BREAKING NEWS

एमपी: दिग्विजय ने साधा निशाना, बोले- उपचुनाव में मतदाता मोदी और शिवराज को सबक सिखा सकते हैं◾आर्यन ड्रग्स केस को लेकर NCB पर हमलावर शिवसेना-NCP, राउत ने शेयर किया VIDEO, मलिक बोले- 'सत्यमेव जयते'◾जम्मू-कश्मीर में बोले अमित शाह- विकास में युवा शामिल होंगे, तो आतंकवादियों के नापाक मंसूबे विफल हो जायेंगे◾संजय राउत ने 100 करोड़ टीकाकरण के दावे को ‘झूठा’ करार दिया, पूछा- ‘‘किसने इसकी गिनती की है?’’◾'प्रतिबंध' पर महबूबा ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- स्थिति से निपटने के लिए सरकार के पास ही एकमात्र तरीका है 'दमन'◾नवजोत सिंह सिद्धू का Tweet, लिखा-'असली मुद्दों पर डटा रहूंगा, नहीं हटने दूंगा ध्यान' ◾भारत Vs पाक मैच के खिलाफ बाबा रामदेव, बोले-आतंकवाद और क्रिकेट एक साथ नहीं चल सकता◾PM मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में अफगान संकट पर संयुक्त दृष्टिकोण अपनाने का कर सकते हैं आह्वान ◾अमित शाह के दौरे के बीच शोपियां में आम नागरिक की गोली मारकर की हत्या◾ईंधन के दामों में बढ़ोतरी को लेकर प्रियंका का मोदी सरकार पर तंज, 'जनता को कष्ट देने के बनाए हैं रिकॉर्ड' ◾मन की बात में बोले मोदी- वैक्सीन की 100 करोड़ खुराक के बाद देश नए उत्साह, नयी ऊर्जा से आगे बढ़ रहा है◾जम्मू-कश्मीर के पुंछ ऑपरेशन में 2 पुलिसकर्मी समेत एक सैनिक घायल◾वोट देना हो तो दो, वर्ना....................! किसानों से बोले योगी के मंत्री, वायरल हुआ Video◾हेयर स्टाइल के बाद जिम में पसीना बहा रहे लालू के लाल तेज प्रताप, फोटो सांझा करते हुए दिया यह खास मैसेज ◾Coronavirus : भारत में पिछले 24 घंटे में 15 हजार से अधिक नए मामलों की पुष्टि, 561 लोगों ने गंवाई जान◾अगर शाहरुख खान बीजेपी में शामिल हो जाएं, तो 'मादक पदार्थ शक्कर' बन जाएंगे : छगन भुजबल ◾World Corona Update : महामारी की चपेट में अब तक 24.33 करोड़ लोग, 6.78 अरब का हुआ टीकाकरण◾Petrol Diesel Price : लगातार 5वें दिन पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा◾भारत और पाकिस्तान के बीच आज होगा टी20 विश्व कप मैच, हाईवोल्टेज मुकाबले पर होगी दुनिया की नजर◾जम्मू-कश्‍मीर की शांति भंग करने वाले बख्‍शे नहीं जाएंगे, आतंक पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिया सख्‍त संदेश◾

SC ने जनगणना का काम पूरा होने तक परिसीमन का काम स्थगित करने को लेकर केन्द्र और असम सरकार को जारी किया नोटिस

उच्चतम न्यायालय ने 2021 की जनगणना का काम पूरा होने तक असम में विधान सभा और संसदीय सीटों के लिये परिसीमन का काम स्थगित रखने को लेकर दायर याचिका पर बुधवार को केन्द्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी किये। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ इस साल 28 फरवरी के आदेश को निरस्त करने के लिये दायर याचिका पर विचार के लिये सहमत हो गयी। इस आदेश में असम में परिसीमन की प्रक्रिया स्थगित करने संबंधी आठ फरवरी 2008 की अधिसूचना रद्द कर दी गयी थी। 


पीठ ने अधिवक्ता फुजैल अहमद के माध्यम से दायर याचिका पर वीडियो कांफ्रेन्स के जरिये सुनवाई करते हुये केन्द्र और असम सरकार के साथ ही परिसीमन आयोग को नोटिस जारी किये। पीठ ने इन सभी को 2001 की जनगणना के आधार पर परिसीमन प्रक्रिया को चुनौती देने वाली याचिका पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। यह याचिका असम के दो निवासियों ने दायर की है और उनका दावा है कि 2011 की जनगणना के आधार पर परिसीमन की कार्यवाही किये जाने के बावजूद 2001 की जनगणना के आधार पर इसे करने का प्रयास किया जा रहा है। 


याचिका में इस साल 28 फरवरी को जारी नये आदेश को रद्द करने का अनुरोध करते हुये कहा गया है कि यह संविधान में प्रदत्त समता और जीने तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता जैसे मौलिक अधिकारों का हनन करता है। याचिका के अनुसार राज्य में इससे पहले कानून व्यवस्था की बिगड़ी हालत की वजह से परिसीमन का काम स्थगित कर दिया गया था।