोगों की हुई मौत, अब तक 4 की गई जान◾नागपुर में बोले फडणवीस- सावरकर पर टिप्पणी के लिए माफी मांगें राहुल गांधी◾कांग्रेस ने नागरिकता कानून को लेकर बवाल खड़ा किया : PM मोदी◾महाराष्ट्र: प्रदर्शन के बाद PMC के जमाकर्ता हिरासत में, CM उद्घव ने मदद का दिलाया भरोसा◾नागरिकता कानून वापस लेने के लिए याचिका दायर करेगी BJP की सहयोगी असम गण परिषद◾वीर सावरकर पर बयान देकर मुश्किल में फंसे राहुल, पोते रंजीत ने की कार्रवाई की मांग◾सावरकर वाले बयान पर कांग्रेस पर हमलावर हुई मायावती, कहा- अब भी शिवसेना के साथ क्यों, यह आपका दोहरा चरित्र नहीं?◾नेपाल के सिंधुपलचौक में यात्रियों से भरी बस दुर्घटनाग्रस्त, 14 लोगों की दर्दनाक मौत◾भारतीय मुसलमान घुसपैठिए और शरणार्थी नहीं, डरना नहीं चाहिए : रिजवी◾निर्भया के दोषियों को फांसी देना चाहती हैं इंटरनेशनल शूटर वर्तिका, अमित शाह को खून से लिखा खत ◾पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन, कई स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध◾नागरिकता संशोधन बिल में बदलाव को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने दिए संकेत◾अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल हुईं बेहोश, LNJP अस्पताल में भर्ती◾CAB के खिलाफ प्रदर्शनों के बाद आज गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील◾झारखंड विधानसभा चुनाव: देवघर में प्रत्याशियों की आस्था दांव पर◾

अन्य राज्य

तृणमूल कांग्रेस नेता बोले- लोगों के सवालों का जवाब देने में पार्टी कर रही मुश्किल स्थिति का सामना

 tmc

तृणमूल कांग्रेस के नेता और मंत्री पश्चिम बंगाल में पार्टी के जनसंपर्क अभियान के लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं। हालांकि, उनमें से कई को ‘कट मनी’ और स्थानीय नेतृत्व के ‘अहंकार’ पर सवालों का जवाब देते नहीं बन रहा है। पार्टी के एक पदाधिकारी ने यह जानकारी दी। 

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर और उनकी कंपनी ‘इंडियन पॉलीटिकल एक्शन कमेटी’(आईपीएसी) की सलाह पर तृणमूल कांग्रेस के 1,000 से अधिक नेता अगले 100 दिनों में 10,000 गांवों की यात्रा करेंगे, स्थानीय लोगों के साथ वक्त बिताएंगे और उनकी शिकायतों का निवारण करेंगे। हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में उम्मीद के मुताबिक सीटें नहीं जीतने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने किशोर और आईपीएसी की सेवा लेने का फैसला किया था। 

तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने कहा, "कुछ लोग खुश हैं, लेकिन ऐसे भी लोग हैं जो 'कट मनी', स्थानीय नेताओं के अहंकार एवं बदसलूकी तथा उनके खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर हमसे सवाल कर रहे हैं। इन सवालों का जवाब देने में हमें मुश्किल स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।" जनसंपर्क अभियान में भाग लेने वाले पार्टी के नेताओं एवं मंत्रियों में रवींद्रनाथ घोष, ज्योतिप्रियो मलिक, अब्दुर रजाक मुल्ला शामिल हैं। 

पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा, "कई सारे लोगों ने हमसे पूछा कि हम भ्रष्ट और अहंकारी नेताओं को पार्टी से निकाल बाहर करने में क्यों हिचक रहे हैं? हम अपने अवलोकन को पार्टी नेतृत्व से साझा करेंगे।" 

गौरतलब है कि तृणमलू कांग्रेस एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जून में पार्टी के पार्षदों को भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने के खिलाफ और कट मनी या सरकारी योजनाओं का फायदा देने के एवज में लोगों से अवैध कमीशन लेने के खिलाफ भी आगाह किया था। मुख्यमंत्री ने पार्टी पदाधिकारियों से लोगों के सीधे संपर्क करने के लिए हाल ही में एक टोल फ्री नंबर और वेबसाइट भी शुरू किया है।