BREAKING NEWS

महामारी के बीच चुनाव आयोग ने ‘अपने भरोसे के दम’ पर बिहार चुनाव कराया : EC◾भारत ने फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों पर व्यक्तिगत हमलों की कड़ी निंदा की ◾MI vs RCB : मुंबई इंडियंस ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 5 विकेट से हराया◾ED ने सोना तस्करी मामले में निलंबित IAS शिवशंकर को किया गिरफ्तार◾PM का पुतला जलाये जाने वाले बयान पर भाजपा ने बताया राहुल की 'राजनीतिक औकात' ◾केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को हुआ कोरोना, ट्वीट कर दी जानकारी◾महबूबा मुफ्ती को एक और बड़ा झटका, पीडीपी नेता रमजान हुसैन भाजपा में हुए शामिल ◾बिहार विधानसभा चुनाव - पहला चरण में 71 सीटों पर मतदान संपन्न, शाम पांच बजे तक 51.91 प्रतिशत मतदान ◾कमल नाथ का तीखा तंज - भाजपा ने सिंधिया को 'दूल्हा' तो बना दिया, 'दामाद' नहीं बनने देगी ◾चीन ने भारत के साथ सीमा गतिरोध को द्विपक्षीय मुद्दा बताया, अमेरिकी रणनीति की निंदा की◾राष्ट्रपति कोविंद ने दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति को किया निलंबित◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾बगहा रैली में राहुल गांधी का पीएम पर वार - 'झूठ बोलने में नरेंद्र मोदी का कोई मुकाबला नहीं'◾पटना रैली में मोदी का प्रहार - 'जिनका प्रशिक्षण कमीशनखोरी का हो, वो बिहार का विकास नहीं सोच सकते'◾लद्दाख को चीन के भूभाग के हिस्से में दिखाने पर ट्विटर का जवाब पर्याप्त नहीं : संसदीय पैनल ◾बिहार विधानसभा चुनाव : दोपहर एक बजे तक पहले चरण में 71 सीटों पर 33.10 प्रतिशत मतदान ◾Bihar Election : कृषि मंत्री कमल निशान वाला मास्क पहन वोट डालने पहुंचे, दर्ज होगा मामला ◾पीएम मोदी ने मुजफ्फरपुर रैली में RJD पर बोला तीखा हमला, तेजस्वी को बताया जंगलराज का युवराज◾दरभंगा रैली में बोले PM मोदी, पूर्व की सरकारों का मंत्र रहा, पैसा हज़म-परियोजना खत्म◾बिहार चुनाव : 11 बजे तक 18.48 फीसदी मतदान,जानिए कहां कितने प्रतिशत हुई वोटिंग◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शिवसेना का राजग पर निशाना : इस गठबंधन में अब राम नहीं बचे हैं, जिसने अपने दो शेर खो दिये हैं

कृषि विधेयकों के विरोध में केंद्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से शिरोमणि अकाली दल के निकलने के बाद शिवसेना ने सोमवार को आश्चर्य जताया कि क्या राजग का अब भी वास्तव में कोई वजूद है। उसने साथ ही सवाल किया कि अब इसमें और कौन बाकी हैं। 

शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में कहा गया है कि यह अजीब है कि राजग के 'अंतिम स्तंभ' अकाली दल को गठबंधन से हटने से नहीं रोका गया । संपादकीय में कहा गया है, ‘‘जब बादल (राजग से) हटे तो उन्हें रोकने की कोई कोशिश नहीं की गयी। इससे पहले शिवसेना भी राजग से हटी । इन दोनों हटने के बाद राजग में अब बचा क्या है? जो अब भी गठबंधन में हैं उनका क्या हिंदुत्व से क्या कोई लेना देना है?’’ 

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘पंजाब और महाराष्ट्र वीरता का प्रतिनिधित्व करते हैं तथा शिअद एवं शिवसेना इस वीरता एवं बहादुरी का चेहरा हैं।’’ संपादकीय में कहा गया है, ‘‘अब जब कुछ ने इस गठबंधन को 'राम-राम' (अलविदा) कह दिया है और इसलिये राजग में अब राम नहीं बचे हैं जिसने अपने दो शेर (शिवसेना एवं शिअद) खो दिये हैं।’’ 

संसद में कृषि विधेयकों के पारित किये जाने के विरोध में अकाली दल ने शनिवार को राजग से नाता तोड़ लिया। शिवसेना एवं तेलुगु देशम पार्टी के बाद हाल के समय में राजग से गठबंधन तोड़ने वाला अकाली दल तीसरा बड़ा घटक है। महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री के पद को लेकर विवाद के बाद शिवसेना ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद राजग को अलविदा कह दिया। 

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘पहले शिवसेना को राजग से अलग होना पड़ा। अब अकाली दल ने छोड़ा । दो मुख्य स्तंभों के बाहर निकलने के बाद क्या वास्तव में राजग अब भी बचा हुआ है?’’ संपादकीय के अनुसार राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के खिलाफ मजबूत गठबंधन बनाने के लिये राजग का गठन किया गया था। पिछले कुछ साल में इस गठबंधन ने बड़े उतार चढाव देखे हैं और कई अन्य दल भी गठबंधन छोड़ चुके हैं । 

शिवसेना ने कहा कि महाराष्ट्र में राकांपा एवं कांग्रेस के साथ सरकार अच्छा काम कर रही है और मौजूदा गठबंधन सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी । 

अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : खुल सकते है पर्यटन स्थल और सिनेमा हॉल,मिल सकती है अधिक छूट