BREAKING NEWS

भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा, कहा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने राजपक्षे को भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾

अन्य राज्य

स्टालिन ने प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल के समर्थन का किया बचाव , मांगा सहयोग

द्रमुक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल गांधी की उम्मीदवारी को अपने समर्थन का बचाव करते हुए कहा है कि कांग्रेस प्रमुख के पास केंद्र में बीजेपी शासन को उखाड़ फेंकने की ताकत है। उन्होंने अपने प्रस्ताव के समर्थन में मित्र धर्मनिरपेक्ष पार्टियों से सहयोग मांगा।

इस प्रस्ताव को लेकर विपक्षी खेमे में हालांकि पूरी तरह से सहमति नहीं है लेकिन स्टालिन का मानना है कि इसके लिए मित्र दलों के बीच चर्चा की जा सकती है। बीते सोमवार को अपने पार्टी काडर को लिखे पत्र में उन्होंने कहा, ‘‘लोकतंत्र में समाधान सिर्फ चर्चा से निकलते हैं... इन विचार-विमर्शों से ही अच्छे नतीजे निकल कर आएंगे।’’

स्टालिन ने विपक्षी दलों से ‘‘लोकतंत्र की रक्षा के लिए राहुल का हाथ मजबूत करने’’ की अपील की। उन्होंने कहा कि अगले साल लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बुरी तरह हराने के लिए इन ताकतों का हाथ मिलाना जरूरी है। द्रमुक प्रमुख ने कहा कि उनका बयान सिर्फ उस तर्क पर आधारित है कि राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश करना ही धर्मनिरपेक्ष ताकतों को जोड़ने के लिए उपयुक्त होगा।

\"\"  

स्टालिन ने लोकसभा चुनाव में BJP को परास्त कर राहुल के नाम का प्रस्ताव रखा है

उन्होंने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा के हालिया चुनावों में कांग्रेस की जीत का उल्लेख करते हुए कहा कि राहुल गांधी में मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को हराने की ताकत है।