BREAKING NEWS

महिलाओं के सम्मान की रक्षा के लिए भाजपा को वोट दें: स्मृति ईरानी ◾CAA पर यूरोपीय संसद में भारत की कूटनीतिक जीत, प्रस्ताव पर गुरुवार को मतदान नहीं◾चुनाव आयोग ने कांग्रेस के खिलाफ विज्ञापन पर भाजपा के महासचिव को जारी किया नोटिस◾फागू चौहान और नीतीश ने बसंत पंचमी की दी शुभकामनाएं◾कुछ लोग बिना अनुमति के कर रहे हैं प्रदर्शन : प्रकाश जावड़ेकर◾दिल्ली चुनाव प्रचार से कांग्रेस के बड़े चेहरे गायब, भाजपा और आप ने झोंकी ताकत ◾बीटिंग रिट्रीट: सशस्त्र बलों के बैंडों की 26 प्रस्तुतियों के साथ गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न ◾राजनीतिक धुंधलके में पैदा हुआ 'जिन्न' : प्रशांत किशोर◾दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए साझा रैली करेंगे शाह और नीतीश, 2 फरवरी को बुराड़ी में जनसभा◾केजरीवाल बताएं, झूठ का पर्दाफाश करने पर दिल्ली का अपमान कैसे : शाह◾राहुल गांधी वायनाड में “संविधान बचाओ मार्च’ की करेंगे अगुवाई◾दिल्ली पुलिस ने जारी किए जामिया में हिंसा करने वाले 70 व्यक्तियों के चित्र ◾पृथ्वीराज चव्हाण ने लगाया PM मोदी पर आरोप, बोले- एनसीसी कैडेटों को संबोधित करते हुए किया आचार संहिता का उल्लंघन ◾प्रशांत किशोर के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने को लेकर अटकलें जोरों पर ◾राजद्रोह के आरोप में शरजील इमाम को 5 दिन की पुलिस रिमांड, वकीलों ने देशद्रोही बताते हुए लगाए नारे ◾TOP 20 NEWS 29 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾CAA को लेकर कन्हैया कुमार ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार देश में भड़की आग में घी डालने का काम कर रही◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : EC ने अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा को भाजपा की स्टार प्रचारक की सूची से बाहर किया ◾दिल्ली चुनाव : CM केजरीवाल बोले- भाजपा का मुझे ‘‘आतंकवादी’’ कहना बेहद दुखद◾कांग्रेस नेता चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात◾

मराठा आरक्षण पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, राज्य सरकार को जारी किया नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण पर महाराष्ट्र सरकार को राहत देते हुए रोक लगाने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने मराठा समुदाय को शिक्षा, नौकरी में आरक्षण देने को चुनौती देने वाली याचिका पर राज्य सरकार को नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा, मराठा समुदाय को 2014 से पूर्व प्रभावी तौर पर आरक्षण देने वाले मुंबई हाई कोर्ट के आदेश के पहलू को लागू नहीं किया जाएगा। 

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस की पीठ ने मराठा आरक्षण संबंधी याचिका पर तत्काल सुनवाई की मांग पर संज्ञान लेते हुए फैसला सुनाया। इस मामले में अगली सुनवाई 2 हफ्ते बाद होनी है।याचिका गैर सरकारी संगठन 'यूथ फॉर इक्वालिटी' के प्रतिनिधि संजीत शुक्ला ने याचिका दायर की थी। 

याचिकाकर्ता का दावा है कि एसईबीसी आरक्षण कानून मराठा समुदाय को शिक्षा और सरकारी नौकरियों में क्रमश: 12 से 13 फीसदी आरक्षण प्रदान करता है। यह सुप्रीम कोर्ट के इंदिरा साहनी मामले में दिए फैसले में तय की गई 50 फीसदी आरक्षण सीमा का उल्लंघन है।