BREAKING NEWS

यूपी की राह पर शिवराज सरकार - ‘लव जिहाद’ के दोषी को होगी 10 साल की सजा, लाएंगे विधेयक◾यूपी में योगी सरकार ने एस्मा लागू किया, अगले 6 माह तक नहीं होगी हड़ताल ◾लखनऊ विश्वविद्यालय : सामर्थ्य के इस्तेमाल का बेहतर उदाहरण है रायबरेली का रेल कोच फैक्ट्री- PM मोदी◾असंतुष्ट नेताओं से ममता बनर्जी की अपील : पार्टी को गलत मत समझिए, हम गलतियों को सुधारेंगे◾कोरोना के खिलाफ केंद्र ने कसी कमर, 31 दिसंबर तक के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, जानें क्या हैं नियम◾लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक में विलय को मिली मंजूरी , सरकार ने निकासी की सीमा भी हटाई ◾ललन पासवान बोले-मुझे लगा लालू जी ने बधाई देने के लिए फोन किया, लेकिन वे सरकार गिराने की बात करने लगे◾पंजाब में एक दिसंबर से नाइट कर्फ्यू, कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर 1000 का जुर्माना◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾निर्वाचित प्रतिनिधियों की अनुशासनहीनता से उन्हें चुनने वाले लोगों की भावनाएं आहत होती हैं : कोविंद◾भारत में बैन हुए 43 मोबाइल ऐप पर ड्रैगन को लगी मिर्ची, व्यापार संबंधों की दी दुहाई ◾भाजपा MP के विवादित बोल - रोहिंग्याओं, पाकिस्तानियों को भगाने के लिए भाजपा करेगी 'सर्जिकल स्ट्राइक'◾विपक्ष के जबरदस्त हंगामे के बीच NDA के विजय सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर◾सुशील मोदी का दावा-लालू ने BJP MLA को दिया मंत्री पद का लालच, ट्विटर पर जारी किया ऑडियो◾UN में 'झूठ का डोजियर' पेश करने के लिए भारत ने पाक को लगाई फटकार, कहा- यह उसकी पुरानी आदत ◾लव जिहाद के खिलाफ UP सरकार के फैसले का अनिल विज ने किया स्वागत, बोले-योगी जिंदाबाद◾विश्व के 191 देशों में कोरोना का कहर तेज, अब तक 14 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾सोनिया और राजीव के विश्वासपात्र रहे अहमद पटेल थे कांग्रेस के असली संकटमोचक◾Weather update : जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी से उत्तर भारत में बढ़ी ठंड ◾देश में कोरोना एक्टिव केस में बढ़ोतरी, संक्रमितों का आंकड़ा 92 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैया के नजरबंद वाले आरोपों से पुलिस ने किया इनकार

लखनऊ के घंटाघर पर सीएए के खिलाफ धरना प्रदर्शन के दौरान एक चेहरा बनकर उभरी मशहूर शायर मुनव्वर राना की बेटी एवं सामाजिक कार्यकर्ता सुमैया राना ने खुद को 'नजरबंद' किए जाने का आरोप लगाया है। हालांकि पुलिस ने उनके इन आरोपों को गलत करार दिया है। 

सुमैया की प्रदेश में कोविड-19 महामारी से निपटने के सरकारी प्रबंधों की नाकामी के खिलाफ मुख्यमंत्री आवास के पास स्थित कालिदास मार्ग चौराहे पर प्रदर्शन की योजना थी। सुमैया ने बुधवार को बताया कि कैसरबाग स्थित उनके घर के बाहर सोमवार रात से पुलिस का कड़ा पहरा बैठाकर उन्हें घर में नजरबंद करा गया है।

 उन्होंने कहा कि धरना प्रदर्शन की योजना अपनी जगह है लेकिन उनकी अपनी व्यक्तिगत जिंदगी भी है और उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है, जो उनके व्यक्तिगत अधिकारों का हनन है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को लाल कुआं क्षेत्र स्थित उनके पिता मुनव्वर राना के घर के बाहर भी पुलिस तैनात की गई थी। 

सुमैया ने बताया कि पुलिस ने उन्हें नजरबंदी के सिलसिले में कोई आदेश या नोटिस नहीं दिखाया है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को उन्हें पुलिस का एक नोटिस मिला है जिसमें कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर किसी भी तरह के धरना प्रदर्शन पर पाबंदी लगाई गई है। 

सुमैया ने बताया कि नोटिस में यह भी कहा गया है कि हाई कोर्ट ने अपने एक आदेश में हजरतगंज तथा गौतम पल्ली इलाके में धरना प्रदर्शन को प्रतिबंधित कर दिया है। उन्होंने कहा कि उनकी अगुवाई में मंगलवार को प्रदेश में कोविड-19 महामारी से निपटने के सरकारी प्रबंधों की नाकामी के खिलाफ मुख्यमंत्री आवास के पास स्थित कालिदास मार्ग चौराहे पर प्रदर्शन होना था। 

उन्होंने कहा,‘‘शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करना हमारा संवैधानिक अधिकार है जिसे सरकार छीनने की कोशिश कर रही है।’’ सुमैया ने कहा कि बेहतर इंतजाम के सरकार के तमाम दावों के बावजूद राज्य में कोविड-19 महामारी से निपटने की व्यवस्थाएं चरमरा चुकी हैं और सरकार की नाकामियों के खिलाफ आवाज उठाना जनता का हक है। 

इस बीच, पुलिस ने सुमैया के खिलाफ कोई भी कार्रवाई किए जाने से इनकार किया है कैसरबाग के थानाध्यक्ष दीनानाथ मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने सुमैया को नजरबंद नहीं किया है। उन्होंने यह भी कहा कि सुमैया के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।