पटना : जिस तरह ग्रामीण क्षेत्र में परिवार गठन हो रहा है आपस में तालमेल नहीं बैठ रहा है। धीरे धीरे धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम में आज के युवा रूची नहीं ले रहे हैं। इसके लिए इस्कॉन द्वारा पूरे बिहार में रथ यात्रा द्वारा लोगों को जागरूक करने का काम करेंगे ताकि प रिवार में प्रेम बढ़े, धर्म की तरफ रूझान बढ़ें। ये बाते आज इस्कॉन के जनरल सेके्रटरी देवकी नंदन दास, मंदिर के अध्यक्ष कृष्णकृपा दास जी एवं प्रवक्ता नंदकुमार दास ने संयुक्त रूप से इस्कॉन परिसर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा।

उन्होंने कहा कि बिबहार में सबसे बड़ा इस्कॉन मंदिर 2019 में बनकर तैयार हो जायेगा। छोटे-छोटे मंदिर भी सभी जिलों में बनाया जायेगा। इस बार देवकी नंदन दास पूरे बिहार में भ्रमण करने के बाद उन्होंने कहा कि गांव- खलिहान में सनातन धर्म में व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जायेगा। इस्कॉन द्वारा प्रमंडलीय मुख्यालय में एक प्रचार केन्द्र भी खोला जायेगा। उन्होंने कहा कि मेरा मुख्य उद्देश्य है कि गीता पर हाथ रख कसम खाते हैं उसी गीता से लोगों को जगाना है और बताना है कि परिवार में माता पिता बाल बच्चा एक रहें।