BREAKING NEWS

बंगाल में पांचवें चरण का चुनाव मुख्यत: शांतिपूर्ण, शाम पांच बजे तक 78.36 फीसदी मतदान : अधिकारी ◾ऑक्सीजन मुद्दे पर PM मोदी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन बंगाल चुनाव के चलते सफलता नहीं मिली : CM ठाकरे◾उत्तर प्रदेश में 24 घंटे में संक्रमण से 120 लोगों की मौत, 27357 नए केस◾विधानसभा चुनाव : बंगाल में 5वें चरण का मतदान हुआ सम्पन्न, 78.36 प्रतिशत हुई वोटिंग◾कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रियंका ने PM और UP सरकार को घेरा ◾कोविड-19 की वर्तमान स्थिति, टीकाकरण अभियान पर PM मोदी आज रात आठ बजे करेंगे अहम समीक्षा बैठक◾दिल्ली में 24 हजार नए मामले आये सामने, CM केजरीवाल बोले- ICU बेड्स और ऑक्सीजन की हो रही है कमी ◾ भाजपा बंगाल में सत्ता में आती है तो घुसपैठ की समस्या हो जाएगी खत्म : अमित शाह◾नवाब मलिक ने केंद्र पर लगाया आरोप, कहा- निर्यात कंपनियों को महाराष्ट्र को रेमडेसिविर देने से किया मना ◾कोरोना से निपटने में असफल रही केंद्र सरकार, पूर्व PM के सुझावों को मोदी के पास भेजेगी कांग्रेस : CWC ◾कोरोना की स्थिति को लेकर राहुल का मोदी पर निशाना, 'श्मशान और कब्रिस्तान दोनों...जो कहा सो किया'◾बंगाल में 1:30 बजे तक 54.67 % हुआ मतदान, शांतिनगर क्षेत्र में TMC, भाजपा समर्थकों के बीच हुई झड़प◾सोनिया गांधी ने केंद्र पर निशाना साधा, बोलीं- वैक्सीन के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार ◾PM मोदी बोले-2 मई को बंगाल की जनता 'दीदी' को देगी 'भूतपूर्व मुख्यमंत्री' का प्रमाणपत्र◾चारा घोटाला मामले में आजाद हुए लालू, रांची HC ने दी RJD सुप्रीमो को जमानत, जल्द होंगे जेल से रिहा ◾ओडिशा CM का PM मोदी को पत्र, कोरोना संकट के बीच कुछ कदम उठाने के दिए सुझाव◾CM गहलोत ने जनता के नाम संदेश में कहा- कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक, सरकार नहीं रखेगी कोई कमी◾भारत में कोरोना का तांडव, एक दिन में 2 लाख 34 हज़ार लोग हुए संक्रमित, 1341 ने गंवाई जान◾PM मोदी ने की संत समाज से अपील, कहा- कुंभ को कोरोना संकट के चलते रखा जाए ‘प्रतीकात्मक’ ◾विश्व में कोरोना केस की संख्या 13.96 करोड़ के पार, मरने वालों का आंकड़ा 29.9 लाख से अधिक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

नई शिक्षा नीति भारत को विश्व पटल पर ‘ज्ञान की महाशक्ति’ के रूप में करेगी स्थापित : निशंक

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने मंगलवार को आईआईटी बॉम्बे द्वारा नई शिक्षा नीति (NEP) पर आयोजित एक वर्कशॉप का उद्घाटन किया। इस दौरान अपने संबोधन में निशंक ने कहा, एनईपी ‘कैरेक्टर बिल्डिंग’ से लेकर ‘नेशन बिल्डिंग’ तक भारतीय मूल्यों पर आधारित है जिसमें इंडियन, इंटरनेशनल, इंपैक्टफुल, इंटरएक्टिव और इन्क्लूसिविटी जैसे तत्वों शामिल हैं और इस नीति में हर भारतीय की आकांक्षाएं, स्वप्न और एक दूरगामी सोच है जो भारत को विश्व पटल पर ‘ज्ञान की महाशक्ति’ के रूप में स्थापित करेगी। 

उन्होंने कहा, प्रतिवर्ष हम 11 नवंबर को हमारे देश के प्रसिद्ध शिक्षाविद एवं प्रथम शिक्षा मंत्री अबुल कलाम आजाद के जन्म दिवस को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रुप में मनाते हैं और मुझे खुशी है कि आईआईटी बॉम्बे ने राष्ट्रीय शिक्षा दिवस को ध्यान में रखकर आज नई शिक्षा नीति के ऊपर कार्यशाला आयोजित की है। 

उन्होनें कहा कि हम अपनी नई शिक्षा नीति में ‘जय अनुसंधान’ की सोच के साथ ज्ञान-विज्ञान-अनुसंधान के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करने हेतु एक दृढ़ संकल्प लेकर आगे बढ़ रहे हैं और मुझे बेहद खुशी है कि यह संस्थान भी इसी सोच के साथ शोध तथा नवाचार के क्षेत्र में पूरे समर्पण के साथ कार्यरत है और इसी का उदाहरण है कि आज यहां उत्कृष्ट अनुसंधानकर्ताओं को रिसर्च एक्सीलेंस अवार्ड का भी प्रदान किया जा रहा है। 

निशंक ने आईआईटी बॉम्बे द्वारा आयोजित इस वर्कशॉप की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस वर्कशॉप के द्वारा इस नीति के क्रियान्वयन तथा उसके सफलतम उपयोग का मार्ग प्रशस्त होगा और इस नीति को लेकर एक सामूहिक समझ एवं जागरूकता की भावना भी पैदा होगी। 

केंद्रीय मंत्री ने आईआईटी बॉम्बे की प्रगति पर खुशी व्यक्ति की और कहा कि हम ‘स्टडी इन इंडिया, स्टे इन इंडिया तथा शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण’ के माध्यम से भारत को शिक्षा के एक वैश्विक हब के रूप में स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध है और आईआईटी बॉम्बे मोनाश यूनिवर्सिटी (ऑस्ट्रेलिया), वाशिंगटन यूनिवर्सिटी (यूएसए), ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी (यूएसए) जैसे विभिन्न अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के साथ समझौते के माध्यम से विभिन्न शैक्षणिक गतिविधियों को आगे बढ़ कर हमारे इस मिशन को पूरा करने में मदद कर रहा है। 

उन्होनें आईआईटी बॉम्बे द्वारा कोरोना संकट काल में किए गए कार्यों की भी प्रशंसा की और कहा कि आईआईटी मुंबई जैसे संस्थानों के योगदान से हम ना केवल ‘विश्व गुरु’ बनेंगे अपितु ‘5 ट्रिलियन इकॉनमी’ का हमारा महत्वाकांक्षी स्वप्न भी जल्द ही साकार होगा। .