BREAKING NEWS

लालू प्रसाद यादव को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया ◾जय श्रीराम के नारों की नुसरत जहां ने की निंदा, बोली- राम का नाम गले लगाकर बोलें, गला दबाकर नहीं◾केंद्र पूर्वोत्तर को दुनिया के नक्शे पर क्षेत्र में प्रगति और समृद्धि लाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही : अमित शाह ◾किसानों को राजधानी में ट्रैक्टर परेड की मिली इजाजत, किसान नेता बोले- दिल्ली में करेंगे एंट्री◾मुख्यमंत्री गहलोत ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप, कहा- केंद्रीय एजेंसियों का कर रही है इस्तेमाल ◾CM ममता ने भाषण देने से किया इनकार, PM मोदी बोले- कोलकाता आकर भावुक महसूस कर रहा हूं ◾विक्टोरिया मेमोरियल में नेताजी की जयंती पर ‘पराक्रम दिवस’ समारोह, PM मोदी और CM ममता मौजूद◾जम्मू-कश्मीर : पाक की एक और साजिश नाकाम, बीएसएफ और इंटेलिजेंस ने खोजी भूमिगत सुंरग ◾भारत जैसे बड़े देश में होनी चाहिए 4 राजधानी, इतिहास बदलने की कोशिश में केंद्र : CM ममता◾राहुल ने तमिलनाडु में चुनाव अभियान का किया आगाज, कहा- जनता से जुड़ी हर चीज को बेच रहे हैं PM मोदी ◾LAC विवाद सुलझाने को लेकर भारत व चीन के बीच जल्द होगी नौंवें दौर की कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक◾पीएम मोदी की अपील- अपना नम्बर आने पर जरूर लगवाएं कोरोना वैक्सीन, विपक्ष के लिए कही ये बात ◾ट्रैक्टर परेड षडयंत्र मामले में संदिग्ध युवक पर बोले टिकैत- 'प्रशासन और सरकार ही करवाते हैं इस तरह की हरकत' ◾LAC तनाव : भारत का सख्त संदेश- जब तक चीन नहीं हटाएगा सैनिक, तब तक डटे रहेंगे भारतीय जवान◾असम : पीएम मोदी ने भूमिहीन मूल निवासियों के लिए भूमि पट्टा वितरण अभियान की शुरुआत की◾गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड पर निर्णय आज, करीब 30 किलोमीटर के हो सकते हैं 3 रूट ◾भारत में एक दिन में कोरोना के 14256 नए मामलों की पुष्टि, एक्टिव केस 1 लाख 85 हजार से अधिक ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 21 लाख से पार ◾असम विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए PM मोदी और अमित शाह आज राज्य का करेंगे दौरा ◾TOP 5 NEWS 23 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पश्चिम बंगाल : रविशंकर प्रसाद ने कहा- कार्यकर्ताओं पर पुलिस की कार्यवाही ममता सरकार का ‘तानाशाही’ रूप

भाजपा ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता और हावड़ा में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं तथा समर्थकों पर पुलिस की कार्रवाई की बृहस्पतिवार को कड़ी भर्त्सना करते हुए इसे लोकतांत्रिक विरोध दर्ज करने के अधिकार के खिलाफ राज्य की तृणमूल कांग्रेस की सरकार का ‘‘तानाशाही’’ रूप करार दिया।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सममेलन में केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में अब लोकतंत्र नहीं है और दावा किया कि इस प्रकार लाठी-डंडे और पुलिसिया दमन से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में भाजपा के विस्तार को नहीं रोक सकेंगी।

उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल में लोकतंत्र नहीं है। वहां जो भी विरोध करता है उसको या तो केस में फंसा दिया जाता है या फिर शासन द्वारा परेशान किया जाता है या फिर हत्या की स्थिति भी आ जाती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल में आज लोकतांत्रिक विरोध दर्ज करने के खिलाफ जिस तरह से वहां की सरकार का तानाशाही रूप सामने आया है, भाजपा उसकी भर्त्सना करती है।’’

बिहार चुनाव: LJP ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, भाजपा के बागियों को JDU के खिलाफ उतारा

प्रसाद ने दावा किया कि पुलिस की कार्रवाई में भाजपा के 1500 से ज्यादा कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इन कार्यकर्ताओं में पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अरविंद मेनन और प्रदेश के उपाध्यक्ष राजू बनर्जी सहित कई अन्य नेता शामिल हैं। उन्होंने आशंका जताई की कि पुलिस की ओर से की गई पानियों की बौछार के दौरान इस्तेमाल किए गए पानी में रसायन मिला हुआ था। 

भाजपा नेता ने ममता बनर्जी से पूछा, ‘‘क्या लगता है आप लाठी-डंडे और पुलिसिया दमन से भाजपा के विस्तार को रोक लेंगी? आप इसमें सफल नहीं होंगी। पहले भी आपने रोकने की बहुत कोशिश की लेकिन प्रदेश की जनता ने हमें पिछले लोकसभा चुनाव में 18 सीटें दी।’’

उन्होंने दावा किया कि बंगाल की जनता बदलाव चाहती है, इसलिए ‘‘डर, खौफ और दमन’’ की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल के लोगों को हम आश्वस्त करना चाहते हैं कि बंगाल में बदलाव के लिए भाजपा सतत तैयार रहेगी। जनता की परेशानियों पर शांतिपूर्ण तरीके से लोकतांत्रिक आवाज उठाती रहेगी।

बंगाल में बदलाव भाजपा करेगी। बंगाल की जमीनी हकीकत ये बताती है कि अगला विधानसभा का चुनाव जब भी होगा, वहां भाजपा की सरकार बनना तय है।’’ प्रसाद ने दावा किया कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी की राजनीतिक जमीन खिसक रही है और इसका प्रमाण पिछला लोकसभा का चुनाव परिणाम है।