BREAKING NEWS

जमातियों का जमघट : देर रात इंडोनेशियाई की 5 महिला मौलवी सहित मस्जिद में छिपे 15 दबोचे गए◾कोरोना वायरस : देश में संक्रमितों की संख्या 3,300 के पार, 77 लोगों की मौत की पुष्टि ◾अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 3 लाख के पार हुई, इटली में 15362 लोगों की मौत ◾कोविड-19: दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़कर हुए 445, उनमें से 301 लोग हुए थे निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल ◾लॉकडाउन : शहर में फंसे विदेशियों के लिए ट्रांजिट पास जारी करेगी दिल्ली सरकार◾ कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क ◾PM मोदी ने की उच्चाधिकार प्राप्त समूहों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता◾तिहाड़ जेल कैदियों ने जेल में ही बना डाले 75000 मास्क, सेनेटाइजर◾महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड का दावा : गृह मंत्रालय ने ही दी थी तबलीगी जमात को अनुमति◾कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾

सिद्धरमैया ने गृह मंत्री अमित शाह से पूछा- बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों के लिए केंद्रीय धन पर्याप्त है या नहीं

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कर्नाटक दौरे के बीच कांग्रेस नेता सिद्धरमैया ने शनिवार को उनसे जानना चाहा कि अपनी ‘विभाजनकारी राजनीति’ को लोगों के गले में उतारने से पहले यह आकलन करने के लिए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में क्यों नहीं गए कि केंद्र द्वारा प्रदत्त धन पर्याप्त है या नहीं। 

विपक्ष के नेता ने ट्वीट कर मंगलुरु में पिछले महीने हुए सीएए विरोधी हिंसक प्रदर्शन के लिए पर्याप्त जांच की भी मांग की। इस प्रदर्शन के दौरान दो लोगों की मौत हो गयी थी। सिद्धरमैया ने ट्वीट किया, ‘‘ श्रीमान् अमित शाह अपनी विभाजनकारी राजनीति को लोगों के गले के नीचे उतारने में अपना समय लगाने से पहले आप प्रभावित क्षेत्रों में फिर क्यों नहीं गये और इसका आकलन क्यों नहीं किया कि केंद्रीय सरकारी धन पर्याप्त है या नहीं।’’ 

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ श्री अमित शाह, बीएसवाई भाजपा ने बाढ़ से 35000 करोड़ रूपये का नुकसान होने का दावा किया था लेकिन आपकी सहायता केवल 1870 करोड़ रूपये की रही।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘ आप बाकी राशि कब देने की योजना बना रहे हैं। सीएए, एनपीआर और एनआरसी के क्रियान्वयन के बाद क्या कोई धन बचेगा।’’ शाह सीएए पर भाजपा के राष्ट्रीय जनजागरण अभियान के तहत कर्नाटक आये हुए हैं।