BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

राहुल ने केंद्र सरकार की नीतियों पर किया हमला, बोले-भाई को भाई से लड़ाकर देश का भला नहीं हो सकता

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को केंद्र सरकार की नीतियों पर जमकर हमला बोला और कहा कि विविधता में एकता हमारी ताकत है, और सभी को जोड़ने से ही देश की ताकत बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि भाई को भाई से लड़ाने से देश का भला नहीं हो सकता है। 

राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के उद्घाटन समारोह में कहा, 'बिना सबको साथ लिए, हर धर्म, हर जाति, आदिवासी, दलित, पिछड़ों को साथ लिए बिना देश की अर्थव्यवस्था नहीं चलाई जा सकती। जब तक इस देश के सभी लोगों को जोड़ा नहीं जाएगा, जब तक सभी की आवाज विधानसभा में, लोकसभा में सुनाई नहीं देगी, तब तक न तो बेरोजगारी के बारे में कुछ किया जा सकता है और न ही अर्थव्यवस्था के बारे में।' 

राहुल गांधी ने देश की अर्थव्यवस्था और कुछ चुनिंदा लोगों को सरकार द्वारा राहत दिए जाने का सवाल उठाते हुए कहा, 'इस अर्थव्यवस्था को किसान, मजदूर, गरीब, आदिवासी चलाते हैं। अगर पूरा पैसा 10-15 लोगों के हवाले कर दिया जाएगा, नोटबंदी की जाएगी, गलत जीएसटी लागू होगा तो हिंदुस्तान में रोजगार पैदा हो ही नहीं सकता, अर्थव्यवस्था चल ही नहीं सकती।' 

छत्तीसगढ़ की पहल की सराहना करते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'यहां किसानों, युवाओं, आदिवासियों, महिलाओं की बात सुनी जा रही है और प्रदेश को आगे ले जा रहे हैं। सभी मिलकर इस प्रदेश को आगे ले जा रहे हैं। इसका फर्क नजर आता है, यहां हिंसा कम हुई, यहां की अर्थव्यवस्था अन्य राज्यों से आगे निकल रही है। यह अंतर नजर आता है, क्योंकि तोड़ने से कुछ नहीं बनाया जा सकता, भाई को भाई से लड़ाकर देश का फायदा नहीं हो सकता।' 

ओडिशा कांग्रेस के अध्यक्ष का विवादित वीडियो वायरल, बोले-पेट्रोल रखो तैयार, जैसे ही ऑर्डर मिले सब जला देना

राष्ट्रीय आदिवासी महोत्सव को विविधता में एकता का प्रतीक बताते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'यहां देश भर से अलग-अलग हिस्से से आदिवासी आए हैं। वे यहां अपनी संस्कृति और कला का प्रदर्शन करेंगे, अनेकता में एकता दिखेगी और पता चलेगा कि अनेकता से ही एकता बनती है।' राजधानी के साइंस कॉलेज मैदान में शुक्रवार को तीन दिन राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव शुरू हुआ, जिसमें 25 राज्यों के आदिवासी एक ही समय पर एक स्थान में उपस्थित रहेंगे। साथ ही इस महोत्सव में बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड, यूगांडा, बेलारूस और मालदीव के कलाकार भी शामिल हो रहे हैं। 

राहुल गांधी कांग्रेस की वरिष्ठ नेता मीरा कुमार, भक्त चरण दास और बी.के. हरिप्रसाद के साथ विशेष विमान से दिल्ली से रायपुर पहुंचे। विमानतल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित अन्य नेताओं ने उनका स्वागत किया। उसके बाद सभी नेता हवाईअड्डे से एक बस में सवार होकर आयोजन स्थल तक पहुंचे।