BREAKING NEWS

छत्तीसगढ़: कोयला लेवी 'घोटाला', मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED ने चार लोगों को गिरफ्तार किया ◾Maharashtra: शरद पवार बोले- वंचित बहुजन अघाड़ी के बारे में MVA के घटक दलों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई है◾कई विवादों और आरोप-प्रत्यारोप के बीच सुर्खियों में बनी रही भारत जोड़ो यात्रा◾ मैं यज्ञ में शाम‍िल होने आया तो BJP ने मुझे रोकने के ल‍िए गुंडे भेजे- अख‍िलेश यादव◾ Kangana Ranaut: कंगना रनौत ने ट्वीट कर बॉलीवुड वालों को दी नसीहत, कहा- मत बनाओ हिंदू नफरत का नैरेटिव ◾लद्दाख : -20 डिग्री में लद्दाख को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे 'सोनम वांगचुक' को सरकार ने किया नजरबंद ! ◾मायावती ने कहा, 'अडाणी समूह पर लगे आरोपों पर वक्तव्य जारी करे सरकार'◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾Weather Update: पंजाब और हरियाणा में कड़ाके की ठंड जारी, जानें अपने शहर का हाल ◾यरूशलम में हुआ आतंकी हमला: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने इजराइली प्रधानमंत्री से की बात ◾स्वामी प्रसाद मौर्य के बिगड़े बोल: संतों-धर्माचार्यों को बताया आतंकवादी और जल्लाद◾आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर◾Delhi University: डीयू ने BBC वृत्तचित्र की स्क्रीनिंग को लेकर हुए हंगामे की जांच के लिए बनाई समिति ◾झारखंड के अस्पताल में लगी भयानक आग डॉक्टर समेत 6 लोग जिंदा जल कर हुए राख◾जयराम रमेश बोले- कांग्रेस को 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए किसी भी विपक्षी गठबंधन का आधार बनना होगा◾Tripura Assembly Election: चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची◾ AAP सांसद राघव चड्ढा इंडिया-यूके आउटस्टैंडिंग अचीवर्स अवॉर्ड से हुए सम्मानित◾यूपी: हत्या के प्रयास के मामले में सपा विधायक नाहिद हसन बरी◾Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए CRPF के जवानों को दी श्रद्धांजलि◾

पुडुचेरी में शुरू हुआ सत्ता का खेल, मुख्यमंत्री पद पर भाजपा की नजर

राजनीति में कौन किसका साथी है और कौन कब किसके साथ धोखा कर दे, यह तो कोई नहीं बता सकता है। लेकिन फिलहाल पुडुचेरी में कुछ ऐसा ही माहौल बना हुआ है, जिसके चलते वहां की सियासत में कुछ हलचल दिखाई दे रही है। पुडुचेरी मंत्रिमंडल के मंत्री रविवार को शपथ लेंगे, जिसमें भाजपा के दो मंत्री और अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस (एआईएनआरसी) के तीन मंत्रीॉ, मुख्यमंत्री एन. रंगासामी के 7 मई को पदभार ग्रहण करने के 51 दिन बाद कैबिनेट में शामिल होंगे। 

विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 10 सीटों पर चुनाव लड़ा था और पार्टी ने छह सीटें जीतीं। यह पहली बार था जब भगवा पार्टी ने केंद्रशासित प्रदेश में अपना खाता खोला। बीजेपी एआईएनआरसी के नेतृत्व वाली सरकार में जूनियर पार्टनर के तौर पर सत्ता साझा कर रही है।

रंगासामी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण के बाद, वह कोरोना संक्रमित हुए और उन्हें चेन्नई के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जब मुख्यमंत्री अस्पताल में थे, भाजपा ने अपने तीन नेताओं को विधायक के रूप में नामित किया और इस प्रकार 33 सदस्यीय सदन में पार्टी की संख्या नौ हो गई। 2021 के चुनावों में, रिकॉर्ड छह निर्दलीय जीते, और इसमें से तीन विधायकों ने भाजपा को अपना समर्थन दिया। 

इसने कई सिद्धांतों को जन्म दिया कि भाजपा अधिक मंत्री पद पाने के लिए एआईएनआरसी के साथ सौदेबाजी के खेल में प्रवेश करने की कोशिश कर रही थी। उसकी कोशिश है कि यदि संभव हो तो वह मंत्रिमंडल में ऊपरी स्थान हासिल करें।रंगासामी, जो चेन्नई के अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे, उन्होंने इस दौरान चुप्पी साधे रखी और पुडुचेरी के भाजपा नेतृत्व और यहां तक कि केंद्रशासित प्रदेश के पार्टी प्रभारी राजीव चंद्रशेखा के साथ बातचीत करना बंद कर दिया। 

भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को रंगासामी के साथ भाजपा के राज्य नेतृत्व के साथ-साथ चंद्रशेखर के साथ बातचीच शुरू करवाने के लिए काफी अनुनय-विनय करना पड़ा। मुख्यमंत्री ने अनिच्छा से सहमति व्यक्त की और इससे राज्य भाजपा और रंगासामी के बीच की खाई बढ़ गई। इस बीच, तमिलनाडु के जल संसाधन मंत्री और द्रमुक के वरिष्ठ नेता एस दुरईमुरुगन ने खुले तौर पर कहा कि भाजपा पिछले दरवाजे से सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश कर रही है।

के जीवनानंदन, राजनीतिक पर्यवेक्षक और माहे विकास मंच के निदेशक ने कहा, देश भर में भाजपा का ट्रैक रिकॉर्ड पुडुचेरी में हम जैसा देख रहे हैं वैसा ही है। इसने कांग्रेस पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं जैसे ए नामसिवयम और जॉन कुमार को अपने साथ कर लिया। इसी तरह, कई वरिष्ठ स्थानीय नेता भाजपा में शामिल हो गए। 

पुडुचेरी में में हो रही हलचल पर उन्होंने कहा, हालांकि भाजपा अभी भी देश के इस हिस्से में एक गैर-इकाई है और वे पिछले दरवाजे से प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हैं, जो एक स्वस्थ लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है। रंगासामी को अपने क्षेत्र की ठीक से रक्षा करनी होगी अन्यथा भाजपा बहुमत हासिल करने के लिए काम करेगी और पिछले दरवाजे से मुख्यमंत्री का पद पाने का प्रयास करेगी। 

रविवार को रंगासामी मंत्रिमंडल के विस्तार के साथ, राजनीतिक और सामाजिक हलकों में मिलियन-डॉलर का सवाल यह है कि क्या भाजपा गठबंधन को परेशान करेगी और ऊपरी हाथ हासिल करने की कोशिश करेगी या क्या वह जूनियर पार्टनर के रूप में संतुष्ट होगी। देश भर में भाजपा द्वारा अपनाई गई राजनीतिक लाइन इस बात का स्पष्ट संकेत है कि भगवा पार्टी प्रयोग के खिलाफ नहीं है और वह मुख्यमंत्री पद पाने के लिए कोशिश कर सकती है।