BREAKING NEWS

सुशांत केस : रिया चक्रवर्ती की 6 अक्तूबर तक बढ़ी न्यायिक हिरासत, जमानत पर HC में सुनवाई कल ◾ IIT के दीक्षांत समारोह में पीएम मोदी ने कहा-NEP आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी ◾राज्यसभा से निलंबित सांसदों के समर्थन में आए NCP प्रमुख, बोले- मैं भी रखूंगा एक दिन का उपवास◾विपक्ष के बहिष्कार के बीच कृषि से जुड़ा तीसरा बिल पास, आवश्यक वस्तु संशोधन विधेयक पर संसद की मुहर◾UN में भारत की पाकिस्तान को दो टूक जवाब- कश्मीर की बजाय आतंकवाद खत्म करने पर ध्यान दें◾राज्यसभा से निलंबित सांसदों का धरना खत्म, अब मॉनसून सत्र का बहिष्कार करेगा पूरा विपक्ष ◾कृषि बिल : राहुल का मोदी सरकार पर वार- किसानों को करके जड़ से साफ, पूंजीपति ‘मित्रों’ का खूब विकास'◾सांसदों का निलंबन रद्द किए जाने तक राज्यसभा कार्यवाही का बहिकार करेगा विपक्ष : गुलाम नबी आजाद◾भारत और चीन के बीच मोल्डो में 13 घंटे तक चली कमांडर-स्तरीय हाई लेवल मीटिंग, LAC विवाद पर हुई चर्चा ◾राज्यसभा से निलंबित हुए सदस्यों को चाय पिलाने पहुंचे उपसभापति, पीएम मोदी ने की तारीफ ◾देश में कोरोना से 89 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव केस 55 लाख के पार ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ 12 लाख के पार◾जम्मू-कश्मीर : सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी◾सुशांत सिंह की मौत के मामले की जांच कर रही CBI और मेडिकल बोर्ड की बैठक आज होगी ◾IPL-13: बेंगलोर का टूर्नामेंट में जीत से आगाज, हैदराबाद को 10 रनों से दी शिकस्त ◾ड्रग्स केस में एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण का नाम आया सामने, जया साह की मैनेजर से दीपिका की चैट्स आई सामने◾निलंबन को लेकर सरकार पर बरसा विपक्ष, संसद में रातभर धरना देंगे राज्यसभा से निलंबित सांसद◾कोरोना संक्रमित मां ठीक होकर पहुंची घर तो बेटा - बहु ताला लगाकर हुए गायब, वृद्धा ने 3 दिन गुजारे बाहर ◾सीएम योगी का एलान : नोएडा क्षेत्र को उत्तरी भारत के सबसे बड़े ‘लॉजिस्टिक हब’ के रूप में स्थापित करेंगे ◾गृह मंत्री अमित शाह ने रबी फसलों की एमएसपी में वृद्धि को बताया ‘ऐतिहासिक’◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

असम के मुख्य सचिव को सुप्रीम कोर्ट ने पेश होने का दिया आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को असम में विदेशी लोगों की हिरासत से जुड़े एक मामले में अधिकारियों के पर्याप्त सक्रियता नहीं दिखाने पर अप्रसन्नता प्रकट की और राज्य के मुख्य सचिव को उसके समक्ष आठ अप्रैल को पेश होने का निर्देश जारी किया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने असम सरकार द्वारा दायर एक हलफनामे को ‘फ़िज़ूल की कवायद’ बताते हुए कहा कि वे यह जानना चाहते हैं कि जिन लोगों को न्यायाधिकरण ने विदेशी घोषित किया है, उनमें से कितने लोग स्थानीय आबादी के साथ घुलमिल गए हैं।

इस पीठ में न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना भी हैं। उन्होंने अधिकारियों के कोर्ट में हाजिर नहीं होने पर नाराज़गी जाहिर करते हुए कहा, ‘‘ उन विदेशी लोगों की संख्या कितनी है जो स्थानीय आबादी के साथ घुलमिल गए हैं। इसलिए हम चाहते हैं कि आपके मुख्य सचिव कोर्ट में उपस्थित हों।’’

सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश असम में हिरासत केंद्रों की स्थिति और वहां मौजूद विदेशी लोगों की हालत को लेकर दायर याचिका पर दिया। यह याचिका सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने दायर की है। इस मामले की अगली सुनवाई आठ अप्रैल को होगी। कोर्ट ने विदेशी लोगों को उनके देश भेजे जाने के बजाए वर्षों से हिरासत केंद्र में रखे जाने पर चिंता जताई थी।

उन्होंने इस तरह से केंद्रों से जुड़े कई मुद्दे उठाए थे और कहा था कि हिरासत में रखे गए लोगों को अनिश्चितकाल के लिए इस तरह के केंद्र में नहीं रखा जा सकता है। कोर्ट ने 28 जनवरी को केंद्र और राज्य सरकार से असम में चलनेवाले इस तरह के केंद्र और पिछले 10 वर्ष में उसमें रखे गए विदेशी लोगों की जानकारियां देने को कहा था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था, ‘‘ अब यह मजाक बन चुका है।’’