BREAKING NEWS

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, सेना कैंप में घुस रहे 2 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद◾आज का राशिफल (11 अगस्त 2022)◾हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾

हनुमान चालीसा विवाद को लेकर राणा दंपति का हुआ इस्तेमाल? शिवसेना ने BJP पर लगाया बड़ा आरोप

महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा को लेकर हुए विवाद पर शिवसेना ने बड़ा बयान दिया है। शिवसेना का कहना है कि महा विकास अघाड़ी सरकार को हटाने की अपनी हताशा में बीजेपी ने राणा दंपति का इस्तेमाल करते हुए इस पूरे विवाद को अंजाम दिया। शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में ये आरोप लगाए।

सामना में कहा गया कि, "हिंदुत्व के नाम पर बीजेपी की ओर से किए गए हंगामे का समर्थन नहीं किया जा सकता। उन्होंने (एमपी-एमएलए) राणा दंपत्ति का इस्तेमाल करके मुंबई की शांति भंग करने की योजना बनाई थी और सब कुछ उनके इशारे पर हुआ। इससे शिवसेना कार्यकर्ता नाराज हो गए और दंपति को अपने घर से बाहर कदम रखने की अनुमति नहीं दी गई।"

लाउडस्पीकर विवाद : MNS प्रमुख राज ठाकरे ने सर्वदलीय बैठक से किया किनारा

नवनीत राणा और रवि राणा को फटकार लगाते हुए सामना में लिखा गया, "इस जोड़े की वैचारिक संबद्धता पर कोई आश्वासन नहीं है। सांसद नवनीत राणा ने संसद में भगवान राम के नाम पर शपथ लेने वाले सांसदों का विरोध किया था। यह हैरान करने वाला है कि आज बीजेपी 'हनुमान चालीसा' और हिन्दुत्व के अन्य मुद्दों पर ऐसे सांसद के इशारे पर नाच रही है।"

चुनाव के लिए राणा ने हासिल किया फर्जी जाति प्रमाण पत्र 

सामना में आगे कहा गया, "आरक्षित सीट से चुनाव लड़ने के लिए राणा दंपति ने नकली जाति प्रमाण पत्र बनवाया था। श्रीमती राणा ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर अमरावती से लोकसभा चुनाव लड़ा। नवनीत कौर राणा और उनके पिता हरभजन सिंह कुंडलेस ने जाति प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए फर्जी दस्तावेज जमा किए। अमरावती लोकसभा एक आरक्षित सीट है और उसी से चुनाव लड़ने के लिए राणा ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र हासिल किया।"

क्या, और क्यों हुआ विवाद?

राणा दंपति ने शनिवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की बात कही थी, जिससे शिवसेना के कार्यकर्ता बेहद आक्रोशित हो गए थे और उन्होंने राणा के आवास के आगे विरोध प्रदर्शन किया था। 

मुंबई पुलिस ने राणा दंपति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है और बाद में उसमें राजद्रोह का आरोप भी जोड़ दिया। रविवार को मुंबई की एक अदालत ने राणा दंपति को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद रविवार देर रात अमरावती से सांसद नवनीत राणा को भायखला महिला कारावास ले जाया गया था। 

राणा दंपति के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा- 153 ए (अलग-अलग समुदायों के बीच धर्म, भाषा आदि के नाम पर विद्वेष उत्पन्न करना) और मुंबई पुलिस अधिनियम की धारा-135 (पुलिस द्वारा लागू निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने) का मामला दर्ज किया गया। अधिकारी ने बताया कि बाद में राणा दंपति के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी में धारा 353 (सरकारी अधिकारी को कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने के लिए आपराधिक बल के इस्तेमाल या हमला करना)  जोड़ी गई है।