BREAKING NEWS

India Corona Update : साढ़े 3 लाख से ज्यादा नए मामले, 703 मरीजों की मौत, 20 लाख के पार पहुंचे एक्टिव केस ◾World Corona update: कोविड संक्रमण के नए मामलों में इजाफा जारी, अब तक 34 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित◾पश्चिम अफ्रीकी देश घाना में भीषण विस्फोट, 500 इमारतें हुई खाक, अब तक 17 लोगों की मौत◾देश के कई हिस्सों में शीतलहर का कहर जारी, दिल्ली सहित इन राज्यों में बारिश का अनुमान◾5 साल तक के बच्चों को मास्क पहनना चाहिए या नहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए नए दिशानिर्देश◾PM मोदी ने जगन्नाथ के साथ भारतीय सहयोग से मॉरीशस में बनी सामाजिक आवास परियोजना का किया उद्घाटन ◾गोवा चुनाव : कांग्रेस के उम्मीदवारों की नयी सूची में भाजपा, आप के पूर्व नेताओं के नाम शामिल ◾PM मोदी के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा’ में भाग लेने की समय सीमा 27 जनवरी तक बढ़ाई गई ◾दिल्ली में घटे कोरोना टेस्ट के दाम, अब 500 की जगह इतने रुपये में करवा सकते हैं RT-PCR TEST ◾ इंडिया गेट पर बने अमर जवान ज्योति की मशाल अब हमेशा के लिए हो जाएगी बंद, जानिए क्या है पूरी खबर ◾IAS (कैडर) नियामवली में संशोधन पर केंद्र आगे नहीं बढ़े: ममता ने फिर प्रधानमंत्री से की अपील◾कल के मुकाबले कोरोना मामलों में आई कमी, 12306 केस के साथ 43 मौतों ने बढ़ाई चिंता◾बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾

सुप्रीम कोर्ट अर्नब गोस्वामी की जमानत याचिका पर आज करेगा सुनवाई

उच्चतम न्यायालय आत्महत्या के लिये उकसाने के आरोप में गिरफ्तार एक निजी चैनल के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत के लिये दायर अपील पर बुधवार को सुनवाई करेगा। न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति इन्दिरा बनर्जी की पीठ अर्नब गोस्वामी की अपील पर सुनवाई करेगी। प्रधान संपादक को अंतरिम जमानत देने से इंकार करने के बंबई उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अर्नब की अपील दायर होने के कुछ घंटों के भीतर ही शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री ने इसे 11 नवंबर को सुनवाई के लिये सूचीबद्ध कर दिया। अधिवक्ता निर्निमेष दुबे के माध्यम से दायर इस अपील पर न्यायालय सुबह साढ़े दस बजे सुनवाई करेगा। 

बंबई उच्च न्यायालय ने नौ नवंबर को अर्नब गोस्वामी और दो अन्य को अंतरिम जमानत देने से इंकार करते हुये कहा था कि उन्हें राहत के लिये निचली अदालत जाना चाहिए। उच्च न्यायालय ने यह भी कहा था कि अगर आरोपी अपनी ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’ को चुनौती देते हैं और जमानत की अर्जी दायर करते हैं तो संबंधित निचली अदालत चार दिन के भीतर उस पर निर्णय करेगी। अर्णब ने शीर्ष अदालत में दायर अपील में महाराष्ट्र सरकार के साथ ही अलीबाग थाने के प्रभारी, मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह को भी पक्षकार बनाया है। इस बीच, महाराष्ट्र सरकार ने भी अपने अधिवक्ता सचिन पाटिल के माध्यम से न्यायालय में कैविएट दाखिल की है ताकि उनका पक्ष सुने बगैर गोस्वामी की याचिका पर कोई आदेश नहीं दिया जाये। 

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग थाने की पुलिस ने चार नवंबर को, इंटीरियर डिजायनर की कंपनी की बकाया राशि का कथित रूप से भुगतान नहीं करने के कारण अन्वय नाइक और उनकी मां को कथित रूप से आत्महत्या के लिये बाध्य करने के मामले में, अर्नब को गिरफ्तार किया था। उच्च न्यायालय का अंतरिम राहत के मामले में फैसला आने से पहले ही अर्नब ने अपनी नियमित जमानत के लिये अलीबाग की सत्र अदालत में आवेदन दायर कर दिया था। 

उच्च न्यायालय ने गोस्वामी और दो अन्य आरोपियों फिरोज शेख और नितीश सारदा की अंतरिम जमानत के आवेदन अस्वीकार करते हुये कहा था कि यह असाधारण अधिकार क्षेत्र के इस्तेमाल का कोई मामला नहीं बनता है। यह प्राथमिकी निरस्त करने के लिये दायर याचिका पर उच्च न्यायालय 10 दिसंबर को सुनवाई करेगा। 

गोस्वामी सहित तीनों आरोपियों को चार नवंबर को देर रात एक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया था जिन्होंने उन्हें पुलिस हिरासत में देने से इंकार करते हुये 18 नवंबर तक के लिये न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। गोस्वामी को शुरू में अलीबाग जेल के लिये बनाये गये कोविड-19 पृथकवास में रखा गया था लेकिन कथित रूप से मोबाइल इस्तेमाल करते पाये जाने के कारण उन्हें रायगढ़ की तलोजा जेल शिफ्ट कर दिया गया। 

इस बीच, निजी चैनल के कंसल्टिंग संपादक प्रदीप भंडारी ने रविवार को प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे को एक पत्र लिखकर गोस्वामी को तलोजा जेल स्थानांतरित किये जाने और खतरनाक अपराधियों के बीच रखे जाने का संज्ञान लेने और उन्हें सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया था। उनका कहना था कि गोस्वामी की जान को खतरा है और उन्हें रविवार की सुबह पीटा गया है। 

125 सीटों के साथ बिहार में फिर NDA सरकार, विपक्षी महागठबंधन के खाते में 110 सीटें