BREAKING NEWS

यूपी चुनाव : BSP प्रमुख फरवरी से करेंगी चुनाव प्रचार का आगाज, इस जिले में होगी पहली जनसभा ◾कर्नाटक: मंत्रिमंडल विस्तार पर मचा बवाल, BJP नेता अपना रहे बागी रुख, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल ◾यूपी: CM योगी ने अखिलेश पर किया जुबानी हमला, कहा- सपा के नेता समाजवादी नहीं बल्कि तमंचावादी हैं ◾दिल्ली: कोरोना के दैनिक मामलों में दर्ज हुई गिरावट, CM केजरीवाल बोले- जल्द मिलेगी प्रतिबंधों से राहत ◾दिल्ली में शराब प्रेमियों के लिए अच्छी खबर, सालभर में 21 की जगह अब सिर्फ 3 Dry Day◾यूपी: AIMIM ने उमैर मदनी को मैदान में उतारा, चुनावी घमासान में तेज हुई मुस्लिम वोटों के लिए खींचतान◾फिर आमने-सामने शिवसेना और BJP, राउत बोले-हिंदुत्व के मुद्दे पर सबसे पहले हमने लड़ा था चुनाव◾कांग्रेस को लगेगा बहुत बड़ा झटका! स्टार प्रचारक RPN हो सकते हैं BJP में शामिल, स्वामी मौर्य की बढ़ेंगी मुश्किलें ◾राष्ट्रपति और PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी हिमाचल के स्थापना दिवस पर राज्यवासियों को बधाई◾BJP सांसद गौतम गंभीर हुए कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए लोगों से की टेस्ट कराने की अपील ◾मायावती का विरोधियों पर निशाना, कहा- बसपा को छोड़ बाकी सभी सरकारों ने किया राजनीति का अपराधीकरण ◾महाराष्ट्र : पुल से गिरी कार, भीषण सड़क हादसे में BJP विधायक के बेटे समेत 7 छात्रों की मौत◾Corona Update : कोरोना केस में गिरावट, 2 लाख 55 हज़ार नए मामले, एक्टिव केस 22 लाख से ज्यादा◾यूक्रेन को लेकर अमेरिका और रूस में तनाव की स्थिति, राष्ट्रपति बाइडन ने 8,500 सैनिकों को अलर्ट पर रखा◾UP: केशव प्रसाद मौर्य का सपा पर तीखा कटाक्ष, बोले- लिस्ट नई है, अपराधी वही हैं◾दुनियाभर में कहर बरपा रहा है कोरोना, वैश्विक स्तर पर 35.43 करोड़ पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा◾अभी जारी रहेगी ठिठुरन भरी ठंड, आने वाले दिनों में बर्फीली हवाएं और बढ़ाएंगी सर्दी, जानें पूरे उत्तर भारत का हाल◾पंजाब : नवजोत सिंह सिद्धू ने अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए उन्हें बताया फुंका कारतूस◾कांग्रेस पटोले को निगरानी में रखे और PM के खिलाफ टिप्पणी के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की जांच कराएं : भाजपा ◾दिल्ली कोर्ट ने शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का आरोप तय करने का दिया आदेश ◾

तमिलनाडु: कोविड के बढ़ते कहर के बीच सरकार ने जल्लीकट्टू को आयोजित करने की अनुमति दी

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच तमिलनाडु सरकार ने राज्य में लोकप्रिय पारंपरिक बैलों को काबू में करने के खेल ‘जल्लीकट्टू’ को पोंगल उत्सव के दौरान कोविड-19 के सख्त नियमों के अनुपालन के साथ आयोजित करने की अनुमति सोमवार को दे दी। 

आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिर्पोट दिखानी होगी 

सरकार द्वारा सोमवार को पारित आदेश के मुताबिक बैलों के मालिक और उनके सहायक जो अपने मवेशियों को खेल के लिए पंजीकृत कराएंगे और प्रशिक्षकों को पूर्ण टीकाकरण प्रमाण पत्र के साथ-साथ कार्यक्रम से अधिकतम 48 घंटे पहले कराई गई आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिर्पोट दिखानी होगी। इसके साथ ही उन्हें कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पहचान पत्र जारी किए जाएंगे। 

प्रशिक्षकों को ही पंजीकरण की अनुमति दी जाएगी 

सरकारी आदेश के मुताबिक, ‘‘केवल बैलों के मालिक और उनके प्रशिक्षकों को ही पंजीकरण की अनुमति दी जाएगी। जिनके पास जिला प्रशासन द्वारा जारी वैध पहचान पत्र होगा उन्हें ही मैदान में जाने दिया जाएगा।’’ पिछले साल की तरह इस साल भी सरकार ने जल्लीकट्टू को देखने के लिए दर्शकों की संख्या खुले स्थान पर 150 या बैठने की क्षमता का 50 प्रतिशत (जो भी कम हो) तक सीमित की है। 

दर्शकों के लिए होगी यह शर्त 

आदेश में कहा गया, ‘‘ दर्शकों को भी पूर्ण टीकाकरण और कार्यक्रम से अधिकतम दो दिन पहले कराई गई आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। पूरे आयोजन के दौरान सामाजिक दूरी के नियम का अनुपालन करना होगा।’’ सरकारी आदेश में निर्देश दिया गया है कि आयोजक और प्रतिभागी जल्लीकट्टू में शामिल होने वाले बैलों को नुकसान पहुंचाने से बचें। आदेश में कहा गया, ‘‘कोविड-19 को देखते हुए केवल 300 पशु प्रशिक्षकों को ही जल्लीकट्टू, मंजुविराट्टू और वडामांडू में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।’’