भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की भोपाल से प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मंगलवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। प्रज्ञा ने अपने हलफनामे में कुल 4,44,224 रुपये की संपत्ति की घोषणा की है जिसमें 90,000 रुपये की नकदी और भोपाल स्थित बैंक के दो खातों में 99,824 रुपये की जमाराशि शामिल है।

हलफनामे के अनुसार, उनकी किसी कंपनी में कोई शेयर नहीं है और न ही उनकी अपनी कार या जमीन है। उनके जेवरात में 48,000 रुपये की सोने की एक चेन और उतने की रुपये का सोने का एक लॉकेट के अलावा, 16,000 रुपये की सोने की एक अंगूठी और 81,000 रुपये का चांदी का एक कमंडल के साथ-साथ चांदी की एक थाली और चार ग्लास शामिल हैं।

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने यह भी घोषणा की कि उनके पास चांदी मढ़ी हुई एक ईंट है जिस पर राम उत्कीर्ण है। उन्होंने अपने हलफनामे में जिक्र किया है कि उनकी आय का स्रोत भिक्षा है। प्रज्ञा ठाकुर ने हलफनामे में उनके खिलाफ विशेष राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) अदालत में दर्ज तीन आपराधिक मामलों का जिक्र किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 : साध्वी प्रज्ञा ने भरा नामांकन-पत्र

हलफनामे के अनुसार, उन पर कथित तौर पर हत्या, हत्या की कोशिश और आतंकवादी कार्य के आरोप हैं। उनके आपराधिक रिकॉर्ड में उनके खिलाफ महाराष्ट्र के नासिक जिले के मालेगांव के आजाद नगर थाने में दर्ज एक एफआईआर (संख्या : 130/2008) शामिल है।

प्रज्ञा सिंह ठाकुर 2008 के मालेगांव धमाका मामले में आरोपी हैं, जिसमें सात लोगों की मौत हो गई थी। वह इस समय जमानत पर हैं। वह भोपाल संसदीय क्षेत्र से मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं।