BREAKING NEWS

जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾शिवसेना का बीजेपी पर प्रहार, कहा- मोदी के लिए नीतीश ने खड़ा किया तूफ़ान◾28 अगस्त को महंगाई पर 'हल्ला बोल रैली' करेगी कांग्रेस, कहा - पीएम हताश है और जनता त्रस्त ◾जगदीप धनखड़ ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली, राजघाट जा कर महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि ◾मेस का खाना देखकर रोया कॉन्स्टेबल, बोला- मिलती हैं पानी वाली दाल और कच्ची रोटियां◾बिहार में मंत्रिमंडल को लेकर RJD की नजर 'ए टू जेड' पर, मंत्रियों की सूची पर लालू लगाएंगे अंतिम मुहर ◾बिज़नेस टाइकून एलन मस्क ने टेस्ला में अपने 80 लाख शेयर बेचे, क्या फिर करने जा रहे है बड़ा धमाका ◾राजस्‍थान : गौवंश पर कहर बनकर टूटा लम्‍पी रोग, हजारों मवेशियों की मौत के बाद पशु मेलों पर रोक◾गुरुग्राम के क्लब में बाउंसर ने की लड़की से छेड़छाड़, विरोध करने पर दोस्तों से हुई मारपीट, सात लोग गिरफ्तार◾ताइवान के खिलाफ चीन की 'आक्रामकता' पर ब्रिटेन सख्त, उठाया ये कदम ◾

Ranchi News : उपद्रवियों के पोस्टर लगाने को लेकर पुलिस पर भड़की हेमंत सरकार, SSP से मांगा जवाब

झारखंड की राजधानी रांची में 10 जून को हुई हिंसा के आरोपियों के पोस्टर शहर के चौराहें पर लगाने में मामले में हेमंत सोरेन सरकार सख्त हो गई है। बता दें कि, राज्यपाल की ओर से आदेश मिलने के बाद पुलिस ने शहर में 14 जून को 33 उपद्रवियों के पोस्टर लगाए थे, हालांकि कुछ समय बाद इन्हें वहां से हटा लिया गया था। लेकिन अब सरकार इसे लेकर सख्त हो गई है और इस कार्रवाई को इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश का उल्लंघन बताया है, जिसके लिए एसएसपी को भी तलब किया गया है।  
प्रधान सचिव ने एसएसपी को भेजा पत्र
राज्य सरकार के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का ने उपद्रवियों के पोस्टर लगाने के मामले में एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को एक पत्र भेजा है। बता दें कि, इस पत्र में रांची में हुई घटनाओं में नाजायज मजमों में कथित रूप से शामिल व्यक्तियों और हिंसा में कथित रूप से शामिल व्यक्तियों के फोटो सहित पोस्टर रांची पुलिस द्वारा लगाए गए, जिनमें कई व्यक्तियों के नाम और अन्य विवरण भी दिए गए हैं।

एसएसपी पर ऐक्शन ले सकती है सोरेन सरकार
प्रधान सचिव की ओर से भेजे गए पत्र में कहा गया है कि, यह कार्रवाई इलाहाबाद हाई कोर्ट की ओर से 9 मार्च 2020 को दिए गए आदेश के खिलाफ है। पत्र में एसएसपी से अपना स्पष्टीकरण पत्र प्राप्ति के दो दिनों के अंदर समपर्पित करने के लिए कहा गया है। खबरों के मुताबिक, हेमंत सरकार इस मामले में एसएसपी पर ऐक्शन ले सकती है। बता दें कि, सत्ताधारी पार्टी के अलावा सरकार के मंत्री भी पुलिस के इस कदम की आलोचना कर चुके हैं।