BREAKING NEWS

देश में एक दिन में कोरोना के 70 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 61 लाख के पार◾ विश्व में कोरोना वायरस का कहर तेज, पॉजिटिव केस 3 करोड़ 32 लाख के पार ◾उत्तर प्रदेश : हाथरस में सामूहिक बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत◾TOP 5 NEWS 29 SEPTEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾ अमेरिका में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 71 लाख से अधिक, ये प्रांत बुरी तरह प्रभावित ◾J&K के पुंछ में पाकिस्तान ने LOC पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया, सेना ने दिया मुहतोड़ जवाब◾आज का राशिफल (29 सितम्बर 2020)◾MI vs RCB (IPL 2020) : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की मुंबई इंडियन्स पर सुपर ओवर में रोमांचक जीत◾सुशांत केस: AIIMS ने सीबीआई को सौंपी रिपोर्ट, जांच की रफ्तार होगी तेज◾पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल : पुलिस अधिकारी पदमुक्त, सरकार ने जारी किया 'कारण बताओ नोटिस'◾कोविड-19 को लेकर बोली दिल्ली सरकार - दिल्ली में शुरू हो चुका है कोरोना का डाउनट्रेंड◾शिरोमणि अकाली दल ने किया ऐलान - दिल्ली में बीजेपी गठबंधन के सभी पद छोड़ेगा अकाली दल◾अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न मुद्दों पर स्थिति की समीक्षा की◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 11,921 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 13.51 लाख के पार ◾IPL-13: डिविलियर्स-फिंच का तूफानी अर्धशतक, बेंगलोर ने मुंबई को दिया 202 रनों का लक्ष्य ◾रक्षा मंत्रालय बड़ा फैसला - 2,290 करोड़ रुपये के सैन्य उपकरणों की खरीद को मंजूरी दी ◾प. बंगाल के राज्यपाल की ममता सरकार को चेतावनी - संविधान की रक्षा नहीं हुई तो कार्रवाई होगी◾‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत प्रधानमंत्री मोदी उत्तराखंड में छह बड़ी परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾सचिन पायलट का केन्द्र सरकार पर वार - चुनौतीपूर्ण समय में किसानों के साथ किया विश्वासघात◾कोरोना महामारी ने किसी एक स्रोत पर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की निर्भरता के जोखिम को उजागर किया : मोदी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

‘डेंगू सिटी’ पर गर्मायी सियासत

हल्द्वानी : लापरवाह जनप्रतिनिधियों व संवेदनहीन अधिकारियों की वजह से हल्द्वानी में दो महीने में भी डेंगू नियंत्रित नहीं हो सका। स्वास्थ्य विभाग की महज औपचारिकता भर के लिए की जा रही कार्रवाई का कोई असर नहीं दिख रहा है। वहीं, नगर निगम की कार्यप्रणाली को लेकर लोगों में गहरी नाराजगी है। महामारी की तरह शहर को अपनी चपेट में ले चुके डेंगू से बचने के लिए सरकारी अस्पतालों में हायतौबा मची है। लोग दहशत में हैं। 

कुछ निजी क्लीनिकों व लैबों में  मरीज लुट रहे हैं। इसके बावजूद हमारा तंत्र कहीं भी अलर्ट मोड में  नजर नहीं आया। इससे अधिक शर्मनाक स्थिति क्या होगी, जब पूरी व्यवस्था डेंगू  के खत्म होने के लिए ठंड का इंतजार करने लगी है। यानी सिस्टम खुद असहाय हो चुका है। जिस हल्द्वानी को क्लीन सिटी कहा जाता है, वहां सिस्टम की लापरवाही के चलते डेंगू ने इस कदर पांव पसार दिए हैं कि इसे अब डेंगू सिटी  कहना गलत नहीं होगा। 

पिछले एक पखवाड़े से शहर में डेंगू का कहर है और सरकारी तथा प्राइवेट अस्पतालों में हर आम आदमी व खास वर्ग के लिए व्यवस्था भी भाजपा और कांग्रेस बीच बंट गई है। कभी मंत्री के रूप में शहर के विकास के लिए अपना एलोकेट करने का आर्डर करने वाली इंदिरा ह्दयेश यद्यपि पिछले दिनों धरने पर भी बैठी। इंदिरा ह्दयेश आवाज जरूर बुलंद करती रहती है। 

इंदिरा ने उपवास के माध्यम से लोगों के बीच अपनी उपस्थिति रखी तो वहीं कांग्रेसी भी एकजुट हो रहे है, लेकिन शून्य स्तर पर कांग्रेस का दयनीय प्रदर्शन उनके मार्ग में आड़े आ रहा है। बातचीत में वह कहती है कि प्रदेशवासियों के लिए भाजपा सरकार कुछ नहीं कर रही है विकास कार्य ठप्प है लेकिन हम चुप नहीं बैठैगे तथा डेंगू से निपटने के लिए सरकारी प्रशासन कुंभकर्ण की नींद में है लेकिन हम उन्हें जगाते रहेंगे।