नई टिहरी : राजस्व विभाग व अन्य विभागों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी सोनिका ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिये कि वे नियमित रुप से कोर्ट में बैठकर लम्बित वादों का निस्तारण करना सुनिश्चित करें, उन्होंने उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि यदि वे पूर्ण रुप से सन्तुष्ट हैं तो 143 (कृषि भूमि का व्यावसायिक भूमि में स्थानान्तरण) सम्बन्धी वादों के निस्तारण में कतई देरी न करें, उन्होंनें सभी तहसीलदारों को आगाह किया कि वे वसूली प्रतिशत बढ़ायें अन्यथा वसूली प्रतिशत कम रहने पर वेतन रोकने की कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

जिला कार्यालय में बैठक लेते हुए जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत पड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों की भूमि पर निर्मित धार्मिक संरचनाओं के ध्वस्तीकरण की कार्यवाही में तेजी लायें, साथ ही जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में ठंड के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए गरीबो को कम्बल बांटने का कार्य करें तथा क्षेत्र में अलाव आदि भी जलाये जायें।

नैनबाग से राशन डीलरों की शिकायत मिलने पर उन्होंनें सम्बन्धित एसडीएम को राशन की दुकानों का स्थलीय निरीक्षण करने के निर्देश दिये, उन्होंनें सभी उपजिलाधिकारयों को यह भी निर्देश दिये कि क्षेत्र की शराब की दुकानों का औचक निरीक्षण कर यह जांच ले कि कहीं ओवर रेट पर शराब का विक्रय तो नहीं हो रहा है। पुलिस विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे महिलाओं द्वारा दर्ज शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए उन पर तत्काल ही कार्यवाही करें ताकि महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस करें।

जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी को जनपद में स्थापित आवासीय शिक्षण संस्थानों में छापेमारी कर खाद्य सामग्री की जांच करने के भी निर्देश दिये। बैठक में एसडीएम अनुराधा पाल, रविन्द्र जुवांठा व मुक्ता मिश्र, जिला आबकारी अधिकारी तपन पाण्डे, जिलापूर्ति अधिकारी मुकेश सहित तहसीलदार व अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।