रायपुर : स्मार्ट फोन वितरण योजना को भाजपा का चुनावी ब्रह्मास्त्र कहा जा रहा है। हालांकि खुद भाजपा इसे ब्रह्मास्त्र कहने से बचती रही है, लेकिन ये जरूर माना जा रहा कि 50 लाख मोबाइल वितरित कर भाजपा अपने पक्ष में वोटरों को करने में कामयाब होगी। विपक्ष पर इस सवाल उठा रहा है, खासकर वितरण के टाइमिंग को लेकर। योजना के नाम पर भ्रष्टाचार के लगाये जा रहे आरोपो पर मुख्यमंत्री रमन सिंह ने पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर गरीब को एक मोबाइल दिया जा रहा है, तो उसमें कौन से भ्रष्टाचार है, किसी अमीर आदमी को मोबाइल बांट नहीं रहे हैं,

इसमें कौन सा भ्रष्टाचार हो रहा है, इस योजना से सीधा लाभ छात्र, महिलाऔं और किसानों को होगा। ज्ञात हो कि प्रदेश में कल से मोबाइल तिहार शुरू हुआ है, जिसके तहत सरकार पूरे प्रदेश में 50 लाख परिवारों को मोबाइल बांटेगी। इसमें 5 लाख छात्र-छात्राएं हैं। वहीं 40 लाख महिलाओं को मोबाइल बांटा जायेगा। सरकार इसके जरिये महिला सशक्तिकरण का उदाहरण पेश करना चाहती है। इस योजना पर कांग्रेस सवाल उठा रही है। आज मुख्यमंत्री ने उसी सवाल का जवाब दिया है।