BREAKING NEWS

CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾लापता नहीं हुआ आतंकी मसूद अजहर, कड़ी सुरक्षा के बीच परिवार के साथ पाक में ही छिपा बैठा है◾विदेश मंत्री जयशंकर ने यूरोपीय संघ के नेताओं से की मुलाकात, विभिन्न मुद्दों पर की बात◾कोरोना वायरस से चीन में 1,868 लोगों की मौत, लगातार बढ़ रही मरने वालों की संख्या ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- दिल्ली में जल्द ही दूर होगी बसों की कमी◾स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बोला-'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना'◾केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾

CAA के खिलाफ प्रदर्शनों के कारण असम में पर्यटन पर असर

गुवाहाटी : असम में नये नागरिकता कानून को लेकर हालिया हिंसक प्रदर्शनों का राज्य के पर्यटन उद्योग पर असर पड़ा है और कई पर्यटक अपनी बुकिंग रद्द करा रहे हैं। हालांकि राज्य सरकार और संबंधित पक्षकार पर्यटकों का डर खत्म करने और उनमें पूर्वोत्तर राज्यों की यात्रा के लिये भरोसा पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। 

असम के पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक भास्कर फूकन ने बताया, प्रदर्शनों और उसके बाद लगे कर्फ्यू के दौरान कुछ लोग कुछ जिलों में फंस गए। हमने यह सुनिश्चित किया कि उनके ठहरने के दौरान उन्हें किसी कठिनाई का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा, हम उन्हें निकटतम रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों तक ले गए।

फूकन ने कहा कि आगंतुकों को पर्यटन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क करने के लिए कहा गया है जिनके संपर्क नंबर मीडिया के माध्यम से प्रदर्शित किए गए हैं। उन्होंने कहा, देश और दुनिया से लोग हमें फोन करके पूछ रहे हैं कि क्या असम की यात्रा करना सुरक्षित है। हमने उन्हें आश्वासन दिया है कि स्थिति सामान्य हो गई है। हालांकि रात में कर्फ्यू के कारण उन्हें उस समय यात्रा करने से रोका जा सकता है।