BREAKING NEWS

पीएम मोदी के दो दिवसीय गुजरात दौरे की हुई शुरुआत, पांच लाख पौधे वाले आरोग्य वन का किया लोकार्पण ◾बिहार : दूसरे चरण के चुनाव में आरजेडी,जेडीयू के सामने बड़ी चुनौती, सिवान में कांटे की टक्कर ◾राष्ट्रपति, पीएम सहित कांग्रेस नेताओं ने 'मिलाद-उन-नबी' के मौके पर देशवासियों को दी बधाई◾चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में दोबारा जमीन कब्जाने वाली रिपोर्ट को भारतीय सेना ने फर्जी करार दिया ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर में 'टीआरएफ' द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की निंदा की◾IPL -13 : राजस्थान रॉयल्स की जीत होगी बेहद जरूरी हार के साथ हो सकती है प्लेऑफ की दौड़ से बाहर ◾PM मोदी ने पूर्व CM केशुभाई को दी श्रद्धांजलि, महेश और नरेश कनोडिया के परिजनों से की मुलाकात◾जम्मू और कश्मीर : BJP नेताओं के घर पसरा मातम, नड्डा बोले-व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान◾मुंगेर घटना को संजय राउत ने बताया हिंदुत्व पर हमला, BJP की चुप्पी पर उठाया सवाल ◾LAC तनाव के बीच चीन की तैयारी, कड़ाके की ठंड से निपटने के लिए अपने सैनिकों को दिए हाई-टेक उपकरण ◾नीस आतंकी हमले पर मलेशिया के पूर्व PM की विवादित टिप्पणी, ‘मुस्लिमों को फ्रांस के लोगों की हत्या करने का हक’◾TOP 5 NEWS 30 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾देश में कोरोना मामले 81 लाख के करीब, एक्टिव केस छह लाख से कम◾बिहार चुनाव में CM नीतीश का आरक्षण पर बड़ा दांव, आबादी के हिसाब से मिले लोगों को रिजर्वेशन ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप तेज, वैश्विक स्तर पर संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 4 करोड़ के करीब ◾आज का राशिफल ( 30 अक्टूबर 2020 )◾आतंकवाद के खिलाफ जंग में भारत फ्रांस के साथ : PM मोदी◾PM मोदी आज से दो दिन के गुजरात दौरे पर, देश की पहली सी-प्लेन सेवा का करेंगे उद्घाटन◾CSK vs KKR ( IPL 2020 ) : रुतुराज और जडेजा ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई जीत, मुंबई प्ले आफ में◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

SC ने जनगणना का काम पूरा होने तक परिसीमन का काम स्थगित करने को लेकर केन्द्र और असम सरकार को जारी किया नोटिस

उच्चतम न्यायालय ने 2021 की जनगणना का काम पूरा होने तक असम में विधान सभा और संसदीय सीटों के लिये परिसीमन का काम स्थगित रखने को लेकर दायर याचिका पर बुधवार को केन्द्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी किये। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ इस साल 28 फरवरी के आदेश को निरस्त करने के लिये दायर याचिका पर विचार के लिये सहमत हो गयी। इस आदेश में असम में परिसीमन की प्रक्रिया स्थगित करने संबंधी आठ फरवरी 2008 की अधिसूचना रद्द कर दी गयी थी। 


पीठ ने अधिवक्ता फुजैल अहमद के माध्यम से दायर याचिका पर वीडियो कांफ्रेन्स के जरिये सुनवाई करते हुये केन्द्र और असम सरकार के साथ ही परिसीमन आयोग को नोटिस जारी किये। पीठ ने इन सभी को 2001 की जनगणना के आधार पर परिसीमन प्रक्रिया को चुनौती देने वाली याचिका पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। यह याचिका असम के दो निवासियों ने दायर की है और उनका दावा है कि 2011 की जनगणना के आधार पर परिसीमन की कार्यवाही किये जाने के बावजूद 2001 की जनगणना के आधार पर इसे करने का प्रयास किया जा रहा है। 


याचिका में इस साल 28 फरवरी को जारी नये आदेश को रद्द करने का अनुरोध करते हुये कहा गया है कि यह संविधान में प्रदत्त समता और जीने तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता जैसे मौलिक अधिकारों का हनन करता है। याचिका के अनुसार राज्य में इससे पहले कानून व्यवस्था की बिगड़ी हालत की वजह से परिसीमन का काम स्थगित कर दिया गया था।