विदिशा : एट्रों सिटी एक्ट के विरोध में बनाई गई नई पार्टी सपाक्स पहले चुनाव में ही टिकट वितरण को लेकर विवाद में फस गई है। विदिशा विधानसभा क्षेत्र से सपाक्स पार्टी ने एक ही दिन में दो , दो प्रत्याशी धोषिण कर दिए। कल दोपहर में पार्टी ने प्रेम शंकर शर्मा को प्रत्याशी बनाया था। उसके बाद उन्होंने पत्रकार वार्ता आयोजित कर प्रत्याशी होने की जानकारी सबकों दी। रात्रि में सपाक्स ने दूसरी सूची जारी की तो उघोग पति राकेश शर्मा को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया।

एक ही सीट पर दो प्रत्याशी के नाम घोषित होने पर देर रात तक असमंजश की स्थिति बनी रही। इस बात को लेकर जब अध्यक्ष से बात की गई , तो उन्होंने कहा कि प्रेम शंकर शर्मा के नाम पर सहमति न बन पाने के कारण उघोग पति राकेश शर्मा को प्रत्याशी बनाया गया है तो वही जिले के विकासखंड गंजबासौदा में भाजपा ने पूर्व नपाध्यक्ष लीना जैन को प्रत्याशी बनाया है। इस नाम को लेकर यहां पर भी प्रत्याशी बदलने को लेकर कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रर्दशन किया।

मुख्यमंत्री के विदिशा आगमन पर नाराज सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने उनके समक्ष अपनी नाराजगी प्रकट की। जिस पर मुख्यमंत्री ने कार से उतरकर सभी को समझाया। तो वही शमशाबाद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने ज्योतिशना यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है ,शमशाबाद क्षेत्र से सिंधू विक्रम सिंह अपनी दावेदारी पेश कर रहे थे, टिकट न मिलने से नाराज उनके समर्थकों ने रैली निकालकर सभा की और टिकट बदलने की मांग की। किन्तु भाजपा ने अभी तक अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किया है।

राज्य मंत्री सूर्य प्रकाश मीणा के इस्तीफा देने और अचानक चुनाव न लड़ने की घोषणा के कारण इस सीट पर असमंजश बना हुआ है। पूर्व वित्तमंत्री राघवजी भाई अपनी बेटी ज्योति शाह को टिकट दिलाने की पुरजोर कोशिश कर रहे है, उन्होंने कहा कि अगर भाजपा ने बेटी को टिकट नहीं दिया तो वह निर्देलीय चुनाव लड़ने का विकल्प खुला है। सपाक्स के लिए भी दरवाजे खुले है। कार्यकर्ताओं की मंशा के अनुरूप चुनाव लड़ेगें।