अल्मोड़ा : राज्य स्थापना दिवस के मौके पर कलक्ट्रेट परिसर में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम रही। वहीं प्रात: काल स्कूली बच्चों ने बैंड बाजे के धुन के साथ प्रभात फेरी निकाली। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने उत्तराखंड राज्य आंदोलन के दौरान शहीद हुए आंदोलनकारियों को नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलन के दौरान शहीद हुए शहीदों के सपनों को साकार करने के साथ-साथ पर्वतीय क्षेत्र के जल-जंगल व जमीन से जुड़े मामलों का निस्तारण प्रभावी ढंग से करने के साथ-साथ पहाड़ से पलायन को रोकने के लिए ठोस कार्ययोजना बनानी होगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य के लोगों ने स्वतंत्रता आंदोलन में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वहीं कलक्ट्रेट परिसर में विभिन्न स्वयंसहायता समूहों, कृषि, उद्यान, खादी ग्रामोद्योग की ओर से प्रदर्शनी भी लगाई गई। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों का आह्वान करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कोसी संवर्द्धन अभियान को सफल बनाने के लिए सभी लोग पूरी तत्परता से आगे आएं। इधर रा. महिला पॉलीटेक्निक तथा केडी मेमोरियल पब्लिक स्कूल कपीना में भी राज्य स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से सी डी ओ मयूर दीक्षित, वयोवृद्ध एड. मदन लाल साह, गिरीश मल्होत्रा, डॉ. जेसी दुर्गापाल, एसडीएम विवेक राय, जिला विकास अधिकारी केके पंत, मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी, शिक्षा अधिकारी राय साहब यादव आदि मौजूद थे। संचालन डॉ. विद्या कर्नाटक व कपिल नयाल ने किया।

पलायन रोकने के लिए बनी नई नीति